1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. signal free traffic restored on bailey road cm nitish kumar promise vehicles run on lohiya path chakr from june in patna bihar asj

बेली रोड पर होगी सिगनल फ्री ट्रैफिक, सीएम नीतीश कुमार का वादा- जून से लोहिया पथचक्र पर दौड़ेंगे वाहन

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
नीतीश कुमार
नीतीश कुमार
प्रभात खबर

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार की दोपहर शहर की लोहिया पथचक्र परियोजना का मुआयना किया. उन्होंने इसके सभी सिरे और इससे जुड़ने वाली तमाम प्रमुख सड़कों को देखा और अधिकारियों को निर्माण कार्य जल्द पूरा करने का निर्देश दिया.

इस दौरान अधिकारियों ने आश्वस्त किया कि बेली रोड पर मौजूद इसके एक हिस्से को जून, 2021 तक पूरा कर लिया जायेगा और दिसंबर, 2021 तक पूरा लोहिया पथचक्र बनकर तैयार हो जायेगा. सीएम ने इस समयसीमा तक हर हाल में इसे पूरा करने को कहा है.

सीएम ने जून के अंत तक सर्कुलर रोड जंक्शन की संरचना को पूरी कर आवागमन के लिए खोलने को कहा. उन्होंने कहा कि इस पथचक्र से शहर के करीब 49 अलग-अलग रास्ते जुड़ जायेंगे, जिनकी मदद से लोग शहर में कहीं भी आसानी से आ-जा सकेंगे.

जाम की समस्या से निजात मिलेगी. शहर के लिए यह बेहतरीन और सुगम यातायात वाला रूट साबित होगा. उन्होंने कहा कि इस पूरे पथचक्र में सुरक्षा के भी खासतौर से इंतजाम किये जाएं. बीच में कहीं से इसमें प्रवेश करने का कोई प्रावधान नहीं हो, ताकि दुर्घटना की आशंका नहीं रहे.

पूरे रूट में निर्धारित रास्ते से ही आने और जाने का प्रबंध किया जाये. उन्होंने बिहार राज्य पुल निर्माण निगम को निर्माण कार्य में तेजी लाने का निर्देश दिया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर में सुगम तरीके से आने-जाने के लिए यह नया कंसेप्ट है. 2005 से इसका निर्माण शुरू हुआ था, लेकिन कई स्थानों पर नीचे से पानी निकल जाने के कारण इसके निर्माण में थोड़ी देरी हो गयी. लेकिन, अब इसमें जमा होने वाले पानी को बाहर निकालने के लिए इसे ड्रेनेज से जोड़ने की व्यवस्था कर दी गयी है.

अब इसका निर्माण तेजी से हो सकेगा. कई स्थानों पर बनने वाले अंडरपास को ज्यादा गहरा नहीं किया जायेगा, ताकि इसमें पानी नहीं निकल सके. भू-गर्भ जल व्यवस्था की भी जानकारी ली.

सिगनल फ्री ट्रैफिक बहाल करने को कहा

मुख्यमंत्री ने हड़ताली मोड़ जंक्शन के पास मल्टी जंक्शनल ट्रैफिक व्यवस्था के निर्माण कार्य का जायजा लिया. इसके तहत सिगनल फ्री ट्रैफिक की व्यवस्था की जायेगी, जिसमें सगुना मोड़ से होते हुए डाकबंगला चौराहे तक रोड पर कहीं भी रेड लाइट प्वाइंट पर रुकने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

उन्होंने कहा कि कोतवाली थाना चौक समेत अन्य सभी महत्वपूर्ण स्थानों पर एलिवेटेड यूटर्न बनाएं, ताकि वहां जाम की समस्या से निजात मिल सके.

पुनाईचक से इको पार्क की तरफ नीचे से आने-जाने की व्यवस्था रहेगी. इसी तरह हड़ताली चौक, बोरिंग कैनाल रोड से दारोगा प्रसाद राय पथ तक आने-जाने की व्यवस्था सड़क के नीचे से रहेगी और मुख्य पथ का आवागमन ऊपर से रहेगा.

विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा ने बताया कि करबिगहिया चौक से चिरैयाटांड फ्लाइओवर के ऊपर से कंकड़बाग फ्लाइओवर में जाकर मिलेगी.

इसका निर्माण शुरू हो गया है. इसे जून, 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य है. रेलवे से जमीन उपलब्ध होने के बाद नेहरू पथ (बेली रोड) के लिए नीचे से रास्ता रहेगा.

दूसरे शहरों में भी बनेगा ऐसा पथचक्र

सीएम ने कहा कि लोहिया पथचक्र के पूरी तरह से तैयार होने के बाद इसे हर तरह से देखा जायेगा. इसके बाद इसकी जैसी संरचना का निर्माण दूसरे शहरों में भी कराने पर विचार किया जायेगा.

दूसरे स्थान पर इसका अनुकरण करने के साथ ही इसे देखकर इसके जैसा निर्माण दूसरे राज्य भी करवा सकते हैं.

इस दौरान पूर्व मंत्री शैलेश कुमार, मुख्य सचिव दीपक कुमार, सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार व सचिव अनुपम कुमार व मनीष कुमार वर्मा, परिवहन विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार अग्रवाल, डीएम कुमार रवि, एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे.

इस कंसेप्ट को लागू करने वाला बिहार पहला राज्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि करीब 10 साल पहले आइआइटी, दिल्ली की एक टीम ने इससे संबंधित प्रेजेंटेशन दिया था. वहां की टीम ने यहां का दौरा करने के बाद ट्रैफिक की समस्या का हाल निकालते हुए इसे पेश किया था.

लोहिया पथचक्र के निर्माण से ट्रैफिक की समस्या को हल करने का बेहतरीन कंसेप्ट प्रस्तुत किया था, जिसेलागू करने वाला बिहार देश का पहला राज्य है. लेकिन, इसका निर्माण शुरू होने के बाद कई स्थानों पर अलग-अलग समस्याएं आ गयीं, जिनकी वजह से निर्माण की गति धीमी हो गयी.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें