1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. jharkhand news an elderly woman in kendua at dhanbad buried in the cave of goph the son saved the mother fell in a 10 feet pit smj

गोफ की खोह में समायी धनबाद के केंदुआ में एक बुजुर्ग महिला, बेटे ने 10 फीट गड्ढे में गिरी मां को बचाया

धनबाद के केंदुआडीह स्थित राजपूत बस्ती में अचानक जमीन धंसने से एक बुजुर्ग महिला गोफ में समा गयी. हालांकि, तत्काल बेटे ने 10 फीट गहरे गड्ढे से मां को बाहर निकाला. अचानक जमीन धंसने से क्षेत्र के लोग दहशत में हैं. घायल महिला को बेहतर इलाज के लिए सेंट्रल हॉस्पिटल, धनबाद रेफर कर दिया गया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
धनबाद के केंदुआडीह स्थित राजपूत बस्ती में बना गोफ. बुजुर्ग महिला समायी. बेटे ने बचायी जान.
धनबाद के केंदुआडीह स्थित राजपूत बस्ती में बना गोफ. बुजुर्ग महिला समायी. बेटे ने बचायी जान.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (धनबाद) : धनबाद जिला अंतर्गत केंदुआडीह राजपूत बस्ती में आनंद सिंह के घर के समीप 25 फीट गुणा 15 फीट के दायरे में अचानक जमीन धंस गयी. इस गोफ में आनंद की मां आशा देवी (70 वर्ष) गिर गयीं. हालांकि, बेटे आनंद ने स्थानीय लोगों के सहयोग से अपनी मां को बचा लिया.

बताया गया कि गुरुवार की सुबह आशा देवी जिउतिया पर्व का पारण करने के लिए चूल्हा पर खाना पका रही थी. तभी चूल्हे के समीप से लेकर राजेश सिंह के पॉल्ट्री फार्म के आधे हिस्से की जमीन धंस गयी. जमीन के धंसते ही यहां 10 फीट गहरा गड्ढा बन गया. आशा देवी इसी गड्ढे में गिर गयी.

गहरे गोफ में गिरते ही आशा ने चिल्लाना शुरू किया. आवाज सुनकर पड़ोसी ललिता देवी, आनंद व बस्ती के अन्य लोग पहुंचे. तत्काल आशा देवी के बेटे आनंद भी गड्ढे में उतर गये. सूचना पर केंदुआडीह पुलिस बस्ती पहुंची और घायल महिला को इलाज के लिए क्षेत्रीय अस्पताल कुस्तैर ले गयी. यहां प्राथमिक उपचार के बाद सेंट्रल हॉस्पिटल, धनबाद रेफर कर दिया गया.

इनके घरों में पड़ी दरार

भू-धंसान से सागर सिंह, भीम सिंह, कुंज बिहारी सिंह और लाल बहादुर सिंह के घरों में दरार पड़ गयी है. इस संबंध में राजेश सिंह ने कहा कि पॉल्ट्री फार्म का आधा हिस्सा धंसने से मुर्गी के बच्चे और मुर्गियों के दाने सहित करीब डेढ़ लाख रुपये का नुकसान हुआ है.

वहीं, स्थानीय लोगों ने बताया कि लाल बहादुर सिंह और सागर सिंह के घर के समीप सहित चार जगहों पर पहले भी गोफ बन चुका है. कुंज बिहारी सिंह ने कहा कि गंसाडीह तीन नंबर बस्ती और केंदुआ राजपूत बस्ती के बीच गोफनुमा बड़े गड्ढे में बारिश से हुआ जलजमाव बस्ती में भू-धंसान का बड़ा कारण है.

गोपालीचक बस्ती के पीओ जीके मेहता ने कहा कि करीब 40 से अधिक भू-धंसान की घटनाएं घटित हो चुकी है. बस्ती के लोगों को कई बार सुरक्षित स्थान पर जाने के लिए अन्य माध्यमों से सूचना दी गयी. फिलहाल, आशा देवी, सागर सिंह, मक्कू सिंह, चरकू सिंह व भोला वर्मा को अस्थायी तौर पर आवास मुहैया कराया जा रहा है. साथ ही कहा कि भू-धंसान स्थल की भराई की जायेगी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें