1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. gopalgunj
  5. gopalganj teacher murder news bihar police found death by ak 47 weapon reason of death caused as extortion news skt

रंगदारी की पूरी रकम नहीं मिलने पर AK-47 से की गयी थी शिक्षक की हत्या, CCTV फुटेज में दिखा अत्याधुनिक हथियार

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
जांच में जुटी पुलिस
जांच में जुटी पुलिस
प्रभात खबर

कटेया थाने के जमुनहा बाजार में शिक्षक दिलीप सिंह की हत्या उनके बड़े भाई बिल्डिंग मेटेरियल के व्यवसायी राजेंद्र सिंह से 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगने के मामले में की गयी है. इलाके के कुख्यात अपराधी मुन्ना मिश्रा और उसके गैंग के सदस्यों ने सोमवार की सुबह दुकान में घुसकर सरेआम एके-47 से भूनकर हत्या की थी. हत्या के इस मामले में मृतक के भाई राजेंद्र सिंह ने कटेया थाने में पानन निवासी मुन्ना मिश्रा, जमुनहां के मुन्ना जायसवाल, बभनी के धनंजय पांडेय, सिधरिया के इसराफिल देवान, भठवां निवासी हरिकेश मिश्रा तथा पानन खास के अलकेश्वर मिश्रा के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी है.

पीड़ित व्यवसायी ने आरोप लगाया है कि पिछले साल सितंबर में 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गयी थी. इस मामले में कटेया थाने में 291/20 कांड संख्या दर्ज करायी थी. इसमें मुन्ना मिश्रा के सहयोगी अलकेश्वर मिश्रा द्वारा फोन करके 50 लाख रुपये रंगदारी मांगी गयी थी. धमकी मिलने के बाद मुन्ना मिश्रा के लिए ढाई लाख रुपये अलकेश्वर मिश्रा को दे दिये गये गये. इसके बाद भी अलकेश्वर मिश्रा पूरे रुपये देने का दबाव बनाता रहा. फोन पर काॅन्फ्रेंस के सहारे मुन्ना मिश्रा से धमकी दिलवाता रहा. रंगदारी की पूरी रकम नहीं मिलने पर 24 मई की सुबह के आठ बजे मुन्ना मिश्रा और उसके सहयोगियों ने गोलियों से भूनकर व्यवसायी के छोटे भाई दिलीप सिंह की हत्या कर दी.

पुलिस ने इस मामले में प्राथमिकी दर्ज करने के बाद गिरफ्तारी के लिए यूपी-बिहार में अपराधियों के ठिकाने पर छापेमारी तेज कर दी है. एसपी आनंद कुमार की ओर से जांच के बाद एसआइटी गठित की गयी है. पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही है. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अपराधियों की तलाश की जा रही है.

सीसीटीवी फुटेज में अत्याधुनिक हथियार दिख भी रहे हैं. इस आधार पर पुलिस ने भी आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है.एसआइटी ने कटेया, विजयीपुर, भोरे समेत अन्य इलाकों में छापेमारी की गयी. पुलिस की छापेमारी में विशेष सफलता नहीं मिली. वहीं हत्या के बाद से पीड़ित परिजन दहशत में हैं. हालांकि एसपी की ओर से पीड़ित परिवार की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. व्यवसायी के घर के पास सैप जवानों की तैनाती की गयी है.

मृत शिक्षक दिलीप सिंह के पूर्वज मूल रूप से पंजाब के रहने वाले थे. उनकी मौत की सूचना जैसे ही पैतृक गांव पहुंची, वहां परिजनों में कोहराम मच गया. परिजन तुरंत जमुनहा के लिए रवाना हो गये. मंगलवार को उनलोगों के पहुंचे के बाद शिक्षक का अंतिम संस्कार किया गया. पंजाब से आये लोग इस घटना को लेकर काफी मर्माहत थे. रंगदारी की पूरी रकम नहीं मिलने पर AK-47 से की गयी थी शिक्षक की हत्या तथा Breaking News in Hindi से अपडेट के लिए बने रहें।

POSTED BY: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें