1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. banka
  5. putul spoke on the discussion of going to rjd not yet such a thing where did such news come from do not know asj

राजद में जाने की चर्चा पर बोलीं पुतुल, अभी ऐसी बात नहीं, ऐसी खबरें कहां से आयी, नहीं पता

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
पुतुल सिंह
पुतुल सिंह

बांका : पूर्व सांसद सह स्व दिग्विजय सिंह की पत्नी पुतुल कुमारी के राजद में जाने की चर्चा जोरों पर है. सोशल मीडिया पर यह खबर तेजी से फैल रही है. हालांकि पुतुल कुमारी ने ऐसी किसी बात से इंकार किया है. उन्होंने कहा कि ऐसी बातें कहां से आ रही हैं, उन्हें नहीं पता. सच क्या है पूछने पर कहा कि राजनीति में सबको आगे बढ़ने की इच्छा होती है, पर ऐसा कोई भी निर्णय नहीं लिया गया. एक या दो सितंबर को कार्यकर्ताओं संग बैठक होगी, फिर आगे की रणनीति तय होगी.

बता दें कि शनिवार दाेपहर के बाद सोशल मीडिया पर अचानक पुतुल कुमारी के राजद में जाने का मैसेज वायरल होने लगा. लोग एक-दूसरे से जानकारी लेते रहे. पूर्व सांसद के नजदीकी सूत्रों का दावा था कि राजद से बातचीत चल रही है. बांका, जमुई व भागलपुर में पांच से छह विधानसभा सीट को लेकर बातचीत हो रही है. माना जा रहा है कि मामला सुलझने के बाद अगले एक से दो दिनों में सदस्यता ग्रहण की औपचारिकता पूरी कर ली जायेगी. समर्थकों की मानें तो पुतुल कुमारी द्वारा जिन पांच सीटों की मांग की गयी है, उनमें बांका, जमुई, भागलपुर व मुंगेर जिला की विधानसभा सीटें शामिल हैं.

चर्चा यह भी है कि बांका व अमरपुर विधानसभा सीट प्राथमिकता में है. यदि बात बनती है तो बांका या अमरपुर सीट से पुतुल कुमारी की पुत्री व अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज श्रेयसी सिंह भी किसी एक सीट से चुनाव लड़ सकती हैं. ज्ञात हो कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री दिग्विजय सिंह के निधन के बाद उनकी पत्नी पुतुल कुमारी 2010 में सांसद बनी थीं. उसके बाद वह 2014 में भाजपा की ओर से प्रत्याशी थीं और चुनाव हार गयी.

बाद में वे भाजपा की उपाध्यक्ष बनीं, परंतु 2019 में भाजपा से टिकट नहीं मिलने के बाद निर्दलीय चुनाव लड़ीं और हार गयीं. हालांकि जानकारों का कहना है कि यदि पुतुल कुमारी राजद में आती हैं तो निश्चित रूप से आसपास के जिलों में नये राजनीतिक समीकरण बनेंगे. पुतुल ने कहा कि हमें भी जानकारी मिली है कि ऐसी खबरें चल रही हैं. लेकिन ऐसी खबरें कहां से आयीं, हमें नहीं पता है.

राजनीति में सबको आगे बढ़ने की ललक होती है. दो या तीन सितंबर को रचना वाहिनी के कार्यकर्ताओं की बैठक होगी. बैठक में ही यह तय किया जायेगा कि आगे की रणनीति क्या होगी. राजद से पांच सीट मांगे जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं है. अगर कुछ होगा तो वह निश्चित रूप से बतायेंगी.

posted by ashish jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें