Advertisement

asansol

  • May 20 2019 7:04AM
Advertisement

दो पक्षों में मारपीट,कई घायल, प्राथमिकी

 बर्नपुर :  बर्नपुर गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी पर कब्जे को लेकर कमेटी कार्यालय में रविवार को दो गुटों में पुलिस की मौजूदगी में जम कर मारपीट हुई. दोनों पक्षों से कई लोग घायल हो गये. पुलिस अधिकारियों ने कार्यालय में दोनों पक्षों की ओर से तालाबंदी करा दी.

 
 दोनों पक्षों ने हीरापुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है. मौजूदा कमेटी ने बाद में ताला तोड़ कर कार्यालय पर कब्जा कर लिया. दोनों पक्षों ने श्रम, विधि व न्याय सह पीएचइडी मंत्री मलय घटक से मिल कर पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी. मंत्री श्री घटक ने उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया.
 
पूर्व सूचना देकर पहुंची सिख संगत
पूर्व अध्यक्ष चरणजीत सिंह ने बताया कि मौजूदा कमेटी का कार्यकाल काफी समय पहले समाप्त हो चुका है. सिख संगत नई कमेटी गठित करना चाहती है. लेकिन इस दिशा में कोई सार्थक पहल नहीं हो रही है. सिख संगत ने कमेटी अध्यक्ष मनमोहन सिंह तथा जिला प्रशासन को सूचित कर दिया था कि सिख संगत रविवार को गुरूद्वारा कार्यालय में जाकर हिसाव मांगेगी. 
 
तय कार्यक्रम के तहत सिख संगत गुरूद्वारा परिसर पहुंची. कमेटी सदस्य बगल के कमरे में थे. सिख संगत ने कार्यालय का ताला तोड़ा. मौजूदा सचिव सुरेन्द्र सिंह अत्तू समर्थकों संग कार्यालय में पहुंचे तथा दोनों पक्षों के बीच विवाद शुरू हो गया. हीरापुर थाना पुलिस के अधिकारी भी पहुंचे. उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों के बीच विवाद के बीच ही सुरेन्द्र ने सहयोगियों संग उन पर हमला कर दिया. इसके बाद मारपीट शुरू हो गई.
 
एक साल के लिए बनी थी कमेटी
उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में दोनों पक्षों ने मिलकर एक साल के लिए कमेटी गठित की. बाद में नई कमेटी गठित न कर एक परिवार के सदस्यों ने प्रबंधन कमेटी पर कब्जा कर लिया. उनके दखल को हटाने के उद्देश्य से पूरी संगत इक्कठी हुयी थी. आसनसोल महकमा शासक, जिलाशासक, श्रम सह विधि मंत्री तथा पुलिस प्रशासन को पत्र लिखकर जानकारी दी गयी. 16 मई को पुन: पत्र लिखकर बर्नपुर गुरूद्वारा प्रबंधन कमेटी को अपना कब्जा हटाने का अनुरोध किया गया. लेकिन किसी स्तर से कोई सहयोग नहीं मिलने के कारण यह कार्रवाई की गई.     
 
विकास देख कमेटी पर कब्जे की साजिश
सचिव श्री सिंह ने कहा कि हरजीत सिंह ने समर्थकों के साथ कार्यालय का ताला तोड़ दिया. कमेटी के दस्तावेज, नगद राशि, गुरूद्वारा का नक्शा आदि ले गये.  चार वर्षो में कमेटी ने गुरूद्वारा का काफी विकास किया है. 4 वर्षो से स्कूल प्रबंधन कमेटी पर कब्जा जमाये बैठे चरणजीत सिंह ने कमेटी पर कब्जा करने के लिए यह तरीका अपनाया. पिछली बार भी उनपर जानलेवा हमला हुआ था. इस बार भी उनके  हमला हुआ. हत्या की धमकी दी गयी. उन्होंने कहा कि संगत की मर्जी से कमेटी का संचालन कर रहे है.
 
दोनों पक्षों ने की थाने में शिकायत
पुलिस अधिकारियों ने दोनों पक्षों को बाहर निकाल कर स्थिति नियंत्रित की. हीरापुर थाना प्रभारी सोमेन्द्र नाथ सिंघा ठाकुर की मौजूदगी में दोनों पक्षों से बात कर कार्यालय में दोनों गुटों के ताला लगाये गये. तय हुआ कि वार्ता के बाद इसका हल निकाला जायेगा. सचिव श्री सिंह ने हीरापुर थाने में चरणजीत सिंह, चरण सिंह, हरजीत सिंह तथा बलवंत सिंह के खिलाफ नामजद  शिकायत दर्ज करायी. उन्हें प्राथमिक चिकित्सा के लिये आसनसोल जिला अस्पताल भेजा गया.
 
 चरणजीत सिंह ने भी थाना में मनमोहन सिंह, सुरेन्द्र सिंह अत्तु, सुरजीत सिंह, राजेन्द्र सिंह, गुड्डू सिंह, जसवंत सिंह, हरदयाल सिंह, मनोहर सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई. थानेदार श्री सिंघाठाकुर ने निष्पक्ष जांच कर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया.
 
कमेटी ने कब्जा लिया कार्यालय पर
शाम चार बजे सचिव श्री सिंह के नेतृत्व में कार्यालय का ताला तोड़ दिया गया तथा कमेटी ने उस पर कब्जा जमाया. इसके बाद दोनों पक्ष मंत्री श्री घटक से मिले तथा पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी. उन्होंने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया.
 
 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement