1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. admission alert jamshedpur womens college will have four year integrated bed course rgj

Admission Alert : जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में होगी चार वर्षीय इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स की पढ़ाई

जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में चार साल के इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स की पढ़ाई शुरू हो सकेगी. इसके लिए कागजी प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. यूजीसी ने इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स शुरू करने के लिए कॉलेज प्रबंधन से आवेदन करने को कहा है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
वीमेंस कॉलेज की छात्राएं स्लम के बच्चों को दे रही कंप्यूटर की शिक्षा
वीमेंस कॉलेज की छात्राएं स्लम के बच्चों को दे रही कंप्यूटर की शिक्षा
प्रभात खबर

Jamshedpur : जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में चार साल के इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स की पढ़ाई शुरू हो सकेगी. इसके लिए कागजी प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. यूजीसी ने इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स शुरू करने के लिए कॉलेज प्रबंधन से आवेदन करने को कहा है. यही कारण है कि प्रिंसिपल सुधीर कुमार साहू के नेतृत्व में सभी दस्तावेजों को दुरुस्त कर यूजीसी में आवेदन किया जा रहा है, ताकि इसी सत्र से जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स की शुरुआत हो सके. यूजीसी ने फिलहाल सिर्फ उन्हीं कॉलेजों को आवेदन करने को कहा है जिनके पास ए नैक से ग्रेड प्राप्त हो, साथ ही आधारभूत संरचना बेहतर हो. दोनों ही मामले में जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज अर्हता को पूरा करता है. 31 मई तक इसके लिए आवेदन किया जा सकता है.

क्या है इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स

उच्च शिक्षा मंत्रालय ने चार साल के इंटीग्रेटेड टीचर्स एजुकेशन प्रोग्राम (आइटीइपी ) को नोटिफाई किया है. राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद (एनसीटीइ) ने केंद्र और राज्य सरकारों के बहु-विषयक विश्वविद्यालयों और संस्थानों में बीए-बीएड, बीएससी-बीएड और बीकॉम-बीएड कोर्स पायलट मोड पर चलाने को लेकर अधिसूचना जारी कर दी है. अभी बीएड के लिए जरूरी पांच साल के बजाय अब स्टूडेंट्स चार साल में ही इसे पूरा कर लेंगे, जिससे उनके एक साल की बचत होगी. चार साल के आईटीईपी की शुरुआत एकेडमिक सेशन 2022-23 से होगी. यह नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अंतर्गत टीचर एजुकेशन से संबंधित किये गये प्रमुख प्रावधानों में से एक है. इन कोर्स में दाखिले के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) नेशनल कॉमन इंट्रेस टेस्ट (एनसीइटी) आयोजित करेगा. इसके मेरिट स्कोर के आधार पर सीट मिलेगी.

वर्ष 2030 से होगा शिक्षकों का चयन

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रावधान के अनुसार वर्ष 2030 से स्कूल में शिक्षकों का चयन चार वर्षीय इंटीग्रेटेड बीएड प्रोग्राम के आधार पर ही होगा. इस नये कोर्स से छात्रों के एक साल की बचत भी होगी. अभी तक साल स्नातक डिग्री प्रोग्राम की पढ़ाई में निकल जाते हैं. उसके बाद दो वर्षीय बीएड प्रोग्राम की पढ़ाई. यदि कोई छात्र 12वीं क्लास के बाद शिक्षक बन कर अपना भविष्य बनाना चाहते हैं, तो वे सीधे बीए-बीएड, बीएससी-बीएड और बीकॉम-बीएड में एडमिशन ले सकेंगे.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें