1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. cbi raids lalu prasad yadav bihar politics heats up after raids on lalu and rabri devi hideouts rdy

लालू और राबड़ी के ठिकानों पर छापेमारी के बाद बिहार की सियासत गरमायी, CBI रेड पर पढ़े इनकी प्रतिक्रिया

लालू और राबड़ी के ठिकानों पर छापेमारी के बाद बिहार की सियासत गरमा गयी है. लालू प्रसाद के ठिकानों पर सीबीआइ रेड के बारे में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह काफी पुराना मामला है, जिसमें सीबीआइ कार्रवाई कर रही है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
भाजपा राज्य सभा सांसद सुशील मोदी और लालू यादव
भाजपा राज्य सभा सांसद सुशील मोदी और लालू यादव
FILE PIC

पटना . भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने शुक्रवार को लालू प्रसाद के ठिकानों पर सीबीआइ रेड पर अपनी प्रतिक्रिया दी. पत्रकारों के सवालों पर उन्होंने कहा कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की मुलाकात को निशाना बनाते हुए इस सीबीआइ रेड से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने यह बातें जदयू प्रदेश मुख्यालय में आयोजित जन सुनवाई के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहीं.

इस दौरान विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के मंत्री सुमित कुमार सिंह भी मौजूद थे. उन्होंने कहा कि सीबीआइ के बेजा इस्तेमाल का राजद के द्वारा आरोप लगाया जा रहा है. दोनों मंत्रियों ने जन सुनवाई में पहुंचे फरियादियों की समस्याओं का समाधान किया. जातीय जनगणना को लेकर एक बार फिर पार्टी के स्टैंड स्पष्ट करते हुए भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में जातीय जनगणना कराने के शुरू से ही पक्षधर रहे हैं. वहीं, राष्ट्रीय जनता दल के द्वारा इस मसले को अपना मुद्दा बनाने की कोशिश की जा रही है.

काफी पुराने मामले में हो रही कार्रवाई : सुमित सिंह

लालू प्रसाद के ठिकानों पर सीबीआइ रेड के बारे में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह काफी पुराना मामला है, जिसमें सीबीआइ कार्रवाई कर रही है. उन्होंने कहा कि जब सीबीआइ काम कर रही है, तो राजद के द्वारा सीबीआइ का बेजा इस्तेमाल करने का आरोप लगाया जा रहा है. दूसरी तरफ, सीबीआइ पर काम नहीं करने का भी आरोप लगाया जाता रहा है. इसलिए राजद को अपना स्टैंड क्लियर करना चाहिए. वही बताएं कि क्या होना चाहिए. लालू प्रसाद के रेल मंत्री रहते रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड द्वारा जो नियुक्तियां हुई थीं, उसी मामले को लेकर सीबीआइ के द्वारा छापेमारी की गयी है.

घर का भेदी लंका ढाये : जीतन राम

पटना. लालू प्रसाद के ठिकानों पर सीबीआइ की छापेमारी को लेकर हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के संरक्षक जीतन राम मांझी ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के ब्रिटेन दौरे और सीबीआइ के छापे की टाइमिंग को लेकर सवाल खड़ा कर दिया है. मांझी ने ट्वीट में कहा है कि ‘ घर का भेदी लंका ढाए, मौका देख बाहर उड़ जाये ’. लालू के विरोधी इस ट्वीट को अपने- अपने शब्दों में परिभाषित कर रहे हैं.

लालू पर नौकरी देकर जमीन लिखवाने के कई प्रमाण : सुशील मोदी

पटना. पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के ठिकानों पर सीबीआइ छापेमारी को लेकर पूछे सवाल पर कहा कि यह कोई नया मामला नहीं है. जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने 2008 में ही तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिल कर इसको लेकर ज्ञापन दिया था. उन्होंने कुछ नाम भी बताये थे, जिनको लालू प्रसाद ने रेलमंत्री के नाते नौकरी दी और उसके बदले जमीन लिखवा ली. 2017 में मैंने जब लालू लीला पुस्तक प्रकाशित की और प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से मामला उजागर किया. उस वक्ता दस्तावेज के साथ बताया था कि किस तरह विधान परिषद में काम करने वाले ललन चौधरी और रेलवे में खलासी ह्रदयानंद चौधरी ने अपना जमीन-मकान राबड़ी देवी और हेमा यादव को गिफ्ट कर दिया. राजद के नेता बताएं कि खटाल में गायों को चारा खिलाने का काम करने वाले इन लोगों के पास लाखों की संपत्ति कहां से आयी.

छापेमारी पर कांग्रेस ने साधी चुप्पी

पटना. पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर हुई केंद्रीय एजेंसी की छापेमारी को लेकर कांग्रेस ने चुप्पी साध ली है. छापेमारी के बाद कांग्रेस के किसी भी नेता ने जुबान नहीं खोली है. कांग्रेस नेता पहले लालू प्रसाद परिवार पर हुई किसी भी एजेंसी की कार्रवाई को लेकर बयान दिया करते थे. पहली बार जब राबड़ी देवी आवास पर छापेमारी की गयी थी, तो कांग्रेस पार्टी जदयू व राजद के साथ सत्ता में थी. उस दौरान कांग्रेस के कई नेताओं ने राजद के समर्थन में बयान दिया था.

लालू प्रसाद के ठिकानों पर रेड नीतीश को चेतावनी : शिवानंद तिवारी

पटना. राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा है कि राबड़ी देवी के आवास सहित लालू प्रसाद से जुड़े अन्य स्थानों पर सीबीआइ की छापेमारी कहीं नीतीश कुमार को चेतावनी तो नहीं है? जातीय जनगणना के मुद्दे पर नीतीश और तेजस्वी के बीच बढ़ती हुई नजदीकियां भाजपा को असहज कर रही हैं. छापेमारी के समय का चयन, तो इसी ओर इशारा कर रहा है. उन्होंने कहा कि आरएसएस जातीय जनगणना के विरुद्ध है.

पूर्व मुख्यमंत्री के साथ सीबीआइ ने की बदसलूकी : चितरंजन

राजद के प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन ने आरोप लगाया है कि पूछताछ के दौरान सीबीआइ द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के साथ बदसलूकी की गयी है. गगन ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री ने शालीनतापूर्वक सीबीआइ के हर सवाल का जवाब दिया. सीबीआइ टीम के साथ सहयोगात्मक रवैया अपनाया. तलाशी के दौरान जब सीबीआइ के हाथ कुछ नहीं लगा.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें