भाजपा ने बंगाल इकाई के नेताओं से कहा, गवर्नर और ममता गवर्नमेंट के बीच चल रहे वाक्युद्ध पर टिप्पणी करने से करें परहेज

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

कोलकाता : भाजपा ने अपनी पश्चिम बंगाल इकाई के नेताओं से राज्यपाल और ममता सरकार के बीच वाक्युद्ध पर टिप्पणी करने से परहेज करने के लिए कहा है. पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि एक आम धारणा बन गयी है कि राज्यपाल और भाजपा अपने-अपने बयानों के माध्यम से एक दूसरे के पूरक हो गये हैं. भाजपा नेता ने कहा कि पार्टी आलाकमान की ओर से राज्य के नेतृत्व को मौखिक तौर पर इस संबंध में निर्देश दिये गये हैं.

उन्होंने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व की ओर से हमें राज्यपाल और ममता सरकार के बीच जुबानी जंग पर टिप्पणी करने से बचने के लिए कहा गया है. लिहाजा, हमारी राज्य इकाई का कोई भी नेता इस वाक्युद्ध पर कोई टिप्पणी नहीं करेगा. पार्टी सूत्रों के अनुसार, यह कदम उन आरोपों को दरकिनार करने के लिए उठाया गया है कि भाजपा राज्य सरकार को तंग करने के लिए राज्यपाल का इस्तेमाल कर रही है.

सूत्रों ने कहा कि जब भी राज्य सरकार और राजभवन के बीच जुबानी जंग होती है, तो हमें जाहिर तौर पर राज्यपाल के पक्ष में बोलना होता है, चाहे वह मौजूदा राज्यपाल जगदीप धनखड़ हों या उनके पूर्ववर्ती के एन त्रिपाठी हों. धनखड़ और तृणमूल कांग्रेस सरकार से बीच टकराव सोमवार को संसद पहुंच गया, जब टीएमसी के राज्यसभा सदस्य सुखेंदु शेखर रॉय ने राज्यपाल पर अपने कामकाज के दायरे से बाहर हस्तक्षेप करने और राज्य में एक समानांतर प्रशासन चलाने की कोशिश करने का आरोप लगाया.

भाजपा के एक और वरिष्ठ नेता ने कहा कि ऐसी धारणा बन गयी है कि राज्यपाल और भाजपा अपने-अपने बयानों के माध्यम से एक दूसरे के पूरक हो गये हैं. इससे गलत संदेश जा रहा है. हमें इस मुद्दे पर टिप्पणी करने से परहेज करने के लिए कहा गया है. सांसद सुदीप बंदोपाध्याय के नेतृत्व वाले टीएमसी संसदीय दल ने रविवार को राज्यपाल के ‘समानांतर प्रशासन' चलाने का मामला गृह मंत्री अमित शाह के सामने उठाया था.

धनखड़ और राज्य सरकार के बीच विभिन्न मुद्दों को लेकर जुबानी जंग चल रही है, जिसमें दुर्गा पूजा महोत्सव में बैठने की जगह से लेकर राज्यपाल की गैर-प्रस्तावित सिंगूर यात्रा का मुद्दा शामिल है. ताजा विवाद राज्य सरकार द्वारा धनखड़ को हेलीकॉप्टर उपलब्ध कराने से इनकार किये जाने से उत्पन्न हुआ है. धनखड़ को मुर्शिदाबाद में एक कार्यक्रम में भाग लेने के बाद शुक्रवार को शहर लौटना था.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें