नागरिकता संशोधन विधेयक राज्‍यसभा से पारित होने के बाद बंगाल में जश्‍न

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

कोलकाता : प्रदेश भाजपा के नेताओं ने लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होने पर भाजपाइयों ने जमकर खुशी मनायी. प्रदेश भाजपा कार्यालय में भाजपा समर्थकों ने जमकर आतिशबाजी की. गाजे-बाजे बजाये और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत माता जय की नारेबाजी की.

राज्यसभा में रात को लगभग नौ बजे विधेयक पारित होने के बाद प्रदेश भाजपा कार्यालय में जश्न का माहौल बन गया. प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष व सांसद दिलीप घोष ने विधेयक पारित होने पर खुशी जताते हुए कहा कि यह जश्न पूरे राज्य में मनाया जायेगा. उन्होंने कहा कि अभी तक अवेहलना की जिंदगी जी रहे शरणार्थियों को अब सम्मान से जीने का हक मिलेगा.

श्री घोष ने ममता बनर्जी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ममता ने हमेशा ही देश विरोधी काम किया है. देश हित में काम करना उनकी आदत नहीं है. 70 वर्ष पहले लाखों परिवार विस्थापित होकर बंगाल आये थे. वह लंबे समय से राह देख रहे थे कि उन्हें कब भाजपा की नागरिकता मिलेगी. अब संसद में विधेयक पारित होने के बाद अब उनकों नागरिकता मिलने का रास्ता साफ हो जायेगा.

उन्हें अब राहत मिलेगी. अब वे सम्मान के साथ सीना तानकर भारत में रहेंगे और जीयेंगे, क्योंकि इस देश की स्वतंत्रता में उनके परिवार के लोगों ने भी बलिदान दिया था. उन्होंने कहा कि उन्हें गर्व है कि उन लोगों ने उन परिवारों और डॉ श्यामारप्रसाद मुखर्जी के सपनों को पूरा करने में सफल रहे हैं. उन लोगों ने जो कहा था, उसे कर दिखाया है.

उन्होंने कहा कि भाजपा घर-घर जाकर इस विधेयक की बारीकियों के बारे में प्रचार करेगी और तृणमूल कांग्रेस के दुष्प्रचार को समाप्त करेगी. उन्होंने कहा कि ममता इसलिए इसका विरोध कर रही हैं, क्योंकि उन्हें मुस्लिम घुसपैठियों का वोट चाहिए.

बंगाल में 50 से 60 लाख मुस्लिम घुसपैठिये हैं, जो ममता को वोट देते हैं. यदि इन्हें चिंहिंत कर लिया जायेगा और ये ममता को वोट नहीं दे पायेंगे, तो क्या ममता सत्ता में रह पायेगी.

उन्होंने कहा कि अभी तक ममता बनर्जी बंगाली शरणार्थियों को भर दिखा रही थी, लेकिन अब दूध का दूध और पानी का पानी साफ हो गया. अब हिंदू समझ गये हैं कि ममता केवल दुष्प्रचार कर रही थी. किसी भी हिंदू और इस देश के मुस्लिम को देश से बाहर नहीं निकाला जायेगा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें