1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. lucknow
  5. corona virus latest news update in up uttar pradesh infected nepali person hospital baghpat arrested involved tabligi jamaat program

Coronavirus in UP : अस्पताल से भागा कोरोना संक्रमित गिरफ्तार, तबलीगी जमात में शामिल 36 लोगों के खिलाफ मुकदमा

By Samir Kumar
Updated Date

बागपत : उत्तर प्रदेश में बागपत जिले के खेकड़ा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से भागने वाले संक्रमित व्यक्ति को मंगलवार दोपहर पकड़ लिया गया और उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. तबलीगी जमात कार्यक्रम में शामिल हुआ नेपाली नागरिक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) से भाग गया था.

बागपत की जिलाधिकारी शकुंतला गौतम ने बताया कि ''फरार नेपाली नागरिक को सीएचसी के पास ही एक स्थान से मंगलवार दोपहर करीब दो बजे स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पकड़ लिया और उसे कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.'' गौतम ने बताया कि नेपाली व्यक्ति को पकड़ने के लिये पुलिस विभाग की दस टीमें लगायी गयी थी. इसके अलावा सोशल मीडिया पर उसका फोटो वायरल किया गया था.

सीएचसी के पास स्थित ईंट के भट्टे में काम करने वाले मजदूरों ने इस व्यक्ति की जानकारी दी. बागपत में कोरोना वायरस से संक्रमित मिला यह दूसरा व्यक्ति है जो दिल्ली में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में भाग लेने के बाद बागपत के रटौल गांव के एक मदरसे में ठहरा था.

मुख्य चिकित्साधिकारी आरके टंडन के अनुसार दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में देश-विदेश से आए लोगों ने तबलीगी जमात कार्यक्रम में हिस्सा लिया था. उनमें से नेपाल के रहने वाले 27 लोग रटौल आये थे. पुलिस ने सभी को बागपत के बालैनी में श्रीकृष्ण इंटर कालेज में बनाये गये पृथक वास केंद्र में भेज दिया था. इनमें से एक व्यक्ति की तबियत बिगड़ गयी थी. जांच में वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था.

उन्होंने बताया कि इसके बाद चार अप्रैल की रात को उसे खेकड़ा सीएचसी में भर्ती करा दिया गया था. वहां से वह सोमवार रात खिड़की तोड़कर फरार हो गया था. जिलाधिकारी शंकुतला गौतम ने कहा कि अस्पताल में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर जांच की जा रही है. मरीजों की निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगवाये जायेंगे.

कोविड-19 : तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल 36 लोगों के खिलाफ मुकदमा

बांदा : उत्तर प्रदेश के चार जिलों से तबलीगी जमात के इज्तिमा में शामिल हुए 36 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है और इन लोगों को पृथक वास में रखा गया है. चित्रकूटधाम परिक्षेत्र (मंडल) बांदा के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) दीपक कुमार ने मंगलवार को बताया, "दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के इज्तिमा में शिरकत कर लौटे बांदा में 32, चित्रकूट एवं महोबा में एक-एक और हमीरपुर में दो (कुल 36) लोगों को चिह्नित किया गया है.

उनके खिलाफ तथ्य छिपाने और प्रशासन को सूचना न देने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर उन्हें पृथक वास में रखा गया है. साथ ही विश्व स्तर पर इस्लामी तालीम के लिए चर्चित हथौरा गांव के जामिया अरबिया मदरसे के प्रबंधन के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है.

मदरसे के करीब छह सौ छात्रों को मदरसे में ही पृथक वास में रखा गया है और परिसर में पुलिस का पहरा लगा दिया गया है. इस मदरसे में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए बिहार और महाराष्ट्र के कई लोग छिपे पाये गये थे." कुमार ने बताया, "तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए 32 लोगों को बांदा के राजकीय मेडिकल कॉलेज के पृथक वार्ड में रखकर उनके नमूने जांच के लिए भेजे गये थे, जिनमें से दो को संक्रमित पाया गया था."

इस बीच बांदा के राजकीय मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. मुकेश यादव ने बताया, "जिन दो लोगों को संक्रमित पाया गया है, उनमें से 40 वर्षीय एक व्यक्ति (बांदा) की दोबारा सोमवार देर शाम आयी रिपोर्ट में उसे संक्रमण मुक्त पाया गया है. फिर भी अभी उसे चिकित्सकों की निगरानी में रखा जा रहा है. उसका तीसरा नमूना एक सप्ताह बाद किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) लखनऊ जांच के लिए भेजा जायेगा."

उन्होंने कहा, "दूसरे संक्रमित 53 वर्षीय व्यक्ति की दोबारा की गयी जांच की रिपोर्ट आज आने की संभावना है." डॉ. यादव ने बताया कि इस समय मेडिकल कॉलेज के पृथक वार्ड में कुल 45 लोग भर्ती हैं, इनमें अब तक आई 28 लोगों की रिपोर्ट में वे संक्रमित नहीं पाये गये हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें