जो चाहिए ले लें, लेकिन सुबह सात बजे तक हमें शहर की सड़कें चकाचक दिखनी चाहिए

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रांची: शहर की सफाई व्यवस्था से खिन्न होकर नगर आयुक्त शांतनु अग्रहरि ने मंगलवार देर रात को सिटी मैनेजर, जमादार और सुपरवाइजरों के साथ बैठक की. बैठक शुरू होते ही नगर आयुक्त ने कहा : मैं किसी से कोई सवाल-जवाब करने नहीं आया हूं. मुझे शहर साफ चाहिए. इसके लिए अगर किसी को अतिरिक्त संसाधन की जरूरत है, तो वह हमसे ले ले, लेकिन सुबह सात बजे तक हमें शहर की सभी सड़कें चकाचक दिखनी चाहिए.

नगर आयुक्त ने सिटी मैनेजरों की कार्यशैली पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि आप लोगों का अधिकतर समय ऑफिस में ही गुजरता है. आपलोगों ने फिल्ड विजिट करना बंद कर दिया है. इसलिए बुधवार सुबह से प्रतिदिन आप कम से कम पांच सड़कों की सफाई-व्यवस्था का जायजा लेंगे. अगर किसी के मन में यह बात घर कर गयी है कि वह कार्यालय में बैठकर ही तनख्वाह उठायेगा, तो वह अपनी सोच बदल ले. ऐसे लोगों को हम तनख्वाह नहीं दे सकते हैं.

नगर आयुक्त ने ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने का आदेश दिया, जो कचरे को डस्टबिन में नहीं डालकर नाली या खुले स्थानों पर फेंकते हैं. आयुक्त ने कहा कि ऐसे लोगों को चिह्नित कर उनसे सख्ती से जुर्माना वसूलें.
कचरा सड़क पर मिले, तो उसे बिन बैग में इकट्ठा करें : नगर आयुक्त ने सुपरवाइजरों से कहा कि वे भी सड़कों की मॉनीटरिंग करें. अगर उन्हें कहीं पर कूड़े का ढेर दिखे, तो वे उसे बिन बैग (काले पॉलिथीन) में इकट्ठा कर सड़क के किनारे रखवाएं. ताकि कचरा वाहन उस पॉलिथीन को उठाकर ले जाये. इसके अलावा नगर आयुक्त ने सभी कचरा ढोनेवाले वाहनों को तिरपाल से ढंक कर चलने का आदेश दिया है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें