Advertisement

jamooyi

  • Dec 7 2018 8:21PM

बिहार : पशुपालन विभाग का क्लर्क घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

बिहार : पशुपालन विभाग का क्लर्क घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार
विजिलेंस की गिरफ्त में पशुपालन विभाग का क्लर्क

जमुई : बिहार के जमुई में निगरानी अन्वेषण ब्यूरो (विजिलेंस) ने शुक्रवार को पशुपालन विभाग के एक रिटायर्ड कर्मी से रिश्वत लेते हुए विभागीय क्लर्क को गिरफ्तार कर अपने साथ पटना ले गयी है. विजिलेंस ने इस दौरान पशुपालन विभाग के क्लर्क अजीत कुमार को बीस हजार रुपये घूस लेते हुए गिरफ्तार किया है.

इस बाबत जानकारी देते हुए निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के डीएसपी शमीरुद्दीन ने बताया कि जिले के अलीगंज प्रखंड स्थित पशुपालन विभाग में कार्यरत कर्मी बाल गोविंद सिंह के सेवानिवृत्ति के बाद उनके सेवांत लाभ दिये जाने को लेकर उनसे रिश्वत की मांग की गयी थी. उन्होंने बताया कि बाल गोविंद सिंह बीते 31 अगस्त 2018 को ही अवकाश हो चुके हैं तथा 5 महीने से अधिक समय गुजर जाने के बाद तक उन्हें सेवांत लाभ नहीं मिल सका है. इसके अलावा उनका पांच महीने का वेतन भी बकाया है. इसे लेकर वह लगातार पशुपालन विभाग का चक्कर लगा रहे थे. जिसके बाद विभाग के क्लर्क अजीत कुमार ने घूस देने के बाद उनका काम करने की बात कही थी.

इसे लेकर उन्होंने विजिलेंस से संपर्क किया था. जिसके बाद विजिलेंस ने इस मामले की पड़ताल की. इस मामले की सत्यता प्रमाणित होने पर निगरानी की 14 सदस्यीय टीम शुक्रवार को जमुई पहुंची और विभागीय क्लर्क को घूस लेते हुए गिरफ्तार किया. उन्होंने बताया कि क्लर्क अजीत कुमार ने बाल गोविंद सिंह का काम करने के एवज में उनसे तीस हजार रुपया की मांग किया था तथा बीस हजार रुपया देने को लेकर दोनों के बीच बात तय हो गयी थी.

शुक्रवार को बाल गोविंद सिंह उसे बीस हजार रुपया दिया तभी निगरानी ने उक्त क्लर्क को गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार क्लर्क को आज पटना स्थित निगरानी न्यायालय में प्रस्तुत किया जायेगा तथा उसके खिलाफ चार्जशीट दायर कर जेल भेजा जायेगा. इसके अलावा विभागीय कार्रवाई करने के बाद उसका निलंबन भी किया जा सकता है. बताते चलें की निगरानी की इस कार्रवाई से कई विभाग में हड़कंप मच गया है.

 

Advertisement

Comments

Advertisement