1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bihar diwas cm nitish kumar calls for achieving the glorious history of bihar on the occasion of bihar foundation day read nitish kumar speech highlights upl

Bihar Diwas: बिहार के गौरवशाली इतिहास को हासिल करने का CM नीतीश ने किया आह्वान, पढ़ें- बिहार दिवस पर संबोधन की मुख्य बातें

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार
Prabhat Khabar

Bihar Diwas: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने सोमवार को बिहार दिवस के मौके पर बिहारवासियों को बिहार के गौरवशाली इतिहास को हासिल करने के लिए मिल जुल कर काम करने का आह्वान किया. ज्ञान भवन में शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित समारोह को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संबोधित करते हुए कहा कि हम सब मिल कर प्रयास करेंगे तो बिहार के गौरवशाली इतिहास को पुन: हासिल कर लेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी सरकारी कार्यक्रमों में राज्यगीत जरुर गाये जायें, ताकि सभी के मन में बिहार के प्रति सम्मान का भाव पैदा हो. मुख्यमंत्री ने कहा कि कई देशों में तथा देश के कुछ राज्यों में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है. अपने यहां भी कोरोना के मामले कुछ बढ़े हैं. होली को देखते हुए हम सभी लोगों को और सतर्क रहने की जरुरत है. कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने मुख्यमंत्री को प्रतीक चिन्ह भेंटकर उनका स्वागत किया. कार्यक्रम को उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, उपमुख्यमंत्री रेणु देवी, शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी, शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने भी संबोधित किया.

Bihar Diwas: बिहार दिवस मनाने का मकसद क्या है ?

सीएम ने अपने संबोधन में कहा कि जब से बिहार में हमलोगों को काम करने का मौका मिला हमलोगों ने बिहार दिवस मनाने के लिए विस्तृत चर्चा शुरू की. उन्होंने कहा कि बिहार दिवस के आयोजन की जिम्मेवारी शिक्षा विभाग को दी गयी है. बिहार दिवस मनाने का मकसद है कि बिहार को हम सब मिलकर आगे बढ़ायें एवं बिहार को विकसित करें. सबलोगों के मन में आत्मविश्वास बढ़े , सभी लोग प्रेम और आपसी भाईचारे के साथ मिलकर बिहार को आगे बढ़ायें. मुख्य आयोजन शिक्षा विभाग की ओर से ज्ञान भवन में आयोजित किया गया था.

जल संरक्षण और हरियाली बढ़ाने की दिशा में कर रहे काम

सीएम ने कहा महिलाओं की मांग पर ही हमने बिहार में शराबबंदी लागू की. शराबबंदी को लेकर सभी को सचेत रहना है , क्योंकि कुछ गड़बड़ करने वाले लोग लगे रहते है. आज के दिन को अंतर्राष्ट्रीय जल संरक्षण दिवस के रुप में मनाया जा रहा है और हमलोग बिहार दिवस मना रहे हैं. हमलोग जल के संरक्षण एवं हरियाली बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं .

Bihar Day: राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी है बधाई

सीएम ने कहा कि देश और देश के बाहर भी बिहार दिवस मनाया जाने लगा है. राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री ने बिहारवासियों को बिहार दिवस के अवसर पर बधाई दी है.उन्होंने कहा कि हमलोगों ने लड़कियों के पढ़ने के लिए पोशाक एवं साईकिल योजना शुरु की. राज्य की आबादी बढ़ रही है, क्षेत्रफल सीमित है. राज्य में प्रजनन दर को घटाने के लिए लड़कियों को शिक्षित करना जरुरी है. मुख्यमंत्री ने कहा कि हर ग्राम पंचायत में प्लस -2 की पढ़ाई के लिए उच्च माध्यमिक विद्यालय की स्थापना की जा रही है. मैट्रिक की परीक्षा में लड़के - लड़कियों की भागीदारी अब बराबर है. उन्होंने स्वास्थ्य, सड़क के बारे में किये जा रहे कार्यों की चर्चा की.

इस बार का थीम जल जीवन हरियाली

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा विभाग को इस बात के लिए बधाई देते हैं कि बिहार दिवस के अवसर पर इस बार का थीम जल जीवन हरियाली को रखा गया. इसके तहत 16,229 जल स्त्रोतों, तालाब, आहर, पइनों को अतिक्रमण मुक्त कराया गया है. छह एकड़ तक 8,426 तालाब , पांच एकड़ से बड़े 696 तालाब , 17,917 आहर , पइन का जीर्णोद्धार तथा 10,169 सार्वजनिक कुओं का जीर्णोद्धार किया गया है. कुओं के पास 13,802 तथा चापाकल के पास एक लाख सात हजार 500 सोखता का निर्माण कराया गया है.

छोटी नदियों एवं पहाड़ी क्षेत्रों में 8,588 चेक डैम संरचनाओं का निर्माण कराया गया है. पांच जून, 2020 से नौ अगस्त तक दो करोड़ एक लाख वृक्षारोपण के लक्ष्य के विरुद्ध तीन करोड़ 90 लाख से ज्यादा वृक्षारोपण किया गया. हर माह के पहले मंगलवार को जल - जीवन - हरियाली को लेकर अद्यतन स्थिति पर चर्चा की जाती है. जीविका समूहों को पोखर एवं तालाबों को देखने की भी जिम्मेदारी दी जा रही है.

बिहार दिवस पर बापू की चर्चा जरूरी

सीएम ने कहा कि बिहार दिवस पर बापू की चर्चा जरुरी है.अगर बापू के विचारों को 10 से 15 प्रतिशत लोग अपना लें तो बिहार भी आगे बढ़ेगा और देश भी आगे बढ़ेगा. 1917 में बापू बिहार आए थे और 30 सालों के बाद ही देश आजाद हो गया. बापू की इच्छा थी कि शराबबंदी हो, नशाबंदी हो.

Posted By: utpal Kant

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें