calcutta

  • Dec 11 2019 2:27AM
Advertisement

प्रधानमंत्री व गृहमंत्री का बांग्लादेशी शरणार्थी करेंगे जन अभिनंदन

 जनवरी या फरवरी में होगा अभिनंदन कार्यक्रम

कोलकाता : नागरिकता संशोधन विधेयक के माध्यम से बांग्लादेश के शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए भाजपा राज्य के शरणार्थियों के हाथों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का जन अभिनंदन करेगी. भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने भाजपा कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर राज्य में रह रहे शरणार्थी उत्साहित हैं और खुश हैं. कई संगठन प्रधानमंत्री व केंद्रीय गृह मंत्री का अभिनंदन करना चाहते हैं. प्रदेश भाजपा ने प्रधानमंत्री व केंद्रीय गृह मंत्री से समय मांगा है. समय मिलने पर जनवरी या फरवरी में अलग-अलग जन अभिनंदन कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे.
 
श्री सिन्हा ने कहा :  सीएबी को लेकर राज्य की मुख्यमंत्री व विरोधी दल गलतफहमी फैलाने की कोशिश कर रहे हैं कि शरणार्थियों को भाजपा राज्य से बाहर निकलेगी. यह प्रचार तृणमूल, कांग्रेस, माकपा सभी मिलकर कर रहे हैं. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने साफ कहा था कि पहले नागरिकता संशोधन विधेयक आयेगा  और उसके बाद एनआरसी आयेगा. तृणमूल और माकपा दुष्प्रचार कर रहे हैं कि भाजपा धर्म के आधार पर विभाजित कर रही है, लेकिन यह मानवता के आधार पर हो रहा है.
 
इसमें कोई धर्म या संप्रदाय का मामला नहीं है. इस विधेयक से देश के मुस्लिमों का कोई नुकसान नहीं होगा, वरन घुसपैठिये मुसलमानों पर रोक लगेगी. उन्होंने कहा कि बांग्लादेश से आये शरणार्थी एनआरसी के दायरे में नहीं आयेंगे. केवल मुस्लिम घुसपैठिये ही एनआरसी के दायरे में आयेंगे. कैब के माध्यम से शरणार्थियों को नागरिकता दी जायेगी, जबकि एनआरसी से बांग्लादेश से आनेवाले मुस्लिम घुसपैठियों पर रोक लगेगी.
 
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैब नहीं अटका पायी है और एनआरसी भी नहीं रोक पायेंगी, लेकिन भारतीय मुस्लिमों का एनआरसी से कोई भय नहीं है, केवल विदेशी घुसपैठियों पर लगाम लगेगी. उन्होंने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल को पाकिस्तान बनाना चाहती हैं, लेकिन भाजपा ऐसा करने नहीं देगी. कांग्रेस ने देश का विभाजन किया था तथा ममता बंगाल में विभाजन करना चाहती हैं.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement