Advertisement

lucknow

  • Mar 21 2017 8:12AM

मोदी से मिले योगी, मंत्रियों के विभाग बंटवारे को लेकर आज शाह से करेंगे चर्चा

मोदी से मिले योगी, मंत्रियों के विभाग बंटवारे को लेकर आज शाह से करेंगे चर्चा

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के नये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज सुबह दिल्ली पहुंचे हैं. दिल्ली पहुंचे के साथ ही उनका मीटिंग का दौरा जारी है. उन्होंने दिल्ली पहुंचते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात की. इसके बाद योगी वित्त मंत्री अरुण जेटली और गृह मंत्री राजनाथ से मुलाकात की.

 

बताया जा रहा है कि योगी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच कई अहम मुद्दों पर बातचीत हुई. केंद्रीय मंत्रियों के साथ मुलाकात के बाद योगी राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के साथ मिलने राष्ट्रपति भवन जाएंगे. इसके बाद वो राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात कर मंत्रियों के विभाग बंटवारे को लेकर चर्चा करेंगे. शाह से चर्चा करने के बाद मंत्रियों को उनके विभाग बांटे जाएंगे. इस दौरान योगी आदित्यनाथ राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व उप राष्ट्रपति से भी मुलाकात करेंगे.

 

* योगी के काम पर मोदी की नजर

जानकारी के मुताबिक, यूपी पर पीएम मोदी की सीधी नजर रहेगी. जिसका जिम्मा नृपेंद्र मिश्र को दिया गया है. सूत्रों के मुताबिक, हर जरूरी बात के लिए मुख्यमंत्री योगी को पीएमओ से निर्देश मिलेगा. पीएम मोदी के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा योगी सरकार के रोज के कामों पर नज़र रखेंगे.

नयी सरकार के साथ ही प्रशासनिक फेरबदल एक सामान्य प्रक्रिया है, जो यूपी में भी होगा. लेकिन सूत्रों की मानें तो यूपी में टॉप अफसरों की नियुक्ति को हरी झंडी मोदी के करीबी नृपेंद्र मिश्र ही देंगे. रविवार को शपथ लेने के बाद आदित्यनाथ ने लखनऊ में नृपेंद्र मिश्र से मुलाकात भी की थी. 

* ऐसा रहा योगी का पहला दिन
उत्तर प्रदेश सरकार का कामकाज संभालने के बाद सोमवार को आदित्यनाथ सरकार का पहला दिन है. पहले दिन लोकभवन में आदित्यनाथ ने गृह विभाग के प्रमुख सचिव देवाशीष पंडा, पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद, सभी प्रमुख सचिवों, विशेष सचिव और सचिव के साथ बैठक की. 
 
बैठक में दोनों उप मुख्यमंत्री भी शामिल थे. इस दौरान मुख्यमंत्री ने आला अधिकारियों से कहा कि प्रदेश में कानून और व्यवस्था उनकी सरकार की पहली प्राथमिकता है. इससे किसी भी तरह का समझौता नहीं होगा. इलाहाबाद में बसपा के एक नेता की हत्या के मामले का भी संज्ञान लिया गया. 
 
इसके बाद मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों को खड़े होकर ईमानदारी, स्वच्छता पारदर्शिता की शपथ दिलायी. आगे के रोड मैप के बारे में सभी अधिकारियों से चर्चा भी की. आदित्यनाथ ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे 15 दिनों के भीतर अपनी चल, अचल संपत्ति और आयकर का ब्योरा दें. उन्होंने कहा कि वे संकल्प पत्र पढ़ें और उसे लागू करें. 
 
बैठक में कैबिनेट की पहली बैठक में जिन-जिन वादों को लागू करना है, उनके बारे में पूरा ब्योरा और तैयारी का तरीका तैयार करने के लिए कहा. सभी विभागों में अब तक किये गये कार्यों की समीक्षा रिपोर्ट तैयार भी करने को कहा गया. इससे पहले, उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और केशव प्रसाद मौर्य मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से मुलाकात करने वीवीआइपी गेस्ट हाउस पहुंचे. शर्मा ने बैठक के बाद संवाददाताओं को बताया कि वह बस शिष्टाचार भेंट करने गये थे.

Advertisement

Comments

Advertisement