patna

  • Feb 15 2020 7:49AM
Advertisement

चिराग के लिए बिहारी फर्स्ट, रैली रिपोर्ट कार्ड से कम नहीं, 21 फरवरी से शुरू होगी मुजफ्फरपुर-वैशाली यात्रा

चिराग के लिए बिहारी फर्स्ट, रैली रिपोर्ट कार्ड से कम नहीं, 21 फरवरी से शुरू होगी मुजफ्फरपुर-वैशाली यात्रा
पटना : लोजपा ने इस साल होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर तैयारी प्रारंभ कर दी है. पार्टी 14 अप्रैल को गांधी मैदान में रैली कर शक्ति प्रदर्शन करेगी. चुनाव को ध्यान में रखकर ही रैली का नाम ' बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट रैली' रखा गया है. 
 
बतौर राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के लिए यह रैली रिपोर्ट कार्ड से कम नहीं है.  रैली की सफलता-असफलता से तय होगा कि एनडीए की सीट बंटवारे में लोजपा की 'डील ' कैसी होगी.  सवर्ण आरक्षण की मुखालफत से सबक लेने के बाद राजद  'एमवाइ' समीकरण से  बाहर निकल ' एटूजेड' का सियासी रास्ता अपना रहा है. उसकी इस बदली रणनीति से  लोजपा पर भी नैतिक दबाव बढ़ गया है.  रैली से संदेश जायेगा कि चिराग पिता की लीक से हटकर पार्टी को परिवार से बाहर ले जायेंगे या परंपरा पर ही बढ़ेंगे.
 
लोजपा की कमान अभी तक सियासत के महारथी केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के हाथ में थी. 28 नवंबर को चिराग ने राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाली.  कुछ दिन बाद ही पहला निर्णय संगठन को लेकर लिया. पार्टी को पुरानी पीढ़ी के हाथों से निकालकर नयी पीढ़ी को सौंप दी.  इस नयी पीढ़ी के नेतृत्व वाली लोजपा के लिए 14 अप्रैल की रैली पहला बड़ा आयोजन है. 
 
मुजफ्फरपुर-वैशाली से शुरू होगी यात्रा 
 
पटना : लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान की बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट महारैली यात्रा 21 फरवरी को मुजफ्फरपुर- वैशाली से शुरू होगी. यात्रा को सफल बनाने की जिम्मेदारी प्रधान महासचिव डाॅ शाहनवाल अहमद कैफी को सौंपी गयी है. प्रदेश प्रवक्ता श्रवण कुमार अग्रवाल ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष एक दिन में दो जिलों की यात्रा करेंगे.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement