1. home Home
  2. state
  3. up
  4. lucknow
  5. mahapanchayat to farmers in muzaffarnagar today 300 farmers organizations will gather up police on alert aml

Kisan Mahapanchayat: आजादी का संघर्ष 90 साल चला, हमारा आंदोलन भी जारी रहेगा, राकेश टिकैत की हुंकार

मुजफ्फरनगर किसान महापंचायत के लिए तैयारी पूरी कर ली गयी है. किसानों के भोजन के लिए करीब 500 लंगर शुरू किये गये हैं. महापंचायत की व्यवस्था में 5000 से अधिक वॉलंटियर तैनात किये गये हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
किसान नेता राकेश टिकैत
किसान नेता राकेश टिकैत
Twitter

मुजफ्फरनगर किसान महापंचायत के लिए तैयारी पूरी कर ली गयी है. किसानों के भोजन के लिए करीब 500 लंगर शुरू किये गये हैं. महापंचायत की व्यवस्था में 5000 से अधिक वॉलंटियर तैनात किये गये हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

आजादी का संघर्ष 90 साल चला, हमारा आंदोलन भी जारी रहेगा : टिकैत

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि जब भारत सरकार हमें बातचीत के लिए आमंत्रित करेगी, हम जायेंगे. जब तक सरकार हमारी मांगें पूरी नहीं करती तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा. आजादी के लिए संघर्ष 90 साल तक चला, इसलिए मुझे नहीं पता कि यह आंदोलन कब तक चलेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

किसानों के समर्थन में आए वरूण गांधी, कहा- सम्मानजनक तरीके से बात हो

भाजपा नेता वरूण गांधी ने कहा कि मुजफ्फरनगर में आज लाखों किसान धरना प्रदर्शन में जुटे हैं. वे हमारे अपने ही हैं. हमें उनके साथ सम्मानजनक तरीके से फिर से जुड़ना शुरू करने की जरूरत है. उनके दर्द, उनके दृष्टिकोण को समझें और आम जमीन तक पहुंचने के लिए उनके साथ काम करें.

email
TwitterFacebookemailemail

यूपी पुलिस ने तैनात की 25 कंपनियां, 20 अधिकारी भी मौजूद

मुजफ्फरनगर में किसान महापंचायत पर यूपी एडीजी (कानून और व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि हमने सभी व्यवस्थाओं का आश्वासन दिया है. पीएससी की 25 कंपनियां और मेरठ जोन के तहत 20 अधिकारियों को तैनात किया गया है. हमने यातायात की सुचारू आवाजाही के लिए ट्रैफिक अलर्ट जारी किया. हम स्थिति की निगरानी कर रहे हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

रणसिंघा बजाकर शुरू हुआ किसानों का महापंचायत

किसान महापंचायत की शुरुआत रणसिंघा बजाकर की गयी. किसानों ने कहा कि पुराने समय में जब इज्जत मान सम्मान के लिए युद्ध लड़े जाते थे तो इसी यंत्र से आह्वान किया जाता था. आज भाजपा और कॉरपोरेट राज के खिलाफ समस्त किसान मजदूर ने युद्ध का आह्वान किया है.

email
TwitterFacebookemailemail

मुजफ्फरनगर पहुंचे राकेश टिकैत, सड़कों पर उमड़े किसान 

किसान महापंचायत में शामिल होने के लिए भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत मुजफ्फरनगर पहुंच गये हैं. उनके आगमन पर किसानों का हुजूम सड़कों पर उमड़ पड़ा.

email
TwitterFacebookemailemail

कृषि कानूनों की वापसी प्रमुख मुद्दा 

मुजफ्फरनगर में आज हो रही किसान महापंचायत में शामिल होने आयी एक महिला किसान ने कहा कि हम तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर यहां एकत्रित हुए हैं. हम प्रधानमंत्री से तीन कानूनों को वापस लेने का अनुरोध करते हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

महापंचायत के लिए देश भर से जुट रहे किसान 

मुजफ्फरनगर में किसान महापंचायत को लेकर देश भर से किसान यहां पहुंच रहे हैं. राकेश टिकैत का इंतजार हो रहा है. राकेश टिकैत यहां मंच से किसानों को संबोधित करने वाले हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

जब तक कानून वापसी नहीं, तब तक घर वापसी नहीं : टिकैत 

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि जब तक सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेती, तब तक हमारा आंदोलन चलते रहेगा. कानूनों की वापसी के बाद ही हम घर वापस लौटेंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

केंद्र सरकार की ओर से लाये गये 3 कृषि कानूनों के विरोध में आज किसानों का महापंचायत है. इस महापंचायत में 300 से अधिक किसान संगठनों के जुटने की उम्मीद की जा रही है. मुजफ्फरनगर में होने वाले इस किसान महापंचायत को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस अलर्ट पर है. महापंचायत में पंजाब, हरियाण और राजस्थान के अधिकतर किसान शामिल होने वाले हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

महापंचायत के लिए तैयारी पूरी कर ली गयी है. किसानों के भोजन के लिए करीब 500 लंगर शुरू किये गये हैं. महापंचायत की व्यवस्था में 5000 से अधिक वॉलंटियर तैनात किये गये हैं. 100 चिकित्सा शिविर लगाये गये हैं. इस महापंचायत का आयोजन जीआईसी ग्राउंड में किया जा रहा है. विपक्ष के कई नेताओं के भी इसमें शामिल होने की उम्मीद है.

email
TwitterFacebookemailemail

किसान नेताओं के हवाले से खबरें आ रही हैं कि पंजाब की किसान संगठनों ने किसानों पर किये गये झूठे मुकदमे वापस लेने के लिए पंजाब सरकार को आठ सितंबर तक का समय दिया है. इस महापंचायत के माध्यम से भाजपा और उसके सहयोगी दलों के खिलाफ विरोध स्वरुप काले झंडे भी दिखाये जायेंगे. संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा है कि हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और पंजाब में भाजपा नेताओं का विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

यूपी की योगी सरकार ने पुलिस को अलर्ट किया है. आज तक की रिपोर्ट के मुताबिक अपर पुलिस उपायुक्त (ट्रैफिक) रईस अख्तर खुद इस महापंचायत के वक्त वहां मौजूद रहेंगे. इसके साथ ही एसपी संजीव वाजपेयी, एसपी शिवराम यादव भी मौके पर तैनात होंगे. कई जिलों से पुलिस बल बुलाये गये हैं. किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पूरी तैयारी की गयी है.

email
TwitterFacebookemailemail

चुनाव से महापंचायत का कोई लेना देना नहीं

बता दें पंजाब, उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं. संयुक्त किसान मोर्चा ने एक बयान में कहा कि महापंचायत का चुनाव से कोई लेना देना नहीं है. किसी भी राजनीतिक दल या नेता को इस मंच का इस्तेमाल चुनावी रोटी सेंकने के लिए नहीं करने दिया जायेगा. महापंचायत में केवल किसानों के हित की बात होगी. सरकार से कई मांग किये जाने हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें