ज्योतिषीय सलाह : नौ अच्छी आदतों से नवग्रहों का सम्मान कर सुधारें भाग्य

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

कोलकाता : आपकी आदतें आपका भाग्य बनाती हैं. आपको यश और अपयश दिलाती हैं. यदि आपकी आदतें खराब हैं, तो आपके नौ ग्रहों के खराब होने का खतरा सदैव मंडराता रहेगा. कभी कुछ समस्याएं आयेंगी, तो कभी कुछ. समय व पैसा कहां जायेगा, इसका पता ही नहीं चलेगा. ज्योतिषाचार्य सुशील पुरोहित ने रविवार को प्रभात खबर ज्योतिष सलाह के अवसर पर पाठकों के फोन पर जवाब में नौ आदतों को जिक्र किया, जो आपके ग्रहों को प्रभावित करती हैं.

अगर आपको कहीं पर भी थूकने की आदत है, तो यह निश्चित है कि आपको यश, सम्मान अगर मुश्किल से मिल भी जाती है, तो कभी टिकेगा ही नहीं. वाॅश बेसिन में ही यह काम कर आया करें. यश, मान-सम्मान में अतिवृद्धि होगी.
जिन लोगों को अपनी जूठी थाली या बर्तन उसी जगह पर छोड़ने की आदत होती है, उन्हें सफलता कभी भी स्थायी रूप से नहीं मिलती. इससे मानसिक शांति बढ़ कर अड़चनें दूर होती हैं.
जब भी हमारे घर पर कोई भी बाहर से आये, चाहे मेहमान हो या कोई काम करनेवाला, उसे स्वच्छ पानी जरूर पिलायें. ऐसा करने से हम राहु का सम्मान करते हैं.
घर के पौधे आपके अपने परिवार के सदस्यों जैसे ही होते हैं. जिस घर में सुबह-शाम पौधों को पानी दिया जाता है, तो हम बुध, सूर्य और चंद्रमा का सम्मान करते हुए परेशानियों का डटकर सामना कर पाने का सामर्थ्य आ पाता है. परेशानियां दूर होकर सुकून आता है.
जो लोग बाहर से आकर अपनी चप्पल, जूते, मोजे इधर-उधर फेंक देते हैं, उन्हें उनके शत्रु बड़ा परेशान करते हैं. इससे बचने के लिए अपने चप्पल-जूते करीने से लगाकर रखें, आपकी प्रतिष्ठा बनी रहेगी.
उनलोगों का राहु और शनि खराब होगा, जो लोग जब भी अपना बिस्तर छोड़ेंगे, तो उनका बिस्तर हमेशा फैला हुआ होगा, सिलवटें ज्यादा होंगी, चादर कहीं, तकिया कहीं, कंबल कहीं. उठते ही स्वयं अपना बिस्तर समेट दें. जीवन आश्चर्यजनक रूप से सुंदर होता चला जायेगा.
पैरों की सफाई पर हम लोगों को हर वक्त खास ध्यान देना चाहिए. नहाते समय अपने पैरों को अच्छी तरह से धोयें, कभी भी बाहर से आयें, तो पांच मिनट रुक कर मुंह और पैर धोयें. इससे चिड़चिड़ापन कम होगा, दिमाग की शक्ति बढ़ेगी और क्रोध धीरे-धीरे कम होने लगेगा. आनंद बढ़ेगा.
रोज खाली हाथ घर लौटने पर धीरे-धीरे उस घर से लक्ष्मी चली जाती है और उस घर के सदस्यों में नकारात्मक या निराशा के भाव आने लगते हैं. इसके विपरीत घर लौटते समय कुछ न कुछ वस्तु लेकर आयें, तो उससे घर में बरकत बनी रहती है.
सवाल : पुत्री के विवाह का योग कब है? आशीष गोस्वामी, सिलीगुड़ी
जवाब : 2022 में विवाह का योग है. कुंडली में शनि और केतु कमजोर है. स्वास्थ्य की गड़बड़ी बनी रहेगी.
सवाल : कब नौकरी मिलेगी? हीरालाल साव, जादवपुर.
जवाब : मार्च या अप्रैल में नौकरी मिल जायेगी. अच्छी नौकरी का योग है.
सवाल : शादी कब होगी ? पूनम खरबार, कोलकाता
जवाब : इस साल ही शादी का योग है. इस साल के अंत तक शादी हो जायेगी.
सवाल : आर्थिक स्थिति में कब सुधार होगी ? राजकुमार श्रीवास्तव, एयरपोर्ट
जवाब : अप्रैल 2021 से आर्थिक स्थिति में सुधार होगी. कारोबार व प्रॉपर्टी का काम भी अच्छा होगा.
सवाल : विगत कुछ दिनों से परेशान हूं. क्या करें? मनोज कुमार साव, लिलुआ.
जवाब : केतु की दशा चल रही है. प्रत्येक दिन गणेश जी की पूजा करें. शांति मिलेगी. परेशानी भी दूर होगी.
सवाल : भाई की वैवाहिक स्थिति में सुधार कब होगी? आरती जाजू, हल्दिया
जवाब : गुण मिलने से कुंडलियां नहीं मिलती हैं. संबंध सुधारने की कोशिश जारी रखें.
सवाल : परेशानी है, कब परेशानी से निजात मिलेगी. सीता देवी, सियालदह.
जवाब : प्रत्येक दिन 100 बार हनुमान चालीसा का पाठ करें. परेशानी दूर होगी.
सवाल : रोजगार कब मिलेंगे? सुरोजित सरकार, आसनसोल
जवाब : कुंडली में करियर का अच्छा योग है. अच्छी नौकरी मिलेगी तथा बाद में बिजनेस का भी स्कोप है.
सवाल: परेशान हूं, परेशानी से कब मुक्ति मिलेगी? प्रमोद त्रिपाठी, कोलकाता.
जवाब : जून तक परेशानी बनी रहेगी, लेकिन उसके बाद स्थिति में सुधार होगी.
सवाल : नौकरी कब मिलेगी ? अरविंद श्रीवास्तव, आसनसोल
जवाब : मई, 2022 से अच्छी नौकरी का योग है. समय भी अनुकूल होगा.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें