26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बाढ़ को लेकर अधिकारियों को किया गया अलर्ट

बाढ़ को लेकर अधिकारी अलर्ट हो गये हैं

बाढ़ को लेकर अधिकारियों को किया गया अलर्ट, तैयारी करने का दिया आदेश डीएम ने ऊंचे स्थल का चयन व नाव की व्यवस्था करने का दिया निर्देश तटबंधों की जांच सहित कमजोर जगहों को दुरुस्त करायेंगे बाढ़ नियंत्रण विभाग के अभियंता प्रतिनिधि, खगड़िया बाढ़ पूर्व तैयारी को लेकर डीएम अमित कुमार पाडेय ने पदाधिकारियों को निर्देश दिये. डीएम ने वर्षामापी यंत्रों को क्रियाशील रखने व ससमय वर्षा के आंकड़ों को उपलब्ध कराने के लिए कर्मियों को प्रतिनियुक्त करने के निर्देश जिला सांख्यिकी पदाधिकारी को दिया. डीएम ने संकटग्रस्त समूहों यानि गर्भवती महिलाओं, धात्री महिलाओं व वृद्धों, बच्चों की सूची बनाने के निर्देश दिये. बाढ़ के समय उपयोग आने उपर्युक्त शरण स्थलों की पहचान करने व इनमें उपलब्ध सुविधाओं की सूची के संबंध में प्रतिवेदन मांगा गया है. अंचलों में उपलब्ध पॉलीथिन शीट, महाजाल, टेंट-शमियाना, पेट्रोमैक्स, सैटेलाइट फोन की संख्या के संबंध में जानकारी मांगी है. सरकारी व निजी नावों की स्थिति, उनकी संख्या और मरम्मति, उनके रजिस्ट्रेशन सहित पिछले वर्ष के भुगतान को लेकर सभी सीओ को निर्देश दिये गए हैं. जिलाधिकारी ने जिला आपातकालीन संचालन केंद्र को 24 X 7 सक्रिय रखने, एसडीआरएफ टीम के उपकरणों को चालू हालत में रखने, उनके मोटर वोट की मरम्मत करने, प्रखंड व पंचायत स्तरीय संचार योजना बनाने, होमगार्डों के बांधों पर प्रतिनियुक्ति करने, राज्य खाद्य निगम के गोदामों में अनाज स्टाक बनाये रखने, वैकल्पिक फसलों के स्थानीय मांग के अनुरूप सूत्रण करने व कृषि विभाग से बीज मंगाने, ग्रामीण सड़कों की मरम्मत करने व इनकी सूची उपलब्ध कराने, विद्युत आपूर्ति को सुनिश्चित करने इत्यादि का निर्देश भी संबंधित पदाधिकारियों को दिया . बैठक में जिलाधिकारी ने सभी अंचलाधिकारियों को संसाधन मानचित्रण, ऊंचे शरण स्थली को चिन्हित करने के साथ-साथ वहां मुलभूत सुविधा यानि पेयजल, शौचालय, बिजली आदि की व्यवस्था करने के निर्देश दिया.. उन्होंने सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा कोषांग, बाल विकास परियोजना पदाधिकारियों को संकटग्रस्त समूहों यानि दिव्यांग, वृद्ध, बीमार, धातृ व गर्भवती महिलाओं की पहचान करने व उनकी सूची अंचलाधिकारियों व जिला आपदा प्रबंधन केंद्र को उपलब्ध कराने का निर्देश दिये. डीएम ने सिविल सर्जन को आवश्यक दवाओं की व्यवस्था के साथ बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में मेडिकल कैंप लगाने व मेडिकल टीम के गठन के संबंध में भी तैयारी रखने का निर्देश दिया. विशेष रूप से हैलोजन टेबलेट, ब्लीचिंग पाउडर, सर्पदंश की दवा, क्लोरीन टेबलेट, ओआरएस घोल के पैकेट, एंटी रेबीज सुईयां, एंटीबायोटिक दवाएं, एंटीफंगल दवाएं इत्यादि पर्याप्त मात्रा में रखने के निर्देश दिये. वहीं पशु चारा की उपलब्धता को लेकर जिला पशुपालन पदाधिकारी को निर्देश दिये गए. तटबंध दुरुस्त करने के निर्देश. डीएम ने बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल एक तथा दो के कार्यपालक अभियंता को अपने अधीनस्थ पड़ने वाले सभी तटबंधों की मरम्मत ससमय पूर्ण करने के निर्देश दिया. संवेदनशील स्थानों पर निरोधात्मक सामग्री का भंडारण पूर्व में ही करने के निर्देश दिये गए गए हैं. कार्यपालक अभियंता, ग्रामीण कार्य विभाग तथा पथ निर्माण विभाग को पिछले साल बाढ़ में क्षतिग्रस्त सड़कों का निरीक्षण कर उनकी मरम्मति का कार्य कराने को कहा है. वहीं कार्यपालक अभियंता, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण संगठन को बाढ़ से प्रभावित होने वाले संभावित क्षेत्रों में चापाकल व शौचालय की व्यवस्था को लेकर आवश्यक तैयारी करने को कहा गया.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें