1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. garhwa
  5. officials should work to bring prosperity in life of villagers agriculture minister of jharkhand badal patralekh said in garhwa mtj

ग्रामीणों के जीवन में खुशहाली लाने के लिए काम करें अधिकारी, गढ़वा में बोले कृषि मंत्री बादल पत्रलेख

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने अलग-अलग विभागों की समीक्षा की.
कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने अलग-अलग विभागों की समीक्षा की.
Prabhat Khabar

गढ़वा (पीयूष तिवारी) : सरकारी योजनाओं को धरातल पर उतारकर अधिकारी व कर्मचारी ग्रामीणों के जीवन में खुशहाली तथा परिवर्तन लायें. ये बातें झारखंड के कृषि पशुपालन एवं सहकारिता मंत्री बादल पत्रलेख ने कही़ं उन्होंने अपने एक दिवसीय दौरे के क्रम में परिसदन भवन गढ़वा के सभागार में जिले के पदाधिकारियों के साथ बैठक की़

बैठक में मंत्री ने कृषि, पशुपालन, मत्स्य, सहकारिता सहित अन्य विभागों की ओर से संचालित योजनाओं की जानकारी ली़ सरकार द्वारा चलायी जा रही सभी जन कल्याणकारी योजनाओं की भौतिक प्रगति रिपोर्ट देखी तथा आने वाले तीन महीने का वर्क प्लान पदाधिकारियों को दिया़

बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी लक्ष्मण उरांव ने मंत्री को बताया कि अब तक जिले के 2,65,104 किसानों का पीएम किसान योजना के तहत निबंधन किया गया है़ 2,206 किसानों को केसीसी कार्ड दिया गया है़ इस पर मंत्री ने उन्हें शत-प्रतिशत किसानों को केसीसी कार्ड उपलब्ध कराने का निर्देश दिया़

मंत्री ने कृषि विज्ञान केंद्र और कृषि महाविद्यालय के संचालन के बारे में भी जानकारी ली़ उन्होंने कृषि पदाधिकारी को भंडरिया प्रखंड में नर्सरी का विकास करने का निर्देश दिया़ जिला सहकारिता पदाधिकारी ने बताया कि अब तक सहकारिता विभाग द्वारा गढ़वा जिले के लैम्पस/पैक्स को 999.87 मीट्रिक टन यूरिया का आवंटन किया जा चुका है़

इसके अलावा सभी पैक्स अध्यक्षों को निर्देश दिया गया है कि वे समिति के बैंक खाता से इफको के खाते में राशि का हस्तांतरण करेंगे़ सभी सहकारिता प्रसार पदाधिकारी व प्रखंड सहकारिता प्रसार पदाधिकारियों से कहा गया है कि वे समिति के भंडार पंजी एवं बिक्री पंजी का संधारण करें तथा सभी समितियां ई-पॉस मशीन से ही उर्वरक की बिक्री करना सुनिश्चित करे़ं

उन्होंने जिला सहकारिता पदाधिकारी को निर्देश दिया कि आगामी तीन माह में वे सभी प्रखंड में पांच-पांच मिल्क को-ऑपरेटिव सोसाइटी का निर्माण करवाना सुनिश्चित करें, ताकि दूध की डंपिंग का कार्य आसानी से किया जा सके़ इसी संदर्भ में उन्होंने गव्य विकास पदाधिकारी को रूट चार्ट तैयार करने का निर्देश दिया़

पशुओं का अधार कार्ड बनाने में तेजी लाने का निर्देश

पशुपालन विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए कृषि मंत्री ने राज्य में चलाये जा रहे वैक्सीनेशन प्लान में गढ़वा जिला की स्थिति की समीक्षा की़ उन्होंने जिला पशुपालन पदाधिकारी को जिला भर के दूरस्थ क्षेत्रों के पशुओं का आधार कार्ड व स्वास्थ्य कार्ड बनाने में तेजी लाने का निर्देश दिया.

मत्स्य विभाग की समीक्षा के क्रम में जिला मत्स्य पदाधिकारी ने बताया कि अब तक 3,350 स्पान का वितरण 173 लोगों के बीच 90 प्रतिशत अनुदान पर किया जा चुका है़ उन्हें इसके साथ ही फीड और जाल नि:शुल्क दिया गया है़ मंत्री ने उन्हें केज कल्चर जो कि चिनिया प्रखंड के चिरका जलाशय में स्थित है, उसमें मछली का उत्पादन केज कल्चर के माध्यम से करने तथा उसे बढ़ावा देने का निर्देश दिया़

दुग्ध सहकारी समिति का गठन होगा

कृषि मंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में जिले में दुग्ध सहकारी समिति का भी निर्माण होना है़ इसके लिए वे कदम आगे बढ़ा रहे हैं. दो हजार करोड़ की ऋण माफी की योजना भी सरकार द्वारा चलायी जा रही है़ अगले साल से 25 मई को बीज दिवस मनाने का निर्देश कृषि पदाधिकारी को दिया गया है़

इस अवसर पर मंत्री ने किसानों के बीच सरसों का मिनी किट भी वितरित किया. बैठक में डीडीसी सत्येंद्र नारायण उपाध्याय, जिला कृषि पदाधिकारी लक्ष्मण उरांव, जिला सहकारिता पदाधिकारी अमिता कुमारी, जिला पशुपालन पदाधिकारी धनिक लाल मंडल, जिला भूमि संरक्षण पदाधिकारी रामाश्रय राम, जिला मत्स्य पदाधिकारी दिव्या गुलाब बा व अन्य उपस्थित थे़

प्रभात खबर की रिपोर्ट पर कृषि मंत्री ने लिया संज्ञान

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने खरौंधी प्रखंड में सूखे की स्थिति पर विशेष रूप से चर्चा की़ इस संबंध में उन्होंने प्रभात खबर में छपी रिपोर्ट को दिखाते हुए खरौंधी प्रखंड में सूखे की स्थिति पर संवेदनशील होकर राहत कार्य चलाने का निर्देश दिया़ मंत्री ने कहा कि खरौंधी प्रखंड की नौ पंचायतों व केतार प्रखंड की एक पंचायत में सूखे की स्थिति देखी जा रही है़ इसको लेकर कृषि विभाग संवेदनशील है़

उन्होंने कृषि पदाधिकारियों को एक समिति बनाकर इसकी जांच करने का निर्देश दिया़ उन्होंने कहा कि ऐसे क्षेत्रों की रिपोर्ट तैयार करें. रिपोर्ट तैयार होने के बाद राहत कोष से ऐसे लोगों को मुआवजा दिया जायेगा.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें