ऐप से वीडियो बनाने का शौक बनी आदत

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची : जहां एक ओर तकनीक हमारे लिए नये-नये आयाम खोल रही है. वहीं, दूसरी ओर इसके नुकसान भी सामने आ रहे हैं. पहले बच्चों में मोबाइल गेम का एडिक्शन ज्यादा देखने को मिलता था लेकिन अब इनमें एेप के जरिये वीडियो बनाने का चलन भी काफी बढ़ा है. लाइक्स और कमेंट्स के लिए वे हर जोखिम को उठाने के लिए तैयार हो जाते हैं. शुरुआत में बच्चे इन्हें शौकिया तौर पर बनाते हैं, लेकिन धीरे-धीरे लोगों के कमेंट्स और लाइक्स के लिए इन्हें बनाने के एडिक्शन के शिकार हो जाते हैं. हाल ही में कुछ ऐसे मामले सामने आये हैं, जिसमें बच्चे शुरुआत में पढ़ाई में काफी बेहतर कर रहे थे. लेकिन, वीडियो बनाने की लत ने उन्हें पढ़ाई से दूर कर दिया. यही नहीं माता-पिता द्वारा रोकने पर आक्रोश में चीजों को तोड़ने-फोड़ने लगते हैं. यही नहीं कई बार बच्चे साइबर क्राइम और साइबर बुलिंग के भी शिकार हो सकते हैं. जरूरत है पैरेंट्स को बच्चों के प्रति सजग रहने की और उनके हर एक्टिविटी पर नजर रखने की.

काल्पनिक दुनिया
टिक-टॉक जैसे अन्य ऐप हर उम्र और हर वर्ग के लोगों को काफी दिलचस्प और मजेदार लगते हैं. उन्हें लगता है कि उनके अंदर की प्रतिभा जो लोगों को सामने कभी आ नहीं पायी वो अब इन एेप्स के जरिये उभर कर सामने आ रही हैं. ये एेप उन्हें हुनर को एक प्लेटफॉर्म देते हैं और इस तरह काल्पनिक दुनिया में जीने की शुरुआत होती है. धीरे-धीरे इसकी लत इतनी ज्यादा लग जाती है कि बच्चे अपनी पढ़ाई पर ध्यान नहीं दे पाते हैं. यह वर्ग अपनी जिम्मेदारियों से दूर होने लगता है.

वीडियो बनाने का क्रेज अब महिलाओं में भी तेजी से बढ़ा
कुछ मामले ऐसे भी आये हैं, जहां महिलाएं अपना वीडियों शेयर करने के लिए अपने बच्चों की देखभाल को दरकिनार कर देती हैं. पहले ज्यादातर महिलाएं खाली समय में कुछ नयी सीखा करती थीं, लेकिन जब से टिक-टॉक वीडियो और अन्य से एेप से वीडियो बनाने का चलन बढ़ा है, कई महिलाएं इसके प्रति ज्यादा आकर्षित हो रही हैं. महिला हेल्पलाइन में ऐसे मामले देखे जा रहे हैं. एक मामले में तो पति ने पत्नी द्वारा रात भर वीडियो बनाने की लत से बच्चों के पढ़ाई में हो रहे नुकसान को लेकर मदद मांगी. रात- भर वीडियो बनाती और सुबह तक सोती रहती, जिसकी वजह से बच्चे समय पर स्कूल नहीं जा पाते थे. रोकने पर झगड़ा करने लगती थी. मामले में अभी काउंसेलिंग जारी है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें