1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. durga puja criminals can wreak havoc police are repeatedly meeting crime news hindi news prt

दुर्गा पूजा में रहें सावधान : कहर ढा सकते हैं लॉकडाउन में अपराधी, पुलिस कर रही है बार बार बैठक

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
दुर्गा पूजा में रहें सावधान
दुर्गा पूजा में रहें सावधान
प्रतीकात्मक तस्वीर

विकास गुप्ता, कोलकाता : कोरोना के कारण हर वर्ग के लोग आर्थिक तंगी झेल रहे हैं. आपराधिक तत्व भी इससे अछूते नहीं हैं. माना जा रहा है कि लगातार महीनों के लॉकडाउन के कारण इनकी माली हालत भी खराब हो गयी होगी. लॉकडाउन में जहां शहर में अपराध थम सा गया था, वहीं धीरे-धीरे अनलॉक के बढ़ते चरणों में चोरी, छिनताई और लूट के मामले बढ़ रहे हैं.

  • पूजा के दौरान मंडप भ्रमण करनेवाले दर्शनार्थियों को अपराधियों से भी रहना होगा सावधान

  • अपराधियों से लोगों के बचाव को लेकर बार-बार बैठक कर रहे पुलिस ऑफिसर

आगामी कुछ दिनों में राज्य के सबसे बड़े सामूहिक व सामाजिक उत्सव - दुर्गापूजा में भी अपराध बढ़ने की आशंका है. इस वजह से समय रहते सुरक्षा की दृष्टि से आपराधिक वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस मुख्यालय-लालबाजार में बैठकों का दौर शुरू हो गया है. अपराधियों को कैसे नियंत्रित किया जाये, इसके लिए पुलिस भी अपनी रणनीति बना रही है.

विगत मंगलवार को लालबाजार में पुलिस के सीनियर अफसरों की एक बैठक हुई थी. इसमें पूजा के विभिन्न पक्षों पर चर्चा के साथ ही दर्शनार्थियों की सुविधा और सुरक्षा पर भी व्यापक बातें हुईं. लगे हाथ अपराधियों को लगाम डालने पर भी. तत्पश्चात गुरुवार को भी वरिष्ठ अधिकारियों ने एक बैठक की. लालबाजार में ही. इस बैठक में भी पुलिस के विभिन्न विभागों के अफसर मौजूद थे. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, उत्सव के दौरान असामाजिक तत्वों पर नजर रखने पर पूरा बल दिया जा रहा है.

माना जा रहा है कि कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन में अपराधियों की जेब भी खाली हो गयी होगी. लॉकडाउन की सख्ती में उनकी एक नहीं चल पायी थी. अब लग रहा है कि जैसे ही भीड़ से उनका सामना होगा, वे टूट पड़ने की कोशिश करेंगे. दूसरी तरफ पुलिस भी अपनी तैयारी ऐसी कर रही है कि दर्शनार्थी बेफिक्र होकर देवी दुर्गा का दर्शन कर अपने घरों को लौटें.

बढ़ी है साइकिल चोरी की आशंका : पुलिस का मानना है कि कोरोना के चलते बहुत सारे लोग मंडपों का चक्कर काटने के लिए इस बार साइकिल से निकलेंगे. इस स्थिति का अनुमान अपराधी भी लगा रहे होंगे. संभव है कि अपराधी भी साइकिल चोरी पर ज्यादा फोकस रखें. पुलिस का कहना है कि वह मंडपों से थोड़ा अलग साइकिल स्टैंड चाहती है, ताकि वहां गार्ड की नजर में दर्शनार्थियों की साइकिलों की सुरक्षा हो सके.

जो पुलिसकर्मी मंडपों के आसपास चौकसी बरतेंगे, वे इधर भी नजर रखा करेंगे. उल्लेखनीय है कि इस बार लॉकडाउन के दौरान काफी बड़ी संख्या में लोगों ने साइकिलें खरीदी हैं. इतना ही नहीं, पुलिस ने भी अपनी तरफ से कुछ चुनिंदा बड़ी सड़कों व फ्लाइओवर्स को छोड़ कर जहां साइकिलें चलायी जा सकती हैं, उन सड़कों के लिए 31 अक्तूबर तक साइकिल चलाने की छूट पर अपनी मुहर लगा दी है.

सीसीटीवी कैमरे बढ़ायेंगे आयोजक : पुलिस ने तय किया है कि इस बार पूजा के दौरान आयोजकों को भी चौकन्ना रखना होगा. उनसे कहा जायेगा कि वे अपने स्तर पर भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करें. उनके मंडपों के आसपास चारों तरफ की स्थिति ठीक से देखी-परखी जा सके, इसके लिए पर्याप्त संख्या में सीसीटीवी कैमरे लगवायें. दूसरी तरफ पुलिस भी अपने स्तर पर पैनी निगाह रखेगी. कोलकाता पुलिस के वाच सेक्शन के कर्मचारी भी सभी प्रमुख और संवेदनशील पूजा मंडपों के पास अपनी निगरानी टाइट करेंगे, ताकि कहीं से किसी अपराधी-उचक्के को मौका नहीं मिले.

पूजा से पहले ही गिरफ्तारी की पुलिस की योजना : पुलिस ने प्लान किया है कि पूजा के पहले ही वांटेड अपराधियों को धर-दबोचा जाये, ताकि उत्सव के दौरान इनके चलते प्रेसर न बढ़े. इसके लिए समय-समय पर चौतरफा औचक रेड की योजना बन रही है. पुलिस अफसरों का मानना है कि जितने अपराधी पकड़ लिये जायेंगे, उतने के चलते वारदातों की चिंता कम हो जायेगी. लगे हाथ पूजा मंडपों के पास करीबी पुलिस थानों के नंबर भी लगाये जायेंगे, ताकि जब जरूरत हो, लोग पुलिस से संपर्क कर सकें. हर डीसी दफ्तर में एक्सट्रा फोर्स रखने की भी योजना बनी है.

Posted by ; Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें