ranchi

  • Jul 21 2019 7:46AM
Advertisement

आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन का झारखंड कनेक्शन सामने आया

आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन का झारखंड कनेक्शन सामने आया
साहिबगंज में आतंकी संगठन के तीन संदिग्ध
 
रांची : आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन का झारखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल का कनेक्शन सामने आया है. इस संगठन से झारखंड के तीन संदिग्ध जुड़े हुए हैं. 
 
इनमें हुसैन, अजफर और एच मुनसीर रहमान (तीनों के पिता : मंसूर रहमान) हैं. तीनों मूल रूप से साहिबगंज के बरहरवा थाना क्षेत्र के सतगाछी के रहनेवाले हैं.  जबकि अमीनउल हुसैन (पिता : अंसार हसन), कटिहार  के अमदाबाद थाना क्षेत्र के तिलोकिदारा गांव का निवासी बताया जा रहा  है. नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआइए) ने जमात उल मुजाहिदीन के 104 संदिग्धों की सूची झारखंड के अलावा पश्चिम बंगाल, बिहार, कर्नाटक, त्रिपुरा, असम और महाराष्ट्र पुलिस को भेजी है. सूची मिलने के बाद झारखंड पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है.  
 
एनआइए के मुताबिक, अक्तूबर 2014 में वर्द्धमान में हुए आइइडी ब्लास्ट में आरोपी बताये जा रहे सादिक सुमन का बहनोई  हुसैन, अजफर व एच मुनसीर रहमान है. हुसैन जमात-उल-मुजाहिदीन का सक्रिय सदस्य है. वहीं, अजफर और एच मुनसीर रहमान केरल में रहते हैं. एजेंसी की नजर में इसकी गतिविधि संदिग्ध है. यह जमात-उल-मुजाहिदीन के सदस्यों की मदद करता है. जबकि कटिहार  निवासी अमीनउल हसन ब्लास्ट के आरोपी सायजद अली के साथ राष्ट्रीय यूथ कंप्यूटर टेक्नोलॉजी, कालीचक, मालदा में पढ़ाई करता है. इसको लगातार सायजद अली के साथ देखा जाता है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement