छह घर नदी में समाये

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

आफत. वाल्मीकिनगर बराज से 96 हजार क्यूसेक जल डिस्चार्ज

नदी का रुख देख घर खाली कर रहे ग्रामीण
जल स्तर में वृद्धि होने से हो रहा कटाव
गोपालगंज : नेपाल में रुक-रुक कर हो रही बारिश के कारण गंडक नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है. बढ़ते जल स्तर के बीच सदर प्रखंड के मेहदिया में नदी का कटाव शुरू हो गया है. नतीजा है कि छह घर नदी में समा गये हैं. गांव के लोग अपने सामान को समेट कर सुरक्षित स्थल की तलाश में जुटे हैं. उधर, कुचायकोट प्रखंड के कालामटिहनिया के समीप भसही में नदी का दबाव बना हुआ है. वाल्मीकिनगर बराज से मंगलवार की शाम छह बजे 96 हजार क्यूसेक जल डिस्चार्ज की सूचना है.
ग्रामीणों ने बताया कि मेहदिया में पारस यादव, योगेंद्र यादव, शिव यादव, मु पियरिया, जनक राम समेत आधा दर्जन लोगों के घर कट चुके हैं. लोग अपने-अपने सामान को लेकर ऊंचे स्थल पर शरण लिये हुए हैं. मेहदिया गांव तक जाने के रास्ते में आकाली नहर में पानी भरने के कारण स्थिति अब बिगड़ने लगी है. सामाजिक कार्यकर्ता संजय चौबे ने बाढ़ नियंत्रण विभाग के कार्यपालक अभियंता को स्थिति से अवगत कराते हुए तत्काल बचाव कार्य कराने की मांग की है. उधर, कालामटिहनिया में भी लोगों की चिंता बढ़ती जा रही है. भसही में हो रहे कटाव को लेकर ग्रामीण चिंतित हैं. ग्रामीणों की मानें, तो नदी में डिस्चार्ज एक लाख से कम है और फिर भी कटाव का होना भयावह स्थिति होने का संकेत दे रहा. बाढ़ नियंत्रण विभाग के मुख्य अभियंता कुमार जयंत का कहना है कि मेहदिया में कटाव की जानकारी विभाग को नहीं थी. बाजाप्ता पतहरा और कालामटिहनिया में अभियंताओं की पूरी टीम तैनात की गयी है. पल-पल की स्थिति पर नजर रखी जा रही है. जहां भी जरूरत होगी तत्काल बचाव कार्य शुरू किया जायेगा. विभाग की प्राथमिकता लोगों की जान-माल की रक्षा करनी है.
गंडक नदी के जल स्तर में वृद्धि से लोग परेशान
बैकुंठपुर प्रखंड में रुक-रुक कर हो रही बारिश के कारण गंडक नदी के जल स्तर में वृद्धि शुरू हो गयी है. नदी के जल स्तर में वृद्धि से निचले हिस्से में बसी हजारों की आबादी बाढ़ की आशंका से भयभीत नजर आ रही है. बाढ़ नियंत्रण विभाग के अनुसार सारण मुख्य तटबंध तथा सभी राजस्व छरकियां पूरी तरह सुरक्षित है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें