सारधा ग्रुप ने झारखंड के लोगों से करोड़ों ठगा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची: कोलकाता की चिट फंड कंपनी सारधा ग्रुप ऑफ कंपनीज ने झारखंड के लोगों से भी करोड़ों की ठगी की थी. कंपनी का रातू रोड स्थित ऑफिस 18 अप्रैल से बंद है. कंपनी के मालिक सुदीप्त सेनगुप्ता के साथ झारखंड प्रभारी के रूप में काम कर रहे अरविंद सिंह चौहान को पुलिस ने मंगलवार को श्रीनगर के सोनमर्ग से गिरफ्तार किया है.

कंपनी झारखंड में सारधा रियलिटी इंडिया लिमिटेड के नाम से कार्य करती थी. दो साल में पैसे दोगुना करने का दावा करती थी. कंपनी के एजेंट प्रतिदिन या मासिक किस्त के तौर पर पैसे जमा करवाते थे. कंपनी ने रामनवमी के अवसर पर 18 से 20 अप्रैल तक छुट्टी की सूचना कार्यालय के बाहर चिपकाया था. पर निर्धारित समय के बाद भी कार्यालय नहीं खुला. कंपनी ने बिहार में भी कार्यालय खोल रखा था.

रांची के होटल में ठहरा था मालिक : कंपनी के मालिक सुदीप्त सेनागुप्ता श्रीनगर में गिरफ्तारी से पूर्व रांची में एक बड़े होटल में ठहरा था. वह 11 अप्रैल को देवजानी मुखर्जी और अरविंद सिंह के अलावा चालक बापी के साथ कोलकाता से रांची पहुंचा था. रांची में गिरफ्तारी के डर से वह स्कॉरपियो से ही श्रीनगर चला गया. तीनों 15 अप्रैल को श्रीनगर पहुंचे थे. वहां पहुंच कर चालक को छोड़ दिया था. बताया जाता है कि चालक बापी ने ही पुलिस को उनके श्रीनगर पहुंचने की सूचना दी थी.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें