29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

एमजीएम मेडिकल कॉलेज : आरोपी पांच छात्राओं को चेतावनी देकर छोड़ा

एमजीएम कॉलेज: रैकिंग, शराब,गाली गलौज को लेकर शिकायत की एसडीओ, डीएसपी,एंटी रैगिंग सेल, कॉलेज प्रबंधन ने पांच घंटे बैठक कर समस्या से निपटने की माथा पच्ची

-प्रिंसिपल ने कॉलेज की एंटी रैगिंग कमेटी के साथ की बैठक, जांच में रैगिंग की नहीं हुई पुष्टि

मुख्य संवाददाता, जमशेदपुर

गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज में जूनियर के साथ रैगिंग करने, खुलेआम शराब पीने, दुर्व्यवहार की शिकायत की सोमवार को धालभूम एसडीओ पारुल सिंह, कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ केएन सिंह, डीएसपी, एंटी रैगिंग सेल, कॉलेज प्रबंधन ने पांच घंटे बैठक कर समस्या से निपटने पर विचार-विमर्श किया. मालूम हो कि गत 9 अप्रैल 2024 को एमजीएम के गर्ल्स हास्टल में 2021 सीनियर बैच व 20 22 बैच जूनियर बैच के छात्राओं के बीच विवाद हुआ था.

जूनियर ने सीनियर छात्राओं पर रैगिंग करने का आरोप लगाते हुए इंडियन मेडिकल कमीशन से शिकायत की थी. नेशनल मेडिकल कमीशन ने एमजीएम प्रिंसिपल को पत्र लिखकर इस संबंध में रिपोर्ट मांगी थी, इस आलोक में सोमवार को एमजीएम कालेज के प्रिंसिपल ने कॉलेज की एंटी रैगिंग कमेटी के साथ बैठक की. बैठक में रैगिंग की पुष्टि नहीं हुई, लेकिन सीनियर छात्राओं द्वारा जूनियर को परेशान, दुर्व्यवहार करने, कॉलेज में अनुशासन का मामला माना. आरोपी पांच छात्राओं के अभिभावकों से लिखित लेकर और आरोपी को अंतिम चेतावनी देकर छोड़ा गया. बैठक के उपरांत धालभूम एसडीओ पारुल सिंह ने बताया कि कॉलेज से सीनियर छात्राओं द्वारा जूनियर छात्राओं के रैगिंग करने समेत अन्य कई शिकायत मिली थी, लेकिन यह मामला रैगिंग का नहीं था. सीनियर छात्राओं द्वारा जूनियर छात्राओं से दुर्व्यवहार करने व कॉलेज में अनुशासन तोड़ने का था.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें