1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum west
  5. jharkhand cm hemant soren demands state urdu teachers association government to declare teachers as frontline warriors too smj

झारखंड CM हेमंत सोरेन से राज्य उर्दू शिक्षक संघ की मांग, शिक्षकों को भी फ्रंटलाइन वॉरियर्स घोषित करे सरकार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
झारखंड उर्दू शिक्षक संघ की वर्चुअल मीटिंग में शिक्षकों को फ्रंटलाइन वॉरियर्स घोषित करने की मांग.
झारखंड उर्दू शिक्षक संघ की वर्चुअल मीटिंग में शिक्षकों को फ्रंटलाइन वॉरियर्स घोषित करने की मांग.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (चक्रधरपुर, पश्चिमी सिंहभूम) : झारखंड राज्य उर्दू शिक्षक संघ की वर्चुअल मीटिंग रविवार को हुई. जिसमें पूरे राज्य के शिक्षक प्रतिनिधि भाग लिये. करीब 2 घंटे तक चली उक्त मीटिंग में कई प्रस्ताव पारित किये गये. सर्वसम्मति से तय किया गया कि शिक्षकों को भी फ्रंटलाइन वाॅरियर्स का दर्जा देने के लिए सरकार से मांग की जायेगी. यदि सरकार शिक्षकों को फ्रंटलाइन वाॅरियर्स घोषित नहीं करती है, तो सेकेंड लाइन वॉरियर्स घोषित करे और वह तमाम सुविधाएं एवं लाभ प्रदान करे, जो वाॅरियर्स को दिये जाते हैं.

वर्चुअल मीटिंग में तय किया गया कि कोविड-19 का शिकार होकर मृत होने वाले शिक्षक-शिक्षिकाओं की सूची तैयार की जायेगी और जिला स्तर पर जिला शिक्षा अधीक्षक के माध्यम से राज्य स्तर पर मुआवजा एवं लाभ प्रदान करने के लिए सूची भेजी जायेगी. इसके साथ ही ऑनलाइन शिक्षा डीजी-7 में उर्दू भाषा का भी कांटेंट शामिल करने की मांग रखी जाएगी. गाइडलाइन के अनुसार, वैसे शिक्षक-शिक्षिका जिसकी आयु 50 साल से अधिक हो चुकी है, उन्हें कोविड-19 के ड्यूटी से मुक्त रखने की मांग रखी जायेगी.

आगामी जून माह में होने वाले शिक्षकों के संभावित स्थानांतरण को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार से मांग की जायेगी कि उर्दू विद्यालयों में उर्दू भाषा में नियुक्त होने वाले या उर्दू भाषा के जानकार शिक्षकों को ही स्थानांतरित किया जाये. संगठनात्मक चर्चा करते हुए तय हुआ कि प्रत्येक सप्ताह जिला स्तर पर संगठन में शामिल शिक्षकों की वर्चुअल मीटिंग की जाए और राज्य स्तर पर हर 15 दिन में वर्चुअल मीटिंग हो.

लॉकडाउन खत्म होने के बाद रांची में केंद्रीय समिति की बैठक बुलाई जायेगी, जिसमें संगठन के संदर्भ में निर्णय लिए जायेंगे. जिन जिलों में अब तक कमेटी गठित नहीं की गयी है, लॉकडाउन खत्म होने के बाद वहां कमेटी गठन करने का निर्णय लिया गया.

वर्चुअल मीटिंग की अध्यक्षता केंद्रीय अध्यक्ष शरीफ अहसन मज़हरी और संचालन केंद्रीय महासचिव अमीन अहमद ने किया. इस मौके पर मुख्य रूप से नाजिम अशरफ, राकिम अहसन, अब्दुल गफ्फार, साबिर अहमद, शाहनवाज, मोहम्मद रिजवान अंसारी, मोहम्मद शमीम अहमद अंसारी, जियाउद्दीन हैदर, इनामुल हक, खालिदा बेगम, मोहम्मद फखरुद्दीन, तौहीद आलम, वहाब अंसारी, इमरोज अंसारी, मुफीद आलम, रेहान अख्तर, मोहम्मद रिजवान अंसारी, मोहम्मद फखरुद्दीन, मुख्तार अंसारी, अब्दुल मजीद खान, मोहम्मद जमीर उद्दीन अंसारी, तसनीम सबा, गुलाम अहमद, मोहम्मद शहाबुद्दीन, अमीन अंसारी, मकसूद जफर हादी, कमर रशीद, शहला बेगम रजा, अलबाब तराना, मुशाहेदा अंजुम, शीन अनवर आदि शामिल थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें