1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. rohatas
  5. illegal sand mining update news mafia sold sand worth rs 179 crore rjs

माफियाओं ने बेच दी 179 करोड़ रुपए की बालू, FIR दर्ज करवाने के एक माह बाद भी पुलिस के हाथ खाली

बिहार के रोहतास जिले में बालू खनन मामले में आदित्य मल्टीकाम समेत सात अनुज्ञप्तिधारकों पर 28 दिन पूर्व 62 करोड़ 49 लाख 75 हजार 250 रुपये राजस्व चोरी के मामले में इंद्रपुरी, डालमियानगर एवं तिलौथू थाने में खान निरीक्षक अजय कुमार ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
माफियाओं ने बेच दी 179 करोड़ रुपए की बालू
माफियाओं ने बेच दी 179 करोड़ रुपए की बालू
Twitter

बिहार के रोहतास जिले में बालू खनन मामले में आदित्य मल्टीकाम समेत सात अनुज्ञप्तिधारकों पर 28 दिन पूर्व 62 करोड़ 49 लाख 75 हजार 250 रुपये राजस्व चोरी के मामले में इंद्रपुरी, डालमियानगर एवं तिलौथू थाने में खान निरीक्षक अजय कुमार ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी. प्राथमिकी दर्ज हुए एक माह होने को है लेकिन अभी तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है, जबकि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए एसपी ने तत्काल एसआइटी का गठन भी कर दिया था.

पुलिस के अनुसार इंद्रपुरी थाना क्षेत्र के सिकारिया, डालमियानगर के मकराईन, तिलौथू थाना क्षेत्र समेत तीनों घाटों पर दो करोड़ 23 लाख 99 हजार 625 घनफीट बालू की चोरी का मामला आदित्य मल्टीकाम समेत इनके सात सहयोगी अनुज्ञप्तिधारकों पर दर्ज की गई है. बालू निकासी और भंडारण की जवाबदेही आदित्य मल्टीकाम द्वारा सात अनुज्ञप्तिधारकों को सौंपी गई थी.

नियमानुकूल निर्धारित भंडारण नहीं पाए जाने पर इंद्रपुरी थाना में 36 करोड़ 55 लाख 29 हजार 750 रुपये राजस्व चोरी एवं तिलौथू थाने में एक अनुज्ञप्तिधारक और आदित्य मल्टीकाम पर एक करोड़ 51लाख 77 हजार 600 रुपये तथा डालमियानगर थाने में आदित्य मल्टीकाम और दो अन्य अनुज्ञप्तिधारकों पर 24 करोड़ 42 लाख 67 हजार 900 रुपये राजस्व चोरी की प्राथमिकी दर्ज की गई है.

खान निरीक्षक ने प्रतिवेदन में प्रथम दृष्टया बालू का भंडारण न कर उसे अवैध तरीके से बिक्री करने की बात कही गई थी. इस संबंध में खान निरीक्षक अजय कुमार ने बताया कि दोषियों से हर हाल में निर्धारित राजस्व की वसूली की जाएगी. आगे की कार्रवाई करते हुए सर्टिफिकेट केस भी किया गया है, ताकि तत्काल चोरी किए गए राजस्व की उगाही की जा सके.

आदित्य मल्टीकम प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंधक का पक्ष

आदित्य मल्टीकम प्राइवेट लिमिटेड का कहना है कि उन लोगों ने अप्रैल में ही लाइसेंस को सरेंडर कर दिया था. इसके बाद उस बालू की जवाबदेही उनकी नहीं है. कंपनी के प्रबंधक पंकज सिंह कहते हैं कि पहले ही जहां डेहरी के अनुमंडल प्रशासन द्वारा डंप किए गए बालू का आंकड़ा तथा खनन विभाग के प्रोजेक्ट मैनेजमेंट यूनिट के आंकड़े में आकाश जमीन का अंतर है. यह बताता है कि प्रशासनिक स्तर पर कितनी गड़बड़ी है. जब उनका लाइसेंस पहले से ही सरेंडर किया हुआ है तो ऐसे में उन बालू की जिम्मेदारी उनकी नहीं है. इसके लिए उन्होंने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

क्या कहते है एसपी आशीष भारती

एसपी आशीष भारती ने इस बाबत प्रभात खबर से बातचीत में बताया कि मेसर्स आदित्य मल्टीकाम के कर्मी कार्यालय बंद कर फरार हैं. उनकी गिरफ्तारी के लिए एसआइटी की टीम गठित की गई है। टीम द्वारा छापेमारी जारी है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें