Advertisement

asansol

  • Aug 23 2019 1:23AM
Advertisement

जामुड़िया में तृणमूल की गुटबाजी आयी सतह पर

जामुड़िया :  तृणमूल श्रमिक संगठन आईएनटीटीयूसी ने श्याम सेल कारखाना गेट के समक्ष सभा की. इसके बाद काफी तनाव बन गया. सभा  के बाद आईएनटीटीयूसी के जिला चेयरमैन वी शिवदासन (दासू) को दरबाडांगा के तृणमूल कांग्रेस कर्मी असीम उपाध्याय के नेतृत्व में कुछ पार्टी समर्थकों ने रोका और अपनी समस्यआओं से अवगत कराया. उन्होंने आरोप लगाया कि श्री दासू ने प्रबंधन को पत्र लिख कर बिना कार्य किये वेतन लेनेवाले 32  श्रमिकों की सूची सौंपी थी.

 जबकि सभी नियमत: कार्य करते हैं. उन्होंने कहा कि उनके पत्र से इन 32 श्रमिकों को नौकरी से हटाया जा सकता है. इसके बाद उन्होंने श्री दासू के साथ रहे समर्थकों के साथ धक्का-मुक्की करने की कोशिश की. श्री दासू ने कहा कि सभी तृणमूल  के सक्रिय समर्थक हैं. 
 
 किसी के बहकावे में आकर गलतफहमी के शिकार हो गये हैं. उन्होंने दोनों पक्षों को समझा-बुझा कर शांत किया. उनके चले जाने के बाद तृणमूल कर्मियों के दोनों गुट फिर से आमने-सामने आ गये. टकराव होने से पहले ही उपस्थित पुलिस अधिकारियों ने दोनों पक्षों को शांत कर उन्हें वहां से हटाया.
 
पंचायत प्रधान के भेजे पानी से तीन स्कूलों में बना मिड डे मील
पानागढ़. कांकसा ग्राम पंचायत प्रधान शुक्ला सिंह की पहल पर तीन स्कूलों और एक आईसीडीएस केंद्र में गुरूवार से मिड डे मील बनना शुरू हो गया. पानागढ़ बाज़ार हिन्दी निःशुल्क प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक सुशील शर्मा ने बताया कि स्कूल के सबमर्सिबल पंप खराब होने से स्कूल में पानी की किल्लत हो गई थी. 
 
बच्चों को पीने तक का पानी उपलब्ध नहीं था.  उन्होंने कांकसा पंचायत प्रधान शुक्ला सिंह से संपर्क किया.  प्रशासनिक ट्रेनिंग में व्यस्त रहने के बावजूद  उन्होंने यह जिम्मेदारी अपने पति कार्तिक सिंह और बीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव (छोटन लाला) को दी. 
 
इन दोनों ने महज दो घंटे के अंदर पानी से भरी टंकी को स्कूल परिसर में खड़ा कर दिया. उन्होंने कहा कि एक ही परिसर में उनके विद्यालय के साथ-साथ पानागढ़ बाज़ार हिन्दी हाई स्कूल और पानागढ़ बाज़ार गर्ल्स जूनियर हाईस्कूल भी संचालित हैं. तीनों स्कूलों के लगभग 2500 बच्चें प्रतिदिन विद्यालय परिसर में पढ़ने आते हैं.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement