1. home Home
  2. state
  3. up
  4. lucknow
  5. up tourism minister neelkanth tiwari says deepotsav being celebrated in ayodhya will create a worldwide image of the country

Deepotsav in Ayodhya 2021 : लेजर शो से होगा रामायण जीवंत, बनेंंगे कई वर्ल्ड रिकॉर्ड

उत्तर प्रदेश के पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी ने कहा कि जिला पर्यटन विभाग के अधिकारी डीएम की देखरेख में राज्य भर के निर्वाचित ग्राम प्रधानों और ग्रामीण कुम्हारों से संपर्क करेंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ये 4.5 लाख से अधिक दीये (राज्य के 90,000 से अधिक गांवों में से प्रत्येक से पांच) मिल सकें.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
लेजर लाइट में भव्य रामायण का हेरिटेज लुक में शो दिखाया जाएगा.
लेजर लाइट में भव्य रामायण का हेरिटेज लुक में शो दिखाया जाएगा.
Twitter

Deepotsav in Ayodhya 2021 : उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग की ओर से अयोध्या में इस बार दीपावली के दीपोत्सव को पहले से और भी ज्यादा भव्य बनाने की कवायद चल रही है. इसे विश्वस्तरीय दर्जा दिलाने की सारी योजना बन चुकी है. प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश भर में दीपोत्सव-2021 मनाने का आयोजन किया जा रहा है. अयोध्या में तीन नवंबर को कुल 12 लाख दीये रोशन किये जाएंगे.

इस संबंध में जानकारी देते हुए आयोजन से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि इस बार दीपोत्सव 2021 वैश्विक पटल पर अविस्मरणीय बनाया जा रहा है. यह दीपोत्सव पांच दिवसीय होगा. इस बार सम्पूर्ण अयोध्या में 12 लाख दीपों का प्रज्जवलन किया जाएगा. इसके तहत राम की पैड़ी पर 9 लाख दीपों का प्रज्जवलन कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया जाएगा. वहीं, अयोध्या नगर क्षेत्र में 3 लाख दीपों का प्रज्जवलन किया जाएगा. इसके अलावा अयोध्या के तट रामायण की गाथा को भी अमर बनाया जाएगा. साथ ही, लेजर लाइट में भव्य रामायण का हेरिटेज लुक में शो दिखाया जाएगा. पांच दिवसीय दीपोत्सव को विश्व स्तर पर यादगार बनाए जाने का प्रयास किया जा रहा है.

प्रदेश के पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी ने कहा कि ये दीपोत्सव वैश्विक पटल पर अयोध्या को अमर कर देगा. इस त्योहार के मौके पर शहर को पर्यटकों के लिए सुरक्षित रखने से लेकर हर तरह की सुविधा का ध्यान रखा जा रहा है. आयोजन के लिए अयोध्या प्रशासन पूरी तरह से चौकसी बरत रहा है.

राज्य के 90,000 से अधिक गांवों से पहुंचेगा दीया : तीन नवंबर को दिवाली की पूर्व संध्या पर दीपोत्सव समारोह के दौरान उत्तर प्रदेश के हर गांव से पांच मिट्टी के दीपक अयोध्या को रोशन करने में मदद करेंगे. एक नवंबर से दीपोत्सव शुरू हो जाएगा. इसके लिए उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों के संबंधित जिलाधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का काम सौंपा गया है कि राज्य के 90,000 से अधिक गांवों में से प्रत्येक से पांच मिट्टी के दीपक समय पर अयोध्या पहुंचें.

...ताकि बन सके वर्ल्ड रिकॉर्ड : इस साल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घोषणा की है कि अयोध्या में दीपोत्सव पर 12 लाख दीये (मिट्टी के दीपक) जलाए जाएंगे. साथ ही, उत्तर प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में पीएम और सीएम की आवास योजनाओं के अनुमानित नौ लाख लाभार्थी अपने घर के बाहर एक-एक दीया जलायेंगे. इस दीपोत्सव में कम से कम 9 लाख दीये जलाने का लक्ष्य पूरा करने के लिए पर्यटन विभाग कम से कम 12 लाख मिट्टी के दीये जलाने की योजना बना रहा है ताकि 2022 के विधानसभा चुनावों से पहले आखिरी दीपोत्सव के दौरान एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाया जा सके.

अपने सरकारी आवास पर अयोध्या के दीपोत्सव कार्यक्रम में प्रज्ज्वलन हेतु गौमय दीपों को अयोध्या ले जाने वाले वाहन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करते सीएम योगी आदित्यनाथ.
अपने सरकारी आवास पर अयोध्या के दीपोत्सव कार्यक्रम में प्रज्ज्वलन हेतु गौमय दीपों को अयोध्या ले जाने वाले वाहन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करते सीएम योगी आदित्यनाथ.
Prabhat Khabar

वर्ष 2017 के बाद से योगी आदित्यनाथ सरकार अयोध्या में दीपोत्सव समारोह आयोजित कर रही है. इसकी शुरुआत उद्घाटन 51,000 दीयों से वर्ष 2019 में 4,04,226 मिट्टी के दीयों, वर्ष 2020 में 6,06,569 मिट्टी के दीयों तक होकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुई है. पर्यटन विभाग की ओर से मिली जानकारी के अनुसार दीपोत्सव समारोह के लिए राज्य के प्रत्येक गांव में पांच मिट्टी के दीपक देने का निर्णय में लखनऊ में आयोजित एक बैठक में राज्य स्तर पर लिया गया है. इस पहल के लिए जिलाधिकारियों को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है.

इस संबंध में पर्यटन मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार नीलकंठ तिवारी ने कहा कि यह एक स्वागत योग्य कदम है जो राज्य के सभी गांवों और जिलों को अयोध्या में समारोह का हिस्सा बनाया जाएगा. जिला पर्यटन विभाग के अधिकारी डीएम की देखरेख में राज्य भर के निर्वाचित ग्राम प्रधानों और ग्रामीण कुम्हारों से संपर्क करेंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ये 4.5 लाख से अधिक दीये (राज्य के 90,000 से अधिक गांवों में से प्रत्येक से पांच) मिल सकें. गांवों में प्रयागराज जिले के लगभग 2800, प्रतापगढ़ जिले के 2000 से अधिक, कौशांबी के 800 से अधिक और फतेहपुर जिले के 1300 से अधिक गांव शामिल हैं.

राम की पैड़ी पर होगा रामायण का ऐतिहासिक लेजर शो : अयोध्या के घाट पर हेरिटेज व रामायण का लेजर शो से इस साल अयोध्या में आयोजित दीपोत्सव समारोह के पांचवें संस्करण का मुख्य आकर्षण है. एक नवंबर से राम की पैड़ी में पांच दिवसीय समारोह को भव्य बनाने की तैयारी जोरों पर है. घाट एक राजसी स्थल में बदलेगा जिसमें रामायण का एक लेजर शो दिखाया जाएगा. इसे पूरी तरह से हेरिटेज लुक दिया जा रहा है और इसे रामायण की विभिन्न विशेषताओं के साथ चित्रित किया जा रहा है. इसके लिए राज्य सरकार ने मोजाटो नामक एक कंपनी को अनुबंधित किया है.

फ्रांसीसी कलाकर दे रहे नया रूप : दीपोत्सव समारोह के लिए सरयू घाट और राम कथा पार्क को भी नया रूप दिया जा रहा है. फ्रांसीसी कलाकार चिफुमी इन स्थानों के पास की दीवारों पर रामकथा को फिर से जीवंत कर रहे हैं. इस साल राज्य सरकार अयोध्या में दीपोत्सव का अंतिम संस्करण भव्य पैमाने पर चाहती है.

प्रत्येक मिट्टी के दीए के लिए 40 एमएल तेल : अयोध्या में तीन नवंबर को कुल 12 लाख दीये रोशन किये जाएंगे. पर्यटन विभाग राम की पैड़ी पर 9 लाख दीये एक साथ जलाकर गिनीज वर्ल्ड बनाया जाएगा. वहीं अयोध्या नगर में 3 लाख दीए जलाए जाएंगे. इस आयोजन को जज करने के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की एक टीम अयोध्या में होगी. विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए मिट्टी के एक दीया को कम से कम पांच मिनट तक जलाना होगा. इसके लिए आयोजकों ने प्रत्येक मिट्टी के दीए के लिए 40 मिलीलीटर (एमएल) तेल का उपयोग करने का निर्णय लिया है.

रिपोर्ट : नीरज तिवारी

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें