1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. in the hathras case the police stopped the trinamool congress leaders going to meet the relatives the entry of the leaders was banned gur

हाथरस मामला : मृतका के परिजनों से मिलने जा रहे टीमसी नेताओं पर लाठीचार्ज, धक्का-मुक्की में नीचे गिरे सांसद प्रतिमा मंडल और डेरेक ओ ब्रायन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
हाथरस पहुंचने से पहले ही तृणमूल कांग्रेस के नेताओं के साथ धक्का-मुक्की, लाठी चार्ज
हाथरस पहुंचने से पहले ही तृणमूल कांग्रेस के नेताओं के साथ धक्का-मुक्की, लाठी चार्ज
twitter

कोलकाता (अमित शर्मा) : उत्तर प्रदेश के हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद से ही देशभर में विरोध प्रदर्शन जारी हैं. शुक्रवार को मृतका के परिजनों से मुलाकात करने हाथरस पहुंचने से पहले ही तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को पुलिस ने रोक दिया. पार्टी सूत्रों के अनुसार, प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व सांसद डेरेक ओ ब्रायन कर रहे थे. इस दौरान लाठीचार्ज किया गया. टीमसी सांसद प्रतिमा मंडल और डेरेक ओ ब्रायन धक्का-मुक्की के दौरान नीचे गिर गये.

हाथरस के बॉर्डर पर रोके जाने के दौरान पुलिस और तृणमूल कांग्रेस के नेताओं में जमकर बहस हुई. मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने हाथरस से दूसरी जगहों को जोड़ने वाले सड़क मार्गों पर सुरक्षा बढ़ा दी है. साथ ही राजनीतिक पार्टी से जुड़े नेताओं की एंट्री बैन कर दी गयी है. मामले को लेकर पहले ही तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी.

हाथरस जाने से रोके जाने के दौरान सांसद ब्रायन से धक्का-मुक्की भी की गयी. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस की नेता प्रतिमा मंडल से पुलिस ने बदसलूकी की है. उपरोक्त मामले को लेकर श्री ब्रायन ने कहा कि यूपी सरकार और पुलिस तानाशाह रवैया अपना रही है. विपक्षी दलों को आखिर हाथरस जाने से प्रशासन क्यों रोक रहा है ? पीड़िता के परिजनों से मिलने के लिए आखिर ऐसी कौन सी वजह है, जो यूपी पुलिस व प्रशासन छिपाने की कोशिश में लगे हैं ?

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि हाथरस में दलित युवती के साथ जो बर्बरता हुई है, उसकी निंदा करने के लिए उनके पास कोई शब्द नहीं हैं. उन्होंने पीड़ित परिवार के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की थी. उन्होंने यह भी कहा था कि और ज्यादा शर्मनाक है कि बिना पीड़िता के परिजनों की अनुमति के उनकी बेटी का अंतिम संस्कार कर दिया गया. ये वोट के लिए वादे और नारे बुलंद करने वालों को बेनकाब करता है.

आपको बता दें कि गुरुवार को हाथरस जाने से कांग्रेस के नेता राहुल गांधी और पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा व पार्टी के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोका था. इस दौरान श्री गांधी और पुलिस में धक्का-मुक्की भी हुई थी.

टीएमसी नेता ममता ठाकुर ने आरोप लगाते हुए कहा कि वे पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे थे. महिला पुलिसकर्मियों के जरिए उन्हें रोका गया. लाठीचार्ज किया गया. टीएमसी सांसद प्रतिमा मंडल और डेरेक ओ ब्रायन धक्का-मुक्की के दौरान नीचे गिर गये.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें