NSA डोभाल ने कहा- आतंकवाद के खिलाफ जंग में धारणा प्रबंधन अहम, पारदर्शी मीडिया नीति की वकालत

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने सोमवार को कहा कि आतंकवाद के खिलाफ जंग में धारणा प्रबंधन एक अहम हिस्सा है और सुरक्षा एजेंसियों द्वारा पारदर्शी मीडिया नीति अपनाये जाने की वकालत की.

आतंकवाद विरोधी दस्ते (एटीएस) के प्रमुखों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए डोभाल ने कहा कि बिना प्रचार के आतंकवाद लंबे समय तक टिक नहीं पायेगा और उसका खात्मा हो जायेगा. उन्होंने कहा, आतंकवाद के खिलाफ जंग में मीडिया बेहद महत्वपूर्ण हिस्सा है. जैसा मार्गरेट थेचर (पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री) ने कहा, अगर आतंकवादी कार्रवाई करते हैं और मीडिया चुप रहता है तो आतंकवाद खत्म हो जायेगा. आतंकवादी लोगों को डराते हैं. अगर मीडिया नहीं लिखेगा तो किसी को पता नहीं चलेगा. अगर स्कूल जाते वक्त किसी के बेटे का अपहरण और हत्या हो जाती है तथा मीडिया इसे नहीं छापता तो लोगों को पता नहीं चलेगा.

डोभाल ने कहा, इसलिए एक पारदर्शी मीडिया नीति होनी चाहिए और मीडिया को भरोसे में लिया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, यह आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में बेहद महत्वपूर्ण अंग है. मीडिया को भरोसे में लीजिये. हम क्योंकि उन्हें कई चीजें नहीं बताते हैं, इसलिए वे कयास लगाते हैं और लिखते हैं. इसलिये उन्हें जानकारी दीजिये जिससे लोग खुद को आतंकवाद के खिलाफ तैयार कर सकें. एनएसए ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ जंग में अवधारणा प्रबंधन एक महत्वपूर्ण हिस्सा है और किसी को मीडिया को संभालने और उन्हें जानकारी देने के लिए प्रशिक्षित किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, यह (आतंक) क्यों हुआ, कैसे हुआ और क्या किया जा सकता है तथा सरकार क्या कर रही है. संभवत: वे (मीडिया) बेहद सहयोगी होंगे. जब भी आप उन्हें विश्वास में लेते हैं वे बेहद सहयोगी होते हैं. एक मीडिया नीति बनाइये.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें