1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum west
  5. jharkhand news malti groaning in labor pain not get an ambulance picked up her lap and carried it to the paved road by rural women smj

Jharkhand News : प्रसव पीड़ा से कराहती मालती को नहीं मिला एंबुलेंस, गोद में उठा कर पक्की सड़क तक पहुंचाया

पश्चिमी सिंहभूम में सड़कों की क्या स्थिति है ये मंझारी प्रखंड स्थित जोजोहातु गांव की तस्वीर देखकर बखूबी समझा जा सकता है. खराब सड़क के कारण एंबुलेंस नहीं आया और प्रसव पीड़ा से महिला कराहती रही. आखिरकार ग्रामीण महिलाओं ने गोद में उठा कर उसे दूर खड़े वाहन तक ले गयी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
एंबुलेंस नहीं आने पर प्रसव पीड़ा से कराहती मालती को गोद में उठा कर ले जाती ग्रामीण महिलाएं.
एंबुलेंस नहीं आने पर प्रसव पीड़ा से कराहती मालती को गोद में उठा कर ले जाती ग्रामीण महिलाएं.
सोशल मीडिया.

Jharkhand News (चाईबासा, पश्चिमी सिंहभूम) : झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिला अंतर्गत मंझारी प्रखंड के संग्रामबासा टोला की सड़क खराब होने के कारण अब मरीजों को भी खाट पर या गोद पर उठा कर ले जाने को बाध्य होना पड़ रहा है. ऐसा ही एक मामला सामने आया है. जोजोहातु गांव के संग्रामबासा टोला की सड़क खराब होने के कारण प्रसव पीड़ा से कराहती एक महिला को एंबुलेंस नहीं मिला पाया. मजबूरन ग्रामीण महिलाएं गोद में उठा कर वाहन तक पहुंचाया. वहीं, सदर हॉस्पिटल पहुंचने पर महिला ने बच्ची को जन्म दिया.

क्या है मामला

मंझारी ब्लॉक अंतर्गत इपिलसिंगी पंचायत स्थित जोजोहातु गांव के संग्रामबासा टोला की एक महिला मालती तामसोय को प्रसव पीड़ा हुआ. लेकिन, गांव की सड़क खराब होने के कारण चार पहिया वाहन बमुश्किल ही पहुंच पाता है. बारिश के दिनों में तो इस गांव में कोई भी चार पहिया वाहन लेकर आना नहीं चाहता. ऐसे में सबसे ज्यादा मरीजों व गर्भवती महिलाओं को परेशानी उठानी पड़ती है.

बारिश की वजह से कीचड़मय हो चुकी जर्जर सड़क के कारण ही बीते दिन गांव की मालती तामसोय के लिए परेशानी का सबब बन गया. दरअसल, मालती तामसोय गर्भवती थी और प्रसव पीड़ा से कराह रही थी. बारिश के कारण गांव की सड़क कीचड़मय हो जाने के कारण यहां कोई भी चार पहिया वाहन लेकर आने से बचता रहा.

इस दौरान मालती के परिजन ने उसे हॉस्पिटल पहुंचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग से एंबुलेंस उपलब्ध कराने के लिए कई बार मोबाइल के माध्यम से संपर्क करना चाहा, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया. ना ही एंबुलेंस पहुंची. ऐसे में परिजनों को निजी वाहन मंगानी पड़ी. जैसे यह निजी वाहन गांव के पास पहुंची. कीचड़ युक्त सड़क पर फंस गयी. ऐसे में प्रसव पीड़ा से कराह रही मालती तामसोय को गांव की महिलाओं ने गोद में उठाकर वाहन तक पहुंचाया. इसके बाद ही वह सदर हॉस्पिटल पहुंच पायी, जहां उसने एक स्वस्थ्य बच्ची को जन्म दिया.

इधर, प्रसव पीड़ा से परेशान गर्भवती महिला को गोद में उठाकर कार तक पहुंचाने की खबर सामने आने के बाद मझगांव के विधायक निरल पूर्ति ने मामले को गंभीरता से लिया है. उन्होंने बरसात के बाद सड़क बनवाने की बात कही है. पत्रकारों से बात करते हुए इस घटना को राजनीतिक साजिश करार दिया है. बताया कि आम तौर पर मरीज को गांव में खाट पर लिटा कर वाहन तक ले जाया जाता है.

उन्होंने जोजोहातु गांव में सड़क होने का दावा करते हुए कहा कि लगातार हो रही बारिश के कारण सड़क खराब हो गयी है. इस वजह गांव के लोगों को परेशानी हुई है. इसके लिए उन्होंने खेद भी जताया. साथ ही कहा कि बरसात खत्म होते ही सड़क बनाने का काम किया जायेगा. साथ ही यह भी दावा किया कि मझगांव विधानसभा क्षेत्र की सड़कों की स्थिति जिले में सबसे अच्छी है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें