Advertisement

saraikela kharsawan

  • Jun 24 2019 10:36PM
Advertisement

सरायकेला : धातकीडीह मॉब लिंचिंग घटना की जांच शुरू, 11 लोग गिरफ्तार, गांव में पसरा सन्‍नाटा

सरायकेला : धातकीडीह मॉब लिंचिंग घटना की जांच शुरू, 11 लोग गिरफ्तार, गांव में पसरा सन्‍नाटा

- मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित, जल्द रिपोर्ट सौंपने का निर्देश 

- गांव के पुरुष सदस्य भागे, पसरा सन्नाटा, गांव में है सिर्फ महिलाएं

- डरी सहमी हैं महिलाएं, धातकीडीह गांव में सुरक्षा बल तैनात

- सीनी ओपी के विपिन बिहारी व खरसावां थाना के चंद्रमणि उरांव निलंबित

।। प्रताप मिश्र ।।

सरायकेला : सरायकेला थाना के धातकीडीह गांव में घटित मॉब लिचिंग घटना की पुलिस ने जांच शुरू कर दिया है. घटना में शामिल 11 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वहीं, मामले की जांच के लिए एसआईटी का भी गठन कर दिया गया है. इस संबंध में जानकारी देते हुए एसपी एस कार्तिक ने बताया कि मॉब लिचिंग घटना को लेकर पुलिस द्वारा जांच शुरू कर दिया गया है. जांच में जो भी दोषी पाये जायेंगे उन पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी.

 

एसपी ने कहा कि कानून को हाथ में लेने वालों पर कार्रवाई की जायेगी. चाहे कोई भी हो कानून को अपने हाथ में लेने का किसी को अधिकार नहीं है. जो भी कानून का उल्लंघन करेगा, उसपर कार्रवाई होगी. एसपी ने कहा कि मामले में पप्पु मंडल उर्फ प्रकाश मंडल सहित 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. जबकि, पुलिस की छापेमारी जारी है. पुलिस द्वारा घटना में शामिल लोगों की पहचान कर ली गयी है. 

 

वायरल वीडियो की सत्यता की हो रही है जांच 

एसपी एस कार्तिक ने कहा कि तबरेज अंसारी की पिटाई व मौत के मामले पर वायरल वीडियो की जांच किया जा रहा है. वीडियो डबिंग हैं कि सत्य है इस पर गहनता से जांच की जा रही है इसके लिए पुलिसिया जांच शुरू कर दी गयी है. 

 

एसडीपीओ के नेतृत्व में एसआईटी गठित 

एसडीपीओ अविनाश कुमार के नेतृत्व में एसआईटी का गठन कर दिया गया है. एसआईटी में एसडीपीओ अविनाश कुमार के अलावे दो इंस्पेक्टर आदित्यपुर थाना व आरआईटी थाना के प्रभारी के अलावे सरायकेला थाना प्रभारी व खरसावां थाना प्रभारी को शामिल किया गया है. एसआईटी को मामले की जांच कर जल्‍द से जल्‍द रिपोर्ट देने को कहा गया है. 

 

खरसावां थाना प्रभारी व सीनी ओपी प्रभारी निलंबित 

मामले पर सीनी ओपी प्रभारी विपिन बिहारी सिंह व खरसावां थाना प्रभारी चंद्रमणी उरांव को कार्य में लापरवाही व वरीय पदाधिकारियों सहित समय पर सूचना नहीं देने के आरोप में तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. 

 

धातकीडीह गांव में पसरा सन्नाटा, पुलिस के डर से गांव के पुरुष सदस्य भागे 

तबरेज अंसारी की पिटाई और मौत के मामले पर धातकीडीह गांव में सन्नाटा पसर गया है. मामले पर गांव में एक भी पुरुष सदस्य नहीं है. पुलिस के डर से सभी भागे हुए हैं. गांव में मरघटी सन्नाटा पसरा हुआ है. वहीं, घरों में सिर्फ महिलाएं ही हैं जो डरी व सहमी हुई हैं. महिलाओं ने नाम नहीं छापने की शर्त पर कहा कि गांव में अनजान चेहरे आ रहे हैं और महिलाओं को धमका रहे हैं. जिससे सभी महिलाएं डरी सहमी हुई हैं. अनहोनी की आशंका से महिलाओं ने पुलिस पदाधिकारियों को फोन कर गांव में सुरक्षा देने का आग्रह किया है. 

 

गांव में तैनात किया गया पुलिस बल 

घटना के बाद से धातकीडीह गांव में पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है. जिला के वरीय पदाधिकारियों से गांव की महिलाओं ने सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराने की मांग की थी. जिसे देखते हुए एसपी एस कार्तिक द्वारा धातकीडीह गांव में सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता रखने का निर्देश दिया गया. साथ ही पुलिस बल की तैनाती करने को कहा गया. एसपी ने जिला के सभी अल्पसंख्यक बहुल गांवों में सुरक्षा के दृष्टिकोण से सुरक्षा बल तैनात करने का निर्देश दिया. 

 

11 लोगों को किया गया है गिरफ्तार

धातकीडीह घटना में पुलिस ने कारवाई करते हुए 11 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. जानकारी देते हुए एसपी एस कार्तिक ने बताया कि मामले पर पुलिस ने त्वरित कारवाई करते हुए पांच लोगों को दिन में और छह और लोगों को देर शाम गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि रविवार को एक आरोपी प्रकाश मंडल उर्फ पप्‍पु मंडल को गिरफ्तार किया गया था. जबकि सोमवार को भीमसेन मंडल, प्रेमचंग महली, कमल महतो, सोनामो प्रधान, सत्यनारायण नायक, सोनाराम महली, चामू नायक, मैदान नायक, महेश महली और सुमंत महतो को गिरफ्तार किया गया है. सभी धातकीडीह गांव निवासी हैं.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement