इंडियन बॉटलिंग प्लांट बंद होने के कारण दक्षिण बंगाल में कई जिलाे में घरेलू गैस की किल्लत की आशंका

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नियुक्ति की मांग को लेकर दो दिनों से पुराने गार्ड परिवार संघ दे रहे हैं धरना

एक्स आर्मी के जवानों को आंदोलन कर रहे पुराने गार्डों ने रोका

इंडियन बॉटलिंग प्लांट में प्रदर्शनकारियों ने जड़ा ताला

दुर्गापुर : दुर्गापुर कोकोवेन थाना अंतर्गत इंडियन बॉटलिंग प्लांट (आईओसी) गेट के समीप छंटनी के खिलाफ सुरक्षा गार्डों का प्रदर्शन गुरुवार भी जारी रहा. 2 दिनों से प्लांट में गैस भराई लदाई एवं ट्रांसपोर्टिंग बंद हो जाने के कारण दक्षिण बंगाल के कई जिलों में गैस सप्लाई रुक गई है.

सप्लाई बंद हो जाने से डीलरों का पास स्टॉक खत्म हो रहा है. मामले का जल्द समाधान नहीं किया गया तो एक दो दिनों के भीतर लोगों को घरेलू गैस उपलब्ध नहीं हो पाएगा.

जिससे बांकुड़ा, पुरुलिया ,बर्दवान, वीरभूम के कई जिलों में गैस आपूर्ति बंद हो जाएगी. घटने की सूत्रपात पुराने गार्डों एवं प्रबंधन के बीच नियुक्ति को लेकर शुरू हुई है. प्रबंधन प्लांट की सुरक्षा का दायित्व दूसरी सुरक्षा एजेंसी को दे दी है एवं प्लांट के 34 पुराने गार्डों को हटाने का फरमान जारी कर दिया है.

जिसके खिलाफ पुराने गार्ड गेट के समीप अपने परिवार एवं बच्चों को लेकर धरना पर बैठ गए हैं. बुधवार प्लांट में नियुक्ति के लिए आए एक्स आर्मी जवानों को आंदोलन कर रहे पुराने गार्डों ने रोक दिया एवं गेट में ताला लगाकर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया. वर्ष के प्रथम दिन प्लांट में ताला लग जाने से शहर के लोगों को गैस आपूर्ति की किल्लत की संभावना बढ़ गई है.

प्रदर्शन कर रहे पुराने गार्डों का साफ तौर पर कहना है कि प्रबंधन को हर हाल में पुराने गार्डों की नियुक्ति करनी होगी अन्यथा हमलोगों का प्रदर्शन जारी रहेगा. प्रदर्शन कर रहे गार्ड कामेश्वर मिश्रा ने बताया कि विगत 30 वर्षों से 34 गार्ड प्लांट में सुरक्षा का काम कर रहे हैं. प्लांट में कोई भी सुरक्षा एजेंसी को ठेका मिलता था तो हमलोगों को ही काम पर रखा जाता था. लेकिन सुरक्षा एजेंसी बाहरी लोगों को नियुक्त करने का प्रयास कर रही है, जो गलत है.

इस बारे में निगम के बोरो चेयरमैन चंद्रशेखर बनर्जी ने साफ तौर पर कहा कि संगठन गार्डों के आंदोलन के साथ है. प्रबंधन को पुराने गार्डों की नियुक्ति को लेकर सोचना पड़ेगा. ऐसे बिना कारण लंबे अरसे से काम कर रहे गार्डों को हटाना अनुचित है. इस संदर्भ में प्रबंधन की ओर से कोई बयान नहीं दिया गया.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें