1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election latest news bjp tmc activists clash in ahmadpur during election campaign many injured

Bengal Election News: अहमदपुर के चुनाव प्रचार के दौरान आपस में भिड़े BJP-TMC के कार्यकर्त्ता, कई घायल

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bengal Elections 2021
Bengal Elections 2021
Prabhat Khabar

पानागढ़: बीरभूम जिले के साईथिया थाना के साईथिया विधानसभा क्षेत्र के अहमदपुर के संग्रा ग्राम में गुरुवार दोपहर के समय भाजपा प्रत्याशी प्रिया साहा के नेतृत्व और समर्थन में चुनाव प्रचार के निकले जुलूस के दौरान भाजपा और तृणमूल कांग्रेस समर्थकों के बीच हुई मारपीट और तोड़फोड़ की घटना के बाद उक्त इलाके में आक्रोश और तनाव फैल गया.

घटना के बाद समूचे इलाके में परिस्थिति भयावह होने पर भारी संख्या में साईथिया और बोलपुर थाना से पुलिस बल उतारा गया है. इस दौरान दोनों ही दलों के नेता एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं. इस घटना में स्थानीय तृणमूल कांग्रेस के कार्यालय में तोड़फोड़ और कई बाइकों को निशाना बनाया गया. इस घटना को लेकर तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा पर बर्बरतापूर्ण हमला किये जाने का आरोप लगाया है.

भाजपा नेता हिमाद्रि मंडल के खिलाफ शिकायत की गयी है. घटना के संबंध में पुलिस और स्थानीय ग्रामीण ने बताया कि गुरुवार को दोपहर के आसपास इलाके में तनाव फैल गया. पुलिस की ओर से स्थिति को नियंत्रण में लाया गया. हालांकि, इस संबंध में भाजपा की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है. पता चला कि भाजपा प्रत्याशी प्रिया साहा के समर्थन में एक जुलूस आज दोपहर साईथिया विधानसभा में निकला था.

जैसे ही जुलूस तृणमूल पार्टी कार्यालय के सामने से गुजरा, तृणमूल समर्थकों ने भाजपा समर्थकों के साथ झड़प के बाद मारपीट शुरू हो गयी, तब गुस्साये भाजपा कार्यकर्ताओं ने लाठियों से हमला किया. काउंटर-रूप में तृणमूल कार्यकर्ताओं ने बांस के डंडे के साथ एक प्रतिरोध का गठन किया. देखते ही देखते यह क्षेत्र युद्ध के मैदान में तब्दील हो गया. स्थानीय तृणमूल कार्यकर्ताओं ने शिकायत की कि वे गुरुवार दोपहर अपने पार्टी कार्यालय में बैठक कर रहे थे. तभी, भाजपा के जुलूस में से लगभग 150 लोगों ने पार्टी कार्यालय पर ईंट-पत्थर फेंकना शुरू कर दिया. पार्टी कार्यालय के सामने खड़ी बाइक में तोड़फोड़ की गयी.

उन्होंने आरोप लगाया कि हमलावर शराब के प्रभाव में थे.तृणमूल कार्यकर्ताओं ने आगे आरोप लगाया कि पुलिस ने मूक दर्शकों के रूप में काम किया. हालांकि घटना के समय इलाके में पुलिस तैनात थी. फिर जब हमारे और कार्यकर्ता और समर्थक इकट्ठा हुए, तो भाजपा के लोग भाग गये और पुलिस भी घटनास्थल से चली गई.

Posted By: Aditi Singh

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें