1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. jamui
  5. amazon has given a package of 1 crore 8 lakhs to jhajhas abhishek asj

झाझा के अभिषेक को अमेजन ने दिया 1 करोड़ 8 लाख का पैकेज, एनआईटी पटना में कंप्यूटर साइंस की कर रहा पढ़ाई

इतनी बड़ी पैकेज मिलने से जहां अभिषेक के परिवार एवं समाज के लोग खुश हैं ,वही झाझा समेत पूरे जिलेवासियों में खुशी है. अभिषेक कुमार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के बावजूद उसने इसकी परछाई अपने पढ़नी पर कभी पड़ने नहीं दिया.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
परिजनों के साथ अभिषेक
परिजनों के साथ अभिषेक
प्रभात खबर

झाझा. प्रखंड क्षेत्र के जामुखेरेया पंचायत अंतर्गत जामुखेरेया निवासी इंद्रदेव यादव व मंजू देवी का द्वितीय पुत्र अभिषेक कुमार को अमेजन कंपनी ने 1करोड़8लाख का पैकेज दिया है . इतनी बड़ी पैकेज मिलने से जहां अभिषेक के परिवार एवं समाज के लोग खुश हैं ,वही झाझा समेत पूरे जिलेवासियों में खुशी है. अभिषेक कुमार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के बावजूद उसने इसकी परछाई अपने पढ़नी पर कभी पड़ने नहीं दिया.

होनहार विद्यार्थी रहा है अभिषेक

इसे लेकर उनके अधिवक्ता पिता इंद्रदेव यादव ने बताया कि शुरू से यह होनहार विद्यार्थी था. बचपन से ही इसे बेहतर करने की इच्छा थी. उन्होंने बताया कि स्टैंडर्ड वन से लेकर पांचवी तक की पढ़ाई झाझा के सीबीएसई विद्यालय सराडोनिक्स से हुई है. स्टैंडर्ड छठी से दसवीं तक की पढ़ाई इन्होंने झाझा स्थित संतजोसेफ विद्यालय से किया है. दसवीं की परीक्षा 2015 में 91.8 से पास करने के बाद अभिषेक पटना के कृष्णा पब्लिक स्कूल में दाखिला लिया और 2017 में 78. 4 से पास किया.

कोटा में रहकर कड़ी मेहनत की

इंजनईरिंग की तैयारी के लिए 1 साल तक यह कोटा में रहकर कड़ी मेहनत की और 2018 में एनआईटी पटना में कंप्यूटर ब्रांच में इसका दाखिला हो गया. इंजीनियरिंग की पढ़ाई के शुरुआत से ही इसे कोडिंग का बहुत ज्यादा शौक था और इसने कोडिंग की पढ़ाई पूरे मनोयोग से किया. 4 साल के सफल पढ़ाई के बाद इसे जर्मनी की कंपनी अमेजन ने इस रकम का पैकेज दिया है. पिता ने बताया कि हमलोगों के लिए बहुत ही खुशी का माहौल है. हमलोग सपने में भी नहीं सोचे थे कि हमारे जैसे आर्थिक रूप से कमजोर लोगों का बच्चा ईतना आगे जाएगा.

ऑनलाइन इंटरव्यू में पाया ऑफर

सॉफ्टवेयर इंजीनियर अभिषेक कुमार ने बताया कि 13 अप्रैल को जर्मन के दो विशेषज्ञ एवं आयरलैंड के एक विशेष के साथ इंडिया के एक अन्य लोगों ने लगभग 15 से 20 मिनट तक हमारा इंटरव्यू लिए हैं. ऑनलाइन इंटरव्यू हुआ. इंटरव्यू होने के बाद हमारा प्लेसमेन्ट अमेजन में सॉफ्टवेयर डेवलपर इंजीनियर के रूप में हुई है .पिता इंद्रदेव यादव ने बताया कि इनकी पढ़ाई से लेकर हौसला अफजाई में मेरे बड़े भाई सौदागर यादव, संबंधी संजीव कुमार यादव के अलावा अन्य लोगों का अहम योगदान रहा है, जिन्होंने समय- समय पर अभिषेक को आर्थिक मदद भी करता रहा है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें