1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. rohatas
  5. bihar election 2020 691 teachers to be appointed in nokha assembly elections asj

Bihar Election 2020 : नोखा विधानसभा चुनाव में लगाये जायेंगे 691 शिक्षक, 217 बनेंगे पीठासीन

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date

नोखा (रोहतास) : नोखा विधानसभा क्षेत्र में चुनाव सरगर्मी तेज हो गयी है. चाहे राजनीतिक पाटियां हो या प्रशासनिक अधिकारी हर कोई चुनाव आयोग के निर्देशानुसार तैयारियों में जुट गया है. इसी कड़ी में विधानसभा चुनाव में शिक्षकों की जिम्मेवारी अहम हो गयी है. शिक्षकों को सेक्टर मजिस्ट्रेट से लेकर पोलिंग थ्री तक की जिम्मेवारी दी गयी है. उनके कार्यों को लेकर उन्हें प्रशिक्षित भी किया जा रहा है. इस संदर्भ में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी सच्चिदानंद साह ने बताया कि नोखा विधानसभा चुनाव में प्रखंड के छह सौ 91 शिक्षकों प्रतिनियुक्त किये गये हैं. इसमें पीठासीन 217, पी-वन 233, पी-टू 195 व पी-थ्री 46 का दायित्व दिया गया है. चुनाव को लेकर शिक्षकों प्रशिक्षित किया जा रहा है.

सुरक्षित रहने की जिम्मेवारी

डीएओ ने बताया कि इस समय कोरोना का दौर चल रहा है. इस देखते हुए विधानसभा चुनाव में मतदाता व मतदान कर्मियों को जिला प्रशासन की ओर से विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है. अपने सुरक्षित रहने के साथ-साथ मतदाताओं को भी सुरक्षित रखने की जिम्मेवारी मतदान केंद्र पर कार्यरत अधिकारियों व कर्मियों की है. हालांकि, जिला प्रशासन द्वारा शिक्षकों को मास्क, सैनिटाइजर, ग्लब्स आदि का उपयोग करने की बात प्रशिक्षण के दौरान बतायी गयी है.

वोटरों पर रहेगी विशेष नजर

उन्होंने कहा कि इस बार कोरोना संक्रमण को लेकर कुछ बदलाव किये गये हैं. इस कारण इस बार विधानसभा चुनाव में थोड़ी सावधानी बरतने की जरूरत है. चुनाव में मतदान के लिए आने मतदाताओं पर भी विशेष नजर रखेगी. इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से लगातार नियम व एहतियात बरते जाने की जानकारी दी जारी रही है. चुनाव में लगाये गये शिक्षकों को व मतदाताओं को सोशल डिस्टैंसिंग को लेकर विशेष चौकस रहना होगा, ताकि कोरोना संक्रमण से बचा जा सके.

असामाजिक गतिविधियों पर रहेगी पैनी नजर

नोखा विधानसभा चुनाव में शिक्षकों को सेक्टर मजिस्ट्रेट, पेट्रोलिंग मजिस्ट्रेट, पोलिंग वन, पोलिंग टू व पोलिंग थ्री बनाये गये हैं. सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने क्षेत्र में पड़ने वाले बूथों की होने वाली गतिविधि की जानकारी प्रशासन को देंगे. वहीं पेट्रोलिंग मजिस्ट्रेट अपने इलाके के बूथों पर भ्रमणशील रहेंगे, ताकि चुनाव के दौरान होने वाली असामाजिक गतिविधियों की जानकारी प्रशासन तक पहुंचाई जा सके. पोलिंग वन पदाधिकारी मतदाता के प्रवेश करने के बाद उनके नाम का सत्यापन करेंगे. वहीं पोलिंग टू के शिक्षक मतदाता सूची का मिलान करेंगे. वहीं पोलिंग थ्री के लिए प्रतिनियुक्त शिक्षक इसका ध्यान रखेंगे कि कोई मतदाता दुबारा वोट नहीं करें.

posted by ashish jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें