केयर्न के राजस्थान ब्लॉक में 1,000 से 3,000 अरब घन फुट गैस का भंडार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्‍ली: केयर्न इंडिया के राजस्थान ब्लॉक में तेल के बाद अब प्राकृतिक गैस का भी उल्लेखनीय भंडार होने का अनुमान है. कंपनी का मानना है कि क्षेत्र में 1,000 से 3,000 अरब घनफुट गैस का भंडार होने का अनुमान है जिसमें से आधे से अधिक गैस निकाली जा सकती है. केयर्न ने अब तक राजस्थान में 36 खोज की है जिनमें भूमि स्थित मंगला का सबसे बडे तेल क्षेत्र भी शामिल है. कंपनी को रागेश्वरी क्षेत्र में गैस का भंडार भी मिला है.

हालिया, उत्खनन ड्रिलिंग और रागेश्वरी (डीप) गैस क्षेत्र से संकेत मिलता है कि रागेश्वी डीप, गुडा डीप और गुडा दक्षिण में ज्यादा गैस भंडार है. कंपनी ने हालिया कार्पोरेट प्रस्तुति में कहा है 'रागेश्वरी डीप गैस क्षेत्र में 1,000-3,000 अरब घन फुट गैस भंडार है जिसमें से 50 प्रतिशत से अधिक का दोहन किया जा सकता है.' कयर्न फिलहाल रागेश्वरी डीप गैस क्षैत्र से 80 से 90 लाख घन फुट प्रति दिन गैस की बिक्री करती है जिसे वह चालू वित्त वर्ष के अंत तक बढाकर 2.2 करोड घन फुट प्रति दिन और 2015-16 तक और बढाकर 9 करोड घन फुट करने की योजना पर काम कर रही है.

केयर्न ने कहा 'इस क्षेत्र में गैस भंडार की संभावना के मद्देनजर 30 इंच पाइपलाइन बिछाने की योजना बनाई गई है ताकि इसे गुजरात में मौजूदा गैस ग्रिड से जोडा जा सके.' कुल मिलाकर 180 किलोमीटर पाइपलाइन बिछाने की योजना है. हाल में विश्लेषकों से बातचीत करते हुए केयर्न ने कहा था 'हम बडे उत्साहित हैं कि फिलहाल जो उत्खनन हो रहा है वहां 15-20 प्रतिशत गैस संसाधन होने की संभावना है.' कंपनी फिलहाल रागेश्वरी क्षेत्र में अपतटीय कुएं का परीक्षण कर रही है और वित्त वर्ष के शेष हिस्से में और छह कुओं के उत्खनन और परीक्षण की योजना है. केयर्न ने कहा है कि रागेश्वरी गहरे गैस क्षेत्र में सुविधाओं के उन्नयन और पाइपलाइन बिछाने में 20 करोड डालर निवेश की योजना है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें