1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. gaya
  5. court will run through both actual and virtual too advocates relief in gaya bihar asj

दो से एक्चुअल और वर्चुअल दोनों माध्यम से चलेंगे कोर्ट, अधिवक्ताओं को राहत

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो

गया : दो सितंबर से गया व्यवहार न्यायालय में नियमित रूप से सभी मामलों की सुनवाई की प्रक्रिया शुरू की जायेगी. एक्चुअल व वर्चुअल दोनों माध्यमों से मामले की सुनवाई होगी. जिला व सत्र न्यायाधीश चंद्रशेखर झा ने इस आशय का पत्र निर्गत किया है. जिला व सत्र न्यायाधीश ने न्यायालय का समय सुबह 10:30 बजे से शाम 4:30 बजे तक निर्धारित किया है.

10:30 बजे से दाेपहर बाद एक बजे तक जिला एवं सत्र न्यायाधीश, एडीजे वन ,एडीजे फोर, एडीजे-फाइव, एडीजे-नाइन, एडीजे-10 ,एडीजे-11 व एडीजे-12, मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ,एसीजेएम द्वितीय, एसीजेएम-फाेर ,एसीजेएम-13, एसीजेएम-10, मुंसिफ दो, न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी स्वाति सिंह, कुमार प्रभाकर, विजयंत सिंह, शैला शुक्ला, जय प्रकाश वर्मा की अदालतें चलेंगी व मामले की सुनवाई की जायेगी.

दोपहर भोजन अवकाश के समय एक बजे से दाे बजे तक अदालतों का सैनिटाइजेशन का काम किया जायेगा. विशेष अदालतों में सुनवाई का समय दोपहर दाे बजे से शाम 4:30 बजे तक निर्धारित किया गया है.

इसमें परिवार न्यायालय ,अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वितीय, सह उत्पाद न्यायालय, अनुसूचित जाति व जनजाति न्यायालय, अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश तृतीय, एडीजे छह,व सात पॉक्सो कोर्ट, एसीजेएम-11, एसीजेएम-फाेर, एसीजेएम-आठ ,जूवेनाइल कोर्ट, मुंसिफ प्रथम, न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी सुमित कुमार सिंह ,अमन पपनई ,नेहा त्रिपाठी ,शिल्पा प्रशांत मिश्रा, योगेंद्र कुमार शुक्ला इन सभी न्यायालयों में भोजन अवकाश के बाद मामलों की सुनवाई की जायेगी.

जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने यह भी कहा है कि अति आवश्यक मामले की सुनवाई विशेष न्यायालयों में वर्चुअल माध्यम से प्रथम पाली में भी सुनी जायेगी. कोर्ट के नाजिर को यह निर्देश दिया गया है की बाहरी व्यक्ति को न्यायिक कार्य करने के अलावा कोर्ट परिसर में प्रवेश न करने दिया जाये. याचिकाओं के फाइल करने का समय 10:30 से एक बजे तक ही होगा.

अधिवक्ताओं के अपने मामले की सुनवाई हो जाने व न्यायिक कार्य कर लेने के बाद यथाशीघ्र कोर्ट परिसर को खाली कर दिया जाये. गौरतलब है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण गया व्यवहार न्यायालय में मार्च महीने से न्यायिक कार्य ठप रहने के कारण नियमित अदालत नहीं चल रही थी. वर्चुअल माध्यम से ही कुछ मामलों की सुनवाई की जा रही थी.

posted by ashish jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें