Advertisement

Palamu

  • Feb 13 2019 12:20AM
Advertisement

10 वर्ष बाद फिर लौटेगी कोलियरी में रौनक

 राजहरा कोलियरी की कहानी, जगदीश नोनिया की जुबानी

सांसद वीडी राम ने इस दिशा में प्रयास कर काबिल-ए-तारीफ का काम किया है
 
मेदिनीनगर : जगदीश नोनिया उम्मीद छोड़ चुके थे. उन्हें नही लगता था कि अब इस जीवन में राजहरा कोलियरी में वह रौनक देख पायेंगे. कोलियरी में फिर से उत्पादन शुरू होगा. इसकी उम्मीद लगभग खत्म हो चुकी थी. चूंकि जगदीश नोनिया का कोलियरी के साथ भावनात्मक जुड़ाव रहा है. इसी कोलियरी में सेवा देकर वह सेवानिवृत्त हुए हैं.
 
वर्तमान में राजहरा कोलियरी के सात नंबर कॉलोनी के निवासी है. जब उन्हें यह जानकारी मिली कि राजहरा कोलियरी में 10 वर्षों के बाद फिर से उत्पादन शुरू होने वाला है, तो पहले उन्हें सहसा विश्वास ही नहीं हुआ. कहने लगे राजनीति भी खूब होती है. कोलियरी में नेता लोग आते हैं. खुलवाने का दावा करते हैं, पर होता कुछ नहीं.
 
इसलिए उत्पादन शुरू हो जाये, तभी कहिये. इसी बीच जब कोलियरी का निरीक्षण करने जीएम कोटेश्वर राय पहुंचे, तब जगदीश नोनिया को विश्वास हो गया कि अब आगे कुछ सकारात्मक होगा ही. वह कहते है कि सांसद वीडी राम ने इस दिशा में प्रयास कर काबिले तारीफ काम किया है. क्योंकि इस तरह का काम से पीढ़ी सुधर जाती है. वह पुराने दिनों में लौटते है. 
 
बताते हैं कि 1965-66 की बात है, तब सरकारीकरण नहीं हुआ था. निजी ठेकेदार से काम कराया जाता था. तब एक साथ 5000 से अधिक लोग काम करते थे. अधिक दिन पीछे मत जाइए, 15 साल पहले की बात करिये, तब उत्पादन हो रहा था. लगभग 100 से अधिक घर बने थे, जिसमें बाहर के लोग रहते थे. लेकिन जैसे ही उत्पादन ठप हुआ, लगातार कर्मियों की संख्या कम होती गयी. बिजली भी कम रहने लगी.
 
कुल मिलाकर कहे तो बहुत ही नुकसान हुआ. अब उम्मीद है कि जब उत्पादन शुरू होगा, तो फिर से पुराने दिन लौटेंगे. उनलोगों को बेसब्री से 23 फरवरी का इंतजार है. जब 23 की सुबह राजहरा इलाके के लिए अच्छे दिन का संदेश लेकर आयेगा.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement