1. home Home
  2. national
  3. covid19 in india number of hospitalisations increased by 3 4 fold omicron cases rising rapidly mtj

Covid19 in India: अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या 3-4 गुणा बढ़ी, तेजी से बढ़ा ओमिक्रॉन

भारत में ओमिक्रॉन के केस के साथ-साथ अस्पताल में भर्ती होने वाले कोरोना के मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है. भारत में कोरोना की ताजा स्थिति जानने के लिए पढ़ें...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Covid19 in India: कोरोना की नहीं थम रही रफ्तार
Covid19 in India: कोरोना की नहीं थम रही रफ्तार
Prabhat Khabar

Covid19 in India: भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले तो तेजी से बढ़ ही रहे हैं, अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ी है. पहले कोरोना से संक्रमित 10-15 मरीज हर दिन अस्पताल में आते थे, आज 35-40 मरीज अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं. यानी अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या तीन गुणा तक बढ़ गयी है. ओमिक्रॉन वैरिएंट (Omicron Variant) के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं.

नयी दिल्ली स्थित एलएनजेपी हॉस्पिटल के डॉक्टर एस कुमार ने यह जानकारी दी है. डॉ कुमार ने कहा है कि पिछले 5 सप्ताह में एयरपोर्ट्स पर ओमिक्रॉन के 188 केस मिले हैं. आज कोरोना से संक्रमित अधिकतर मरीजों में ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हो रही है. 15 से 20 फीसदी मरीज ही ऐसे हैं, जिनमें अब डेल्टा वैरिएंट (Delta Variant) देखा जा रहा है. ये आंकड़े डराने वाले और चिंता बढ़ाने वाले हैं.

कोरोना की रफ्तार तेजी से तब बढ़ रही है, जब भारत में करीब 155 करोड़ वैक्सीन की डोज लोगों को लगायी जा चुकी है. कोरोना वरियर्स, बुजुर्गों और गंभीर रूप से बीमार लोगों को बूस्टर डोज/प्रिकॉशन डोज लगाये जा रहे हैं. हालांकि, भारत सरकार टीकाकरण के लक्ष्य से अभी पीछे चल रही है. लेकिन, उम्मीद की जा रही है कि 25 अप्रैल 2022 तक वयस्क आबादी को टीकाकरण का सुरक्षा चक्र मिल जायेगा.

पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के 2,47,417 नये केस मिले हैं, जो कल की तुलना में 27 फीसदी अधिक हैं. पॉजिटिविटी रेट 13.11 फीसदी पहुंच गयी है, तो रिकवरी रेट करीब 99 फीसदी से घटकर 95.29 फीसदी रह गयी है. भारत में वर्तमान में 11,17,531 सक्रिय मामले हैं. पिछले 24 घंटों के दौरान 84,825 रोगी स्वस्थ हुए, देश भर में अभी तक कुल 3,47,15,361 मरीज स्वस्थ हुए हैं.

भारत में कोरोना के साप्ताहिक पॉजिटिविटी की बात करें, तो यह 10.80 प्रतिशत हो गया है. देश में अभी तक कुल 69.73 करोड़ सैंपल की जांच हुई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि 15 से 18 साल की आबादी के 3 करोड़ से अधिक युवाओं को कोरोना वैक्सीन की डोज अब तक लग चुकी है.

बता दें कि भारत सरकार ने 31 दिसंबर 2021 तक 100 फीसदी वयस्क आबादी के वैक्सीनेशन का टार्गेट तय किया था, लेकिन 66 फीसदी लोगों को ही वैक्सीन की दोनों डोज लग पायी. यानी भारत सरकार वैक्सीनेशन के लक्ष्य से 34 फीसदी पीछे रह गयी. 00 फीसदी वयस्कों का वैक्सीनेशन अब 25 अप्रैल 2022 तक होने की उम्मीद है. इस तरह सरकार ने वैक्सीनेशन का जो शेड्यूल तय किया था, वह उससे 3 महीने 25 दिन पीछे चल रही है.

गुरुवार (13 जनवरी 2022) को सरकार की ओर से जारी आंकड़ों में बताया गया कि 76 लाख वैक्सीन की खुराक पिछले 24 घंटे के दौरान लोगों को लगायी गयी. पिछले 30 दिन के आंकड़ों पर गौर करेंगे, तो पायेंगे कि हर दिन 57 लाख वैक्सीन की डोज लोगों को लगायी गयी.

भारत में ओमिक्रॉन

ओमिक्रॉन भारत के 28 राज्यों में फैल चुका है. देश में अब तक 5,488 ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामले सामने आये हैं. हालांकि, 2,162 लोग ठीक हो चुके हैं. महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 1,367 ओमिक्रॉन के केस मिले हैं, जबकि राजस्थान में 792, दिल्ली में 549, केरल में 486, कर्नाटक में 479, पश्चिम बंगाल में 294, उत्तर प्रदेश में 275, तेलंगाना में 260, गुजरात में 236, तमिलनाडु में 185, ओड़शा में 169, हरियाणा में 162, आंध्रप्रदेश में 61, मेघालय में 31, बिहार में 27, पंजाब में 27, जम्मू-कश्मीर में 23, गोवा में 21, मध्यप्रदेश में 10, असम में 9, उत्तराखंड में 8, छत्तीसगढ़ में 5, अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह और चंडीगढ़ में 3-3, लद्दाख, पुडुचेरी में 2-2, हिमाचल प्रदेश और मणिपुर में 1-1 ओमिक्रॉन के केस अब तक मिले हैं.

मणिपुर, हिमाचल प्रदेश, पुडुचेरी, लद्दाख, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड, असम, तमिलनाडु और मध्यप्रदेश में ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित सभी लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं. यानी इन 10 राज्यों में ओमिक्रॉन वैरिएंट का कोई एक्टिव केस नहीं है. महाराष्ट्र में 734, राजस्थान में 510, दिल्ली में 57, केरल में 140, कर्नाटक में 26, पश्चिम बंगाल में 10, उत्तर प्रदेश में 6, तेलंगाना में 47, गुजरात में 186, ओड़िशा में 8, हरियाणा में 146, आंध्रप्रदेश में 9, मेघालय में 16, पंजाब में 16, जम्मू-कश्मीर में 6 और गोवा में 19 मरीजों ने ओमिक्रॉन को मात दे दी है. बिहार एकमात्र राज्य है, जहां ओमिक्रॉन का कोई भी मरीज स्वस्थ नहीं हुआ है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें