Advertisement

patna

  • Jun 28 2016 6:43AM

आरा-छपरा और सोनपुर दीघा पुल मार्च में होंगे चालू

आरा-छपरा और सोनपुर दीघा पुल मार्च में होंगे चालू
उम्मीद. दोनों पुलों के चालू होने से गांधी सेतु पर घटेगा बोझ
आरा-छपरा व सोनपुर-दीघा पुल के चालू हो जाने से लोगों को काफी राहत मिलेगी. उन्हें महात्मा गांधी सेतु पर जाम में फंसना नहीं होगा.
 
पटना : महात्मा गांधी सेतु के विकल्प आरा-छपरा व दीघा-सोनपुर पुल अगले साल मार्च तक चालू हो जायेंगे. पुल के चालू होने से गांधी सेतु पर दबाव कम होगा. आरा-छपरा पुल का काम मात्र 10 फीसदी बाकी है, जबकि दीघा-सोनपुर सड़क पुल तैयार है. केवल एप्रोच रोड बनाने का काम बाकी है. 
 
गांधी सेतु पर अक्सर हो रहे समस्या को लेकर आरा-छपरा पुल व दीघा-सोनपुर पुल को शीघ्र चालू किये जाने को लेकर बचे काम को तेजी से पूरा करने के लिए कहा गया है. ताकि दोनों पुल के चालू होने पर गांधी सेतु पर दबाव कम हो सके. दोनों नये पुल के चालू होने से भारी वाहनों का परिचालन उस पर शुरू हो पायेगा. 
 
आरा-छपरा पुल
 
आरा में बबुरा व छपरा में डोरीगंज के बीच पुल पुल का निर्माण काम मार्च में पूरा हो जायेगा. पुल निर्माण का काम मात्र 10 फीसदी बाकी है.  आरा साइड में 16 किमी व  छपरा साइड में एक किमी एप्रोच रोड बनना है. इसके लिए 141 एकड़ जमीन की आवश्यकता है. 
 
इसमें मात्र 13 एकड़ जमीन उपलब्ध हो पायी है. मार्च तक पुल को चालू करने को लेकर तेजी से काम हो रहा है. चार किलोमीटर फोर लेन पुल के निर्माण पर 676 करोड़ खर्च हो रहा है. पुल से आरा, पटना,  मोहनिया, बक्सर से छपरा, सीवान, गोपालगंज व यूपी की दूरी कम हो जायेगी.
 
दीघा-सोनपुर सड़क पुल
 
गंगा नदी में दीघा-सोनपुर  रेल सह सड़क पुल  तैयार है. पुल के दोनों ओर दीघा व सोनपुर साइड में एप्रोच रोड बनाने का काम बाकी है. दीघा साइड में एलिवेटेड सड़क का निर्माण हो रहा है, जो एम्स के समीप एनएच-98 में मिलेगा.  सोनपुर साइड में  छह किलोमीटर एप्रोच रोड बनाना है. एप्रोच रोड के लिए लगभग 81 एकड़ जमीन की आवश्यकता है.  वहीं 600 मीटर एलिवेटेड रोड के लिए नौ एकड़  जमीन की जरूरत है. जमीन देने के संबंध में 80 किसानों ने सहमति दी है. इनमें से 54 किसानों ने अपनी जमीन रजिस्ट्री भी कर दी है.  
 
बिहार राज्य पुल निर्माण निगम  के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दीघा-सोनपुर रेल सह सड़क पुल के बाद एप्रोच रोड बनाने का काम पहलेजा से हरिहरनाथ तक होगा.  एप्रोच रोड बना देने से एक कनेक्टिविटी हो जायेगी. इससे लोगों का  आना-जाना शुरू हो जायेगा. इसके बाद शेष एप्रोच रोड तैयार कर उसे मुख्य सड़क  छपरा-हाजीपुर एनएच के साथ जोड़ा जायेगा. 
 
गांधी सेतु का विकल्प आरा-छपरा व दीघा-सोनपुर पुल बनेगा. दोनों पुल को मार्च तक चालू कर दिया जायेगा. आरा-छपरा पुल का निर्माण व सोनपुर साइड में एप्रोच रोड बनाने का काम समय से पूरा करने के लिए कहा गया है. दोनों पुल के चालू होने से   गांधी सेतु पर दवाब कम होगा.
पंकज कुमार, सचिव, पथ निर्माण विभाग
 

Advertisement

Comments

Advertisement