1. home Home
  2. national
  3. air pollution already still dangerous in delhi but the poison of pollution started floating in kolkatas atmosphere vwt

Pollution: दिल्ली की आबोहवा अब भी खतरनाक, उधर कोलकाता के वायुमंडल में भी तैरने लगा प्रदूषण का जहर

दिल्ली में हवा की गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में तो पहले से ही बना हुआ है, लेकिन पराली जलाए जाने की वजह से प्रदूषण का लेवल 48 फीसदी तक पहुंच गया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Pollution: दिल्ली में दिख रहा प्रदूषण का असर
Pollution: दिल्ली में दिख रहा प्रदूषण का असर
फोटो : ट्विटर.

नई दिल्ली/कोलकाता : दिवाली में फोड़े गए पटाखों का असर इतना गंभीर हो गया है कि देश के दो महानगरों की आबोहवा ही खराब हो गई है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का स्तर तो खतरनाक स्तर पर तो पहुंच ही गया है, मगर अब पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के वायुमंडल में भी प्रदूषण का जहर तैरने लगा है.

मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार, दिल्ली में हवा की गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में तो पहले से ही बना हुआ है, लेकिन पराली जलाए जाने की वजह से प्रदूषण का लेवल 48 फीसदी तक पहुंच गया है. सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (सीपीसीबी) के ताजा आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) साेमवार की सुबह गंभीर श्रेणी 432 रहा.

उधर, राष्ट्रीय राजधनी में बढ़ते प्रदूषण को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट किया है. उन्होंने अपने ट्वीट लिखा है, '7 नवंबर-एक्यूआई - 428 (401 से 500 - गंभीर), पीएम10-450 (430 से ऊपर-गंभीर) पीएम2.5-309 (250 से ऊपर - गंभीर).' हालांकि, तेज हवाओं की वजह से शनिवार को दिल्ली की एक्यूआई में कुछ सुधार हुआ था, लेकिन अब भी यह 'गंभीर' श्रेणी में बनी हुआ था, क्योंकि शहर के ‘पीएम2.5' प्रदूषण में पराली जलाने का हिस्सा इस मौसम के रिकॉर्ड स्तर 41 फीसदी तक पहुंच गया था. शुक्रवार को एक्यूआई 462 दर्ज किया गया.

पराली जलाने पर केंद्र से इमरजेंसी बैठक करने की मांग

इसके साथ ही, दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने फसलों की पराली जलाए जाने को लेकर केंद्र सरकार से इमरजेंसी बैठक बुलाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि फसलों की पराली जलाए जाने की समस्या से निपटने का तरीका खोजने के लिए केंद्र सरकार दिल्ली के पड़ोसी राज्यों के साथ तत्काल इमरजेंसी बैठक करे, क्योंकि पराली जलाने से शहर की हवा बहुत खराब हो जाती है.

उधर, कोलकाता का आबोहवा भी खराब

इतना ही नहीं, दिल्ली के बाद अब पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के वायुमंडल में भी प्रदूषण फैलने की खबर है. मीडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार, उत्तरी कोलकाता में रविवार को पिछले दिनों के मुकाबले हवा की गुणवत्ता में थोड़ी गिरावट दर्ज की गई. हालांकि, आज भी उत्तरी कोलकाता का एक्यूआई खराब श्रेणी में दर्ज किया गया, जबकि शहर के बाकी हिस्सों में एक्यूआई मध्यम श्रेणी का रहा.

पश्चिम बंगाल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के एक अधिकारी के अनुसार, शहर के कई इलाकों में तीन दिन पहले दीपावली और काली पूजा के दौरान पटाखे फोड़े जाने बाद रविवार को उत्तरी कोलकाता के सिंथी, कोसिपोर, बारानगर और दमदम इलाकों में रात आठ बजे एक्यूआई 263 दर्ज किया गया, जबकि शनिवार रात इन जगहों पर एक्यूआई 243 दर्ज किया गया था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें