1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. hazaribagh
  5. jharkhand crime news shooter avtar singh reached hazaribagh on transit remand from jammu accused of killing gangster sushil srivastava smj

Jharkhand Crime News : जम्मू से ट्रांजिट रिमांड पर हजारीबाग पहुंचा शूटर अवतार सिंह, गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव समेत उसके दो गुर्गे की हत्या करने का आरोप

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
जम्मू से टांजिट रिमांड पर हजारीबाग पहुंचा शूटर अवतार सिंह, पूछताछ के बाद जेपी सेंट्रल जेल गया.
जम्मू से टांजिट रिमांड पर हजारीबाग पहुंचा शूटर अवतार सिंह, पूछताछ के बाद जेपी सेंट्रल जेल गया.
फाइल फोटो.

Jharkhand Crime News (शंकर प्रसाद, हजारीबाग) : गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव और इसके दो गुर्गे को एके-47 राइफल से हजारीबाग व्यवहार न्यायालय परिसर में गोली से छलनी करने वाले शूटर अवतार सिंह को जम्मू से ट्रांजिट रिमांड पर हजारीबाग लाया गया है. हजारीबाग सदर पुलिस ने पूछताछ कर अप्राथमिक अभियुक्त अवतार सिंह को जेपी सेंट्रल जेल भेज दिया गया.

जम्मू से ट्रांजिट रिमांड पर अवतार सिंह को हजारीबाग लाने के लिए तीन दारोगा और एक इंस्पेक्टर की टीम जम्मू गयी. पकड़े गये शूटर अवतार से हजारीबाग की पुलिस ने गहन पूछताछ किया. सदर पुलिस के अनुसार, आरोपी अवतार सिंह ने गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव की हत्या करने की बात स्वीकार किया है.

शूटर अवतार सिंह को जम्मू पुलिस 8 जून को किया गिरफ्तार

लूटपाट मामले में जम्मू के साम्बा थाना पुलिस ने लूटपाट मामले में शूटर अवतार सिंह को 8 जून, 2021 को गिरफ्तार किया गया था. जम्मू पुलिस की पूछताछ में अवतार सिंह ने पुलिस के समक्ष खुलासा किया कि वह हजारीबाग व्यवहार न्यायालय परिसर में गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव और उसके दो गुर्गे को एके-47 राइफल से गोली मारी थी. जिसमे गैंगस्टर समेत तीन लोग मारे गये थे. सुशील श्रीवास्तव की हत्या करने के लिए पांडेय गिरोह के विकास तिवारी ने उसे 40 लाख रुपये की सुपारी दी थी.

कौन है अवतार सिंह

शूटर अवतार सिंह सेना में कंमांडो पद पर कार्यरत थे. वह जम्मू और पंजाब के सीमांत एरिया के उधमपुर जिले के रहनेवाला है. पुलिस के अनुसार उसने वर्ष 2016 में वॉलंटियर रिटायरमेंट लिया था.

क्या है मामला

2 जून, 2015 को सुबह 11 बजे पेशी के लिए न्यायलय में जाने के क्रम में व्यवहार न्यायालय परिसर में गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव और उसके दो सहयोगियों को एके-47 राइफल से अंधाधुंध फायरिंग कर हत्या कर दिया था. गैंगस्टर सुशील की हत्या कराने की जिम्मेवारी पांडेय गिरोह के गैंगस्टर विकास तिवारी ने लिया था. यह मामला हजारीबाग सदर थाना में मामला दर्ज है. इस मामले के पांच आरोपी जेल में सजा काट रहे हैं.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें