सेंसर बोर्ड के सीइओ गिरफ्तार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली :छत्तीसगढ़ की फिल्म मोर डौकी के बिहाव के लिए क्षेत्रीय भाषा का सेंसर प्रमाणपत्र जारी करने के लिए 70 हजार रुपये रिश्वत लेने के आरोप में सीबीआइ ने सेंसर बोर्ड के सीइओ राकेश कुमार को सोमवार देर शाम गिरफ्तार कर लिया.

गुरुवार को उनकी ओर से दो बिचौलियों द्वारा रिश्वत लेने और फिर गिरफ्तार किये जाने के बाद से ही उन पर नजर रखी जा रही थी. खबर है कि बॉलीवुड के शीर्ष निर्माताओं ने भी फिल्मों को मंजूरी के लिए कुमार को रिश्वत दी.

सीबीआई के सूत्रों ने यहां बताया कि राकेश कुमार को देर शाम को मुंबई में गिरफ्तार किया गय. सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन के सीईओ पर बृहस्पतिवार को उनकी ओर से दो बिचौलियों द्वारा कथित तौर पर रिश्वत लेने और फिर गिरफ्तार किए जाने के बाद से ही नजर रखी जा रही थी.

सूत्रों ने बताया कि वर्तमान मामला छत्तीसगढ़ की एक फिल्म से संबंधित है लेकिन एजेंसी के पास सूचना है कि बॉलीवुड के कुछ शीर्ष निर्माताओं ने भी अपनी फिल्मों को मंजूरी के लिए रिश्वत दी. उन्होंने बताया कि कुमार से पूछताछ की जा रही है ताकि उन नामों का पता चल सके जिन्होंने सेंसर प्रमाणपत्र पाने के लिए कथित तौर पर रिश्वत दी.

एजेंसी ने बृहस्पतिवार को उनके आवास की तलाशी ली और एजेंट श्रीपति मिश्रा तथा सेंसर बोर्ड के सलाहकार पैनल के सदस्य सर्वेश जायसवाल को गिरफ्तार किया. सूत्रों ने बताया कि इन लोगों को कुमार की ओर से कथित तौर पर रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया.

उन्होंने बताया कि सेंसर सर्टिफिकेशन के लिए अधिकृत एक एजेंट ने सीबीआई से संपर्क कर आरोप लगाया कि मिश्रा ने कुमार की ओर से छत्तीसगढी फिल्म मोर डौकी के बिहाव के लिए क्षेत्रीय भाषा का सेंसर प्रमाणपत्र जारी करने की खातिर 70,000 रुपये की मांग की.

भारतीय रेलवे के कार्मिक अधिकारी कुमार जनवरी में सीबीएफसी के सीईओ बनाए गए थे. सूत्रों ने बताया कि फिल्म के निर्माता जल्दी प्रमाणपत्र चाहते थे क्योंकि फिल्म 15 अगस्त को रिलीज होनी थी. संपर्क करने पर सीबीआई के प्रवक्ता ने बताया कि सीबीएफसी के सीईओ को कल सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें