1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jharkhand chamber puts emphasis to promote local products in festive season know what is the way smj

फेस्टिव सीजन में लोकल प्रोडक्ट्स को बढ़ावा देने के लिए झारखंड चैंबर ने लगाया जोर, जानिये क्या है तरीका...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : त्योहारी सीजन में स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने की झारखंड चैंबर की लोगों से अपील.
Jharkhand news : त्योहारी सीजन में स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने की झारखंड चैंबर की लोगों से अपील.
फाइल फोटो.

Jharkhand news, Ranchi news : रांची : फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर ऑफ काॅमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने त्योहारी सीजन दीपावली, छठ आदि में स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने की अपील लोगों से की है, ताकि कोविड-19 के कारण प्रभावित व्यापार को कुछ राहत मिल सके. इससे न सिर्फ वोकल फॉर लोकल को बढ़ावा मिलेगा, बल्कि छोटे और मध्यम वर्गीय व्यापारियों के चेहरे पर भी मुस्कान दिखेगी.

झारखंड चैंबर अध्यक्ष कुणाल अजमानी एवं महासचिव धीरज तनेजा ने संयुक्त रूप से दीपावली से पहले देशवासियों से स्थानीय उत्पादों को बढावा देने के प्रधानमंत्री के आह्वान लोकल फाॅर दीपावली पर खुशी जाहिर की. इससे अर्थव्यवस्था में गति आयेगी. उन्होंने लोगों से छोटी खरीदारी करने, स्वतंत्र खरीदारी करने तथा स्थानीय दुकानदारों से अपनी जरूरत की वस्तुओं को खरीदकर अर्थव्यवस्था को गति देने में सहयोग करने की अपील की.

उन्होंने कहा कि केवल समाज के स्थानीय या छोटे दुकानदारों से सामान खरीदने से एक ओर जहां व्यापारियों को इस वैश्विक आर्थिक संकट के समय में अपने व्यवसाय में जीवित रहने की ताकत मिलेगी, वहीं व्यापारियों के साथ जुड़े लाखों लोगों की आजीविका भी बनी रहेगी. हर व्यक्ति अगर स्थानीय दुकानों से सामान खरीदेगा एवं उसके बारे में चर्चा करेगा, तो उसे बनानेवालों की दीपावली और रोशन हो जायेगी.

चैंबर अध्यक्ष ने कहा कि राज्य के कई युवा जिन्होंने स्टार्टअप शुरू किया है उन्हें सहयोग करते हुए प्रोत्साहित करना हम सभी का दायित्व है. अगर हम उनकी बनायी चीजें लेते हैं, तो इससे उनका हौसला बुलंद होगा. दूसरी ओर, चैंबर ने दुकानदारों से भी आॅनलाइन की तर्ज पर ग्राहकों को छूट का लाभ देने की अपील की है, ताकि लोग स्थानीय दुकानों से खरीदारी करने को आकर्षित हो सकें. उन्होंने कहा कि अगर बाजार में खुद को बनाये रखना है, तो इस तरह के उपाय करना आवश्यक है.

उन्होंने यह भी कहा कि अनलाॅक के बाद कंटेनमेंट जोन को छोड़ कर राज्य के अन्य स्थानों पर सभी आर्थिक गतिविधियां शुरू हो चुकी है, ऐसे में राज्य सरकार द्वारा भी व्यापार एवं उद्योग जगत को प्रोत्साहन देने की पहल की जाये. सरकार को स्टेकहोल्डर्स को विश्वास में लेकर योजनाओं को गति देनी चाहिए तथा उनकी कठिनाइयों के समाधान के लिए तकनीक विकसित करने पर विचार करना चाहिए, ताकि राज्य के राजस्व संग्रह में उत्तरोत्तर वृद्धि हो सके.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें