1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. bhagalpur
  5. health hazards by eating fake ripe mangoes know how to identify naturally ripe mangoes in bihar news skt

नकली तरीके से पकाये आम को खाने से सेहत को खतरा, जानिये कैसे करें प्राकृतिक रूप से पके आम की पहचान

बिहार के बाजारों में फलों के राजा आम ने दस्तक दे दी है. लोग बाजार में आम की खरीदारी करने लगे हैं लेकिन कई जगह वो केमिकल से पकाये आम की खरीदारी ये समझकर कर लेते हैं कि वो प्राकृतिक रूप से पका हुआ है. जानिये पहचानने की विधि...

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बिहार के बाजारों में फलों का राजा आम
बिहार के बाजारों में फलों का राजा आम
प्रभात खबर

फलों के राजा आम ने बाजार में दस्तक दे दी है. बिहार में आम की धूम अब फिर से देखी जा रही है. बाजार में कई किस्म के आम उतर गये हैं. हालांकि अभी इनके भाव भी कुछ ऐसे हैं कि बेहद खास लोग ही इसका स्वाद ले रहे हैं. इस बीच लोगों में ये संशय हमेशा रहता है कि बाजार में मिल रहे आम में कौन सा प्राकृतिक रूप से पका हुआ है और कौन सा आम केमिकल की मदद से पकाया गया है. सेहत को लेकर ये जानना आपके लिए भी बेहद जरुरी है.

स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है आम

आम में फाइबर, विटामिन सी, विटामिन ए, एंटीऑक्सीडेंट और कई तरह के मिनरल्स होते हैं, जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है. लेकिन कई बार आमों को नकली तरीके से पकाया जाता है. ये दिखने में आपको नेचुरल और ताजा नजर आयेंगे, लेकिन इन्हें खाना हानिकारक होता है.

न खाएं घातक रसायनों से पकाये आम

भागलपुर के जनरल फिजिशियन डॉ विनय कुमार झा कहते हैं कि कई बार आम को पकाने के लिए केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है, जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है. कैल्शियम कार्बाइड का उपयोग एफएसएसएआइ द्वारा प्रतिबंधित है. फिर भी लोग इसका इस्तेमाल करते हैं. इससे बचना चाहिए. इसकी वजह से चक्कर आना, नींद न आना, पेट दर्द, दस्त जैसे लक्षण दिखाई देने लगते हैं. कैल्शियम कार्बाइड तंत्रिका तंत्र को भी प्रभावित करता है.

प्राकृतिक रूप से पके आम को पहचानें

पके हुए आम की पहचान करना बड़ा ही आसान है. सभी आमों को एक बाल्टी पानी में डाल दें. अगर आम डूब जाते हैं, तो वे स्वाभाविक रूप से पके हुए होते हैं. अगर वे तैरते हैं, तो उन्हें केमिकल से पकाया गया है.

ऐसे दिखते हैं प्राकृतिक रूप से पके आम

प्राकृतिक रूप से पके आम पूरे पीले नहीं होते. इनका रंग थोड़ा हरा, थोड़ा पीला और थोड़ा सुनहरा होता है. वहीं, कार्बाइड से पके हुए आम एकदम पीले होते हैं. ऐसे आम खरीदने से बचें.

कार्बाइड से पके आम की पहचान

कार्बाइड से पके आम जल्दी काले पड़ने लगते हैं. यह ज्यादा दिनों तक स्टोर नहीं किए जा सकते. वहीं, प्राकृतिक रूप से पके आम जल्दी काले नहीं पड़ते और इन आमों को कुछ दिनों तक ताजा रखा जा सकता है.

स्वाद में भिन्नता

कार्बाइड से पकाए गये आम का स्वाद सामान्य रूप से पके आमों से अलग होता है. सामान्य रूप से पके आम से मीठी-मीठी खुशबू आती है, रसायन से पकाए गये आम किनारे से कच्चा और बीच में मीठा होता है.

POSTED BY: Thakur Shaktilochan

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें