1. home Hindi News
  2. national
  3. the new date for the national aptitude test in architecture nata entrance exam will be announced on this day

नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर (NATA) प्रवेश परीक्षा की नयी तारीख की घोषणा

By दिल्ली ब्यूरो
Updated Date
Pic Source -twitter

दिल्ली डेस्क : आर्किटेक्चर के बैचलर कोर्स में प्रवेश के लिए बेहद अहम प्रवेश परीक्षा नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर (नाटा 2020) की नयी तरीखों की घोषणा की गयी है. कोविड-19 की वजह से काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर ने टेस्ट की नयी तारीखें जारी की हैं. पहले नाटा के फर्स्ट टेस्ट का आयोजन 19 अप्रैल और सेकेंड टेस्ट का 31 मई, 2020 को होना था.

हाल में आये नोटिफिकेशन के मुताबिक अब नाटा का फर्स्ट टेस्ट 1 अगस्त एवं सेकेंड टेस्ट 29 अगस्त 2020 को होगा. भारत सरकार की ओर से गठित काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर हर वर्ष अखिल भारतीय स्तर पर नाटा का आयोजन करती है. इस टेस्ट के माध्यम से देश के प्रतिष्ठित आर्किटेक्चर संस्थानों के पांच वर्षीय बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर (बीआर्क) डिग्री कोर्स में प्रवेश मिलता है. शैक्षणिक सत्र 2020-2021 के लिए नाटा दो बार आयोजित किया जायेगा. स्कोर सुधारने के लिए छात्रों को दूसरा टेस्ट देने का मौका मिलेगा. पहली बार में किसी कारणवश टेस्ट में शामिल न हो सके छात्र भी दूसरी बार आयोजित नाटा दे सकते हैं.

छात्रों को फिर मिल सकता है रजिस्ट्रेशन का मौका : कोराना वायरस की वजह से जारी मौजूदा हालात को देखते हुए काउंसिल ऑफ आर्किटेक्चर ने नाटा के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया फिर से शुरू करने पर विचार कर रही है. काउंसिल ने इस संबंध में कहा है कि नाटा 2020 के लिए आवेदन की दोबोरा शुरुआत की जायेगी, ताकि जो छात्र किसी कारण आवेदन नहीं कर सके हैं, उन्हें एक और मौका मिल सके. हालांकि अभी इसकी कोई तय तारीख नहीं बतायी गयी है, लेकिन नाटा के हेल्प डेस्क ने छात्रों को नाटा की वेबसाइट देखते रहने की सलाह दी है. नाटा के हेल्प डेस्क के नंबर - 9319275557, 7303487773 या ईमेल आईडी - helpdesk.nata2020@gmail.com से भी छात्र जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

आप दे सकते हैं नाटा : नाटा-2002 देने के लिए अभ्यर्थी के बारहवीं में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक के साथ फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथमेटिक्स विषयों में भी 50 प्रतिशत अंक होना जरूरी है.

टेस्ट के पैटर्न एवं पाठ्यक्रम के बारे में जानें

नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर (नाटा) में कुल 200 अंक के दो पेपर होंगे. पार्ट ए (पेपर एवं पेंसिल आधारित) होगा, जिसमें ए 4 आकार के पेपर में चित्र बनाना होगा. इसमें दो प्रश्न 35-35 अंक के और एक प्रश्न 55 अंक का होगा. इसके लिए कुल 135 मिनट का समय मिलेगा. पार्ट बी (ऑनलाइन) पेपर होगा. इसमें 75 अंक के बहुविकल्पीय प्रश्न पूछ जायेंगे. फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स (पीसीएम) के 15 प्रश्न और जनरल एप्टीट्यूड एवं लॉजिकल रीजनिंग के 35 प्रश्न होंगे. प्रत्येक प्रश्न 1.5 अंक का होगा. इस पेपर की अवधि 45 मिनट होगी.

ड्राइंग टेस्ट : इस टेस्ट में वस्तुओं, ज्यामितीय संरचना, आकृति, सौंदर्यशास्त्र, भवन के रूप और तत्वों, रंग, बनावट आदि के बारे में छात्र की समझ का आकलन किया जायेगा. अपनी समझ और स्मृति के आधार पर अर्बन स्केप एवं लैंडस्केप, रोजमर्रा के जीवन में इस्तेमाल होनेवाली चीजें, जैसे फर्नीचर, उपकरण आदि को ड्राइंग एवं स्केचिंग के माध्यम से दृश्य में बदलना होगा. दिये गये आकार और रूपों का उपयोग करके 2 डी और 3 डी रचनाएं बनानी होंगी.

जनरल एप्टीट्यूड : इस सेक्शन में आर्किटेक्चर एवं एनवायर्नमेंट, एनालिटिकल रीजनिंग, मेंटल एबिलिटी (विजुअल, न्यूमेरिकल एवं वर्बल), 3डी ऑब्जेक्ट के विभिन्न पक्षों की कल्पना, चित्रात्मक रचनाओं की व्याख्या, राष्ट्रीय/ अंतरराष्ट्रीय स्तर के आर्किटेक्ट एवं प्रसिद्ध आर्किटेक्चरल क्रिएशन पर केंद्रित जनरल अवेयरनेस, मैथमेटिकल रीजनिंग, सेट एवं रिलेशन आदि पर आधारित के प्रश्न शामिल होंगे. फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथमेटिक्स का पाठ्यक्रम प्रॉस्पेक्टस से प्राप्त कर सकते हैं.

नाटा की वेबसाइट देखें : http://www.nata.in/

आर्किटेक्चर में हैं करियर बनाने के बेहतरीन मौके

आर्किटेक्चर यानी वास्तुकला, भवनों की संरचना, नियोजन और डिजाइन के बारे में एक विशेष अध्ययन है. आपमें रचनात्मकता है, तो बतौर आर्किटेक्ट करियर बना सकते हैं. बीआर्क या एमआर्क के बाद आप हाउसिंग बोर्ड, लोक निर्माण विभाग, पुरातत्व विभाग, रेलवे के विभाग, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, राष्ट्रीय भवन संगठन, आवास और शहरी विकास निगम आदि में सरकारी नौकरी हासिल कर सकते हैं. बतौर आर्किटेक्ट, अर्बन डिजाइनर, लैंडस्केप आर्किटेक्ट, इंटीरियर आर्किटेक्ट, अर्बन प्लानर, प्रोजेक्ट मैनेजर, हाउसिंग कंसल्टेंट, आर्किटेक्चर टीचर के तौर पर करियर बनाने के अवसर मौजूद हैं. आर्किटेक्ट के तौर पर आप आर्किटेक्चर फर्म, कंस्ट्रक्शन कंपनी ज्वाइन कर सकते हैं या बतौर सलाहकार स्वतंत्र रूप से काम कर सकते हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें