बंगाल : बिना रिकॉर्ड के ही फैक्टरी में पड़े थे स्क्रैप हथियार, आरोपी भोला के साथ एसटीएफ की टीम पहुंची राइफल फैक्टरी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
जिस जगह से फैक्टरी से बाहर निकलता था हथियार, वह जगह दिखायी
कमरे में खिड़की के कटे रॉड को भी दिखाया, तीन रिवॉल्वर का सैंपल जब्त
कोलकाता : इच्छापुर राइफल फैक्टरी के स्क्रैप में निकले हथियारों की बिहार के माओवादियों को सप्लाई किये जाने के मामले में सोमवार को छह लोगों को गिरफ्तार करने के बाद मंगलवार को कोलकाता पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम इच्छापुर राइफल फैक्टरी में जांच के लिए पहुंची.
इस दौरान वहां से बाहर हथियारों का स्क्रैप निकालनेवाला आरोपी उमेश राय उर्फ भोला भी टीम के साथ था. डीसी (एसटीएफ) मुरलीधर शर्मा ने बताया कि फैक्टरी के अंदर स्क्रैप विभाग में भोला उनकी टीम को ले गया. वहां से कैसे अच्छी क्वालिटी के हथियारों का स्क्रैप वह बाहर निकालता था, जिस खिड़की का छड़ काटकर वह हथियारों को दीवार के दूसरी तरफ फेंक देता था, उस जगह में खिड़की को भी उसने दिखाया. इसके साथ स्क्रैप विभाग में कहां अच्छी क्वालिटी के स्क्रैप रखे जाते थे, उस जगह को भी भोला ने दिखाया.
एसटीएफ की टीम ने सैंपल के तौर पर स्क्रैप विभाग से कुल तीन हथियारों को जब्त किया है, जिससे जांच में यह साबित हो सके कि उनके द्वारा बाबूघाट से जब्त किया गया हथियार और यह हथियार दोनों इसी फैक्टरी में बने हैं. जांच में गयी एसटीएफ की टीम का कहना है कि यह देखकर हैरानी हुई कि कौन-सा हथियार का कितना स्क्रैप विभाग में पड़ा है, इसका कोई रिकार्ड वहां मौजूद नहीं था. उस विभाग के कुछ कर्मचारी पर पुलिस को संदेह हुआ. उससे पूछताछ की तैयारी हो रही है. भविष्य में उसके भी इस मामले में जुड़े होने का पता चला, तो उसे भी गिरफ्तार किया जा सकता है.
बिहार में साथियों के संग मिल कर धंधा चला रहा था अजय
कोलकाता. कोलकाता पुलिस के एसटीएफ की टीम के हाथों बाबूघाट से अन्य साथियों संग गिरफ्तार अजय पांडेय उर्फ गुड्डू पंडित अकेले नहीं अन्य साथियों की मदद से बिहार में हथियार सप्लाई का जाल फैला रखा था. प्राथमिक पूछताछ में उसने यह खुलासा किया है. उसने यह भी बताया है कि बिहार के अलावा उत्तर भारत में भी उग्रवादी संगठन के सदस्यों को वह इन साथियों की मदद से हथियारों की सप्लाई करता था.
एसटीएफ अब इस धंधे में शामिल अजय पांडेय के साथियों तक पहुंचने के लिए पटना पुलिस से संपर्क करेगी. जल्द इस मामले में कुछ और गिरफ्तारी के लिए एसटीएफ की टीम बिहार रवाना होगी. गुड्डू ने प्राथमिक पूछताछ में यह भी खुलासा किया कि कोलकाता से हथियार खरीदने के साथ उसके कुछ साथी इन हथियारों के कारतूस पंजाब के राइफल फैक्टरी से जुगाड़ करते थे. इसके कारण इन खुलासे के बाद एसटीएफ की टीम जल्द कुछ और आरोपियों को गिरफ्तार करने की तैयारी में जुटी है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें